X

Fact Check: ऑस्‍ट्रेलिया के उच्‍चायुक्‍त के साथ वायरल तस्वीर में RSS सुप्रीमो मोहन भागवत नहीं हैं, वायरल तस्वीर भ्रामक है

  • By Vishvas News
  • Updated: November 25, 2020

नई दिल्ली (विश्वास टीम): हाल ही में, भारत में ऑस्ट्रेलिया के उच्चायुक्त बैरी ओ’फैरेल ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के प्रमुख मोहन भागवत से नागपुर में मुलाकात की। इन रिपोर्टों के बीच, ऑस्ट्रेलियाई उच्चायुक्त की एक तस्वीर वायरल हो रही है, जहां एक व्यक्ति को नमस्ते करते हुए देखा जा सकता है। इस फोटो को वायरल करते हुए लोग ये दावा कर रहे हैं कि ऑस्ट्रेलिया के उच्चायुक्त बैरी ओ’फैरेल के साथ तस्वीर में आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत हैं। हालांकि, भारत दौरे के दौरान ऑस्ट्रेलियाई उच्चायुक्त ने आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत से मुलाकात ज़रूर की थी, मगर विश्वास न्यूज़ ने अपनी जांच में पाया कि वायरल तस्वीर में ऑस्ट्रेलियाई उच्चायुक्त के साथ दिख रहे व्यक्ति मोहन भागवत नहीं, बल्कि विकास तैलंग है।

क्या है वायरल पोस्ट में?

इस पोस्ट को मेघ अपडेट्स @MeghUpdates नाम के ट्विटर हैंडल द्वारा साझा किया गया था। उपयोगकर्ता ने दावा किया, “In a Burnol Movement Australian High Commissioner meets @RSSorg Chief Dr Mohan Bhagwat and acknowledges the Organisation’s work in #Covid relief“

इस पोस्ट के आर्काइव लिंक को यहां देखा जा सकता है।

पड़ताल

Vishvas News ने एक सरल कीवर्ड खोज के साथ अपनी जांच शुरू की। हमने पाया कि भारत में ऑस्ट्रेलियाई उच्चायुक्त, बैरी ओ’फैरेल से राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत की नागपुर में मुलाकात हुई थी। इस मुलाकात पर द इकोनॉमिक टाइम्स की एक रिपोर्ट भी मिली, जिसकी हेडलाइन थी “ऑस्ट्रेलियाई उच्चायुक्त नागपुर में आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत से मिले।”

पूरी रिपोर्ट यहां पढ़ें।

रिपोर्ट में ऑस्ट्रेलियाई उच्चायुक्त द्वारा किए गए ट्वीट्स का इस्तेमाल किया गया था। इसी ट्वीट में वायरल तस्वीर भी देखी जा सकती है। यह तस्वीर बैरी ओ’फैरेल के आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर साझा की गई चार तस्वीरों में से एक थी।

https://twitter.com/AusHCIndia/status/1327927722002194432?ref_src=twsrc%5Etfw%7Ctwcamp%5Etweetembed%7Ctwterm%5E1327927722002194432%7Ctwgr%5E%7Ctwcon%5Es1_&ref_url=https%3A%2F%2Fwww.vishvasnews.com%2Fenglish%2Fviral%2Ffact-check-aus-high-commissoer-did-meet-rss-chief-mohan-bhagwat-but-one-picture-is-misleading%2F

तस्वीरों को करीब से देखने पर हमने पाया कि बैरी ओ’फैरेल द्वारा साझा की गई तीन तस्वीरों में वास्तव में आरएसएस प्रमुख डॉ मोहन भागवत हैं। हालांकि, चौथी (वायरल) तस्वीर में व्यक्ति डॉ मोहन भागवत नहीं है।

हमने फिर से इस तस्वीर को ढूंढा। हमने पाया कि नागपुर में RSS की दो इमारतें हैं। एक महल, जो नागपुर में मुख्यालय है और दूसरा रेशमबाग में है, जो हेडगेवार स्मृति मंदिर है।

रिपोर्ट के अनुसार, ऑस्ट्रेलियाई उच्चायुक्त डॉ मोहन भागवत से मिलने के लिए महल कार्यालय गए थे। हमने स्मृति मंदिर कार्यालय में कॉल किया, जहां Vishvas News को पता चला कि तस्वीर में भारत के ऑस्ट्रेलियाई उच्चायुक्त के साथ मौजूद व्यक्ति व्यवस्था प्रमुख, हेडगेवार स्मारक समिति, विकास तेलंग हैं। विश्वास न्यूज से बात करते हुए, विकास तैलंग ने कहा, “वायरल तस्वीर में बैरी ओ’फैरेल के साथ वाला व्यक्ति डॉ. मोहन भागवत नहीं हैं, बल्कि मैं हूँ। हालांकि, डॉ मोहन भागवत के साथ बैरी ओ’फैरेल की मुलाक़ात की तस्वीरें कई जगह देखी जा सकती हैं।

हमने उस प्रोफ़ाइल की सोशल स्कैनिंग की थी, जिसने वायरल तस्वीर को साझा किया था, खाता मेघ अपडेट्स नाम के ट्विटर हैंडल को 2019 में बनाया गया था। इसके 48.83K फ़ॉलोअर हैं।

निष्कर्ष: भारत दौरे के दौरान ऑस्ट्रेलियाई उच्चायुक्त ने आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत से मुलाकात ज़रूर की थी, मगर विश्वास न्यूज़ ने अपनी जांच में पाया कि वायरल तस्वीर में ऑस्ट्रेलियाई उच्चायुक्त के साथ दिख रहे व्यक्ति मोहन भागवत नहीं, बल्कि विकास तैलंग है।

  • Claim Review : Australian High Commissioner meets RSSorg Chief Dr Mohan Bhagwat and acknowledges the Organisation's work in #relief
  • Claimed By : Megh Updates Police cars revolving light @MeghUpdates
  • Fact Check : भ्रामक
भ्रामक
    फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later