नई दिल्‍ली (विश्‍वास न्‍यूज)। सोशल मीडिया पर विंग कमांडर अभिनंदन का एक फर्जी मैसेज वायरल हो रहा है। इसमें पुलवामा के बहाने भाजपा और पीएम नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा गया है। विश्‍वास टीम की पड़ताल में यह मैसेज साबित हुआ। अभिनंदन ने पाकिस्‍तान से लौटने के बाद अब तक कोई भी राजनीतिक बयान नहीं दिया है। फिलहाल वह राजस्‍थान में तैनात हैं।

क्‍या है वायरल पोस्‍ट में

एस.एम. मुजम्मिल कुरैशी नाम के फेसबुक यूजर ने विंग कमांडर अभिनंदन की फर्जी पोस्‍ट को अपलोड करते हुए लिखा : छुपा हुआ सच।

इस पोस्‍ट को 13 मई 2019 की रात में करीब 9 बजे अपलोड किया गया।

पड़ताल

विश्‍वास टीम ने सबसे पहले वायरल पोस्‍ट के कंटेंट के कुछ हिस्‍से को गूगल में टाइप करके सर्च किया। लेकिन हमें विंग कमांडर अभिनंदन के नाम से ऐसा कोई बयान नहीं मिला। कुछ नेताओं के जरूर ऐसे बयान मिले, जिसमें पुलवामा के बहाने पीएम मोदी और भाजपा पर निशाना साधा गया था। लेकिन गूगल में कहीं भी अभिनंदन का जिक्र नहीं मिला।

विंग कमांडर अभिनंदन को लेकर लेटेस्‍ट न्‍यूज शनिवार (11 मई ) को आई थी। दैनिक जागरण की वेबसाइट Jagran.com पर पब्लिश एक खबर में बताया गया कि अभिनंदन की राजस्थान के सूरतगढ़ एयरबेस पर