X

Fact Check: जैसलमेर के रेवतसिंह हत्याकांड के नाम पर वायरल किया जा रहा वीडियो पाकिस्तान का है

  • By Vishvas News
  • Updated: April 12, 2020

नई दिल्ली (विश्वास टीम)। कोरोना वायरस से जारी संघर्ष के बीच सोशल मीडिया पर एक खौफनाक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसे लेकर दावा किया जा रहा है कि राजस्थान के जैसलमेर जिले में एक हिंदू युवक की हत्या कर दी गई, क्योंकि उसने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अपील पर कोरोना वायरस के सम्मान में थाली बजाई थी।

विश्वास न्यूज की पड़ताल में यह दावा भ्रामक निकला। राजस्थान के जैसलमेर में हुए हत्याकांड के दावे के साथ जो वीडियो वायरल हो रहा है, वह भारत का नहीं, बल्कि पाकिस्तान में हुई घटना का है।

क्या है वायरल पोस्ट में?

फेसबुक यूजर ‘महन्त शुक्राई नाथ योगी’ ने वायरल वीडियो (आर्काइव लिंक) को शेयर करते हुए लिखा है, ”#राजस्थान के #जैसलमेर ज़िले के “#माडवा “गाँव में जाखिलों ने एक #हिंदू युवक #रेवतसिहं तँवर को #रास्ता रोककर #कुल्हाड़ी से #बोटी-बोटी काट डाला … मुल्लों के ख़िलाफ़ वहां की कॉंग्रेस सरकार कारवाई भी नहीं कर रही हैं….. ( #दया नहीं है इस #जाहिल #कॉम को ) चार दिन कटा हुआ शरीर #तड़फ-तड़फ कर #मरा है बंधुओं… ( मरने वाले का क़सूर केवल इतना था कि उसने भारत के #प्रधानमंत्री जी के #आह्वान पर #थाली बजाई….. ।। मारने वाले-#आरोपी #दिलदार खान , दूसरा बहसी #फ़िरोज़ खान तीसरा भेड़िया #इक़बाल ख़ान …( हिंदुओं की #चुप्पी #ख़तरनाक #भविष्य का #डरावना संदेश )।

सोशल मीडिया पर गलत दावे के साथ वायरल हो रहा वीडियो

पड़ताल किए जाने तक इस वीडियो को 200 से अधिक लोग शेयर कर चुके हैं और करीब नौ हजार बार इसे देखा जा चुका है। सोशल मीडिया पर इस वीडियो को कई अन्य यूजर्स ने समान और मिलते-जुलते दावे के साथ शेयर किया है।

पड़ताल

वायरल पोस्ट में किए गए दावे के आधार पर न्यूज सर्च करने पर हमें दैनिक जागरण में 10 अप्रैल 2020 को छपी खबर मिली, जिसमें इस घटना का जिक्र है। जैसलमेर पुलिस के अनुसार, ‘जिले के भणियाणा थाने के तहत मांडवा निवासी रेवतसिंह (38) पुत्र गजे सिंह राजपूत ने गत माह 22 मार्च को प्रधानमंत्री के अपील पर सायं पांच बजे के बाद गांव में थाली और ताली बजाकर कोराना वारियर्स का सम्मान किया था। इस घटना के बाद समुदाय विशेष के कुछ लोगों ने उससे रंजिश रखनी शुरू कर दी थी। इसके बाद चार अप्रैल को मौका पाकर युवकों ने अकेला देख उस पर हमला कर दिया, जिससे युवक बुरी तरह घायल हो गया। जैसलमेर अस्पताल से रेफर करने पर युवक को जोधपुर के एमडीएम अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां युवक ने दम तोड़ दिया।’

खबर के मुताबिक, ‘घटना को लेकर रेवत सिंह के भतीजे ने दिलदार खां पुत्र शाहिद खां, फिरोज पुत्र सदीक खां और इकबाल पुत्र हमतुल्ला के खिलाफ जानलेवा हमले का मुकदमा दर्ज करवाया था, जिसमें अब हत्या की धाराएं जोड़ अनुसंधान किया जा रहा है।’

इसके बाद हमने वायरल पोस्ट में लगे वीडियो की सत्यता जांच की। इनविड से मिली की-फ्रेम्स को रिवर्स इमेज करने पर हमें यू-ट्यूब पर 24 मार्च को अपलोड किया गया वीडियो मिला, जिसके साथ दी गई जानकारी में इसे ‘चक 179’ का बताया गया है।

गूगल मैप में इस की-वर्ड से सर्च करने पर हमें पता चला कि यह जगह पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के फैसलाबाद में है।

इन की-वर्ड के साथ सर्च करने पर पाकिस्तानी न्यूज वेबसाइट ‘द एक्सप्रेस ट्रिब्यून’ पर 31 मार्च 2020 को प्रकाशित खबर का लिंक मिला, जिसमें इस घटना का जिक्र है।

पाकिस्तानी अखबार एक्सप्रेस ट्रि्ब्यून में छपी खबर

खबर के मुताबिक, नोमान साहिद ने चक 211-GB में रहने वाली लड़की सना बीबी से परिवार की मर्जी के खिलाफ शादी की, जिससे लड़की के परिवारवाले नाराज थे। शादी के बाद नोमान पत्नी को गांव (चक 179-GB) ले आया, जो गोजरा तहसील में है। सना के संबंधी रिजवान, शाहिद और अरसलान भी नोमान के गांव में ही रहते हैं। घटना वाले दिन सना के संबंधियों ने नोमान को गांव के बाहर प्राइमरी स्कूल में मिलने के लिए बुलाया और फिर उस पर कुल्हाड़ी से हमला कर दिया।

यानी जो वीडियो जैसलमेर हत्याकांड के दावे के साथ वायरल हो रहा है, वह पाकिस्तान में हुई घटना का है।

जैसलमेर पुलिस के ट्विटर हैंडल पर भी इस वीडियो को लेकर सफाई दी गई है। पुलिस ने कहा है कि इस वीडियो को वायरल करने वाले लोगों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

10 अप्रैल को किए गए ट्वीट में पुलिस ने इस घटना के कारण और आरोपी को गिरफ्तार किए जाने को लेकर जानकारी दी है।

विश्वास न्यूज ने इस मामले को लेकर जैसलमेर जिले की पुलिस अधीक्षक किरण कंग ने बात की। उन्होंने बताया, ‘पुलिस थाना भणियाणा के गांव माडवा में हुई घटना के आरोपी को गिरफ्तार किया जा चुका है। हालांकि, इस घटना से जोड़कर जिस वीडियो को लेकर वायरल किया जा रहा है, वह इससे जुड़ा नहीं है।’ क्या यह हत्याकांड कोरोना वारियर्स के सम्मान में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अपील पर ताली और थाली बजाने से जुड़ा हुआ है, के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, ‘पुलिस ने जो प्राथमिकी दर्ज की है, उसमें इस बात का जिक्र नहीं है।’

चूंकि इस मामले में अभी पुलिस की तरफ से अनुसंधान किया जा रहा है, इसलिए किसी नए तथ्य के सामने आने के बाद विश्वास न्यूज की तरफ से इस स्टोरी को अपडेट किया जाएगा।

वायरल वीडियो शेयर करने वाले यूजर को फेसबुक करीब 7,000 से अधिक लोग फॉलो करते हैं और उनके पेज को करीब 6,000 से अधिक लोगों ने लाइक किया हुआ है।


निष्कर्ष: राजस्थान के जैसलमेर में हुए हत्याकांड के नाम पर वायरल हो रहा वीडियो पाकिस्तान में हुई घटना से संबंधित है।

  • Claim Review : जैसलमेर में हिंदू युवक रेवतसिंह तंवर को कुल्हाड़ी से काट कर मार डाला
  • Claimed By : FB User-महन्त शुक्राई नाथ योगी
  • Fact Check : भ्रामक
भ्रामक
    फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

कोरोना वायरस से कैसे बचें ? PDF डाउनलोड करें और जानिए कोरोना वायरस से जुड़ी महत्वपूर्ण सूचना

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later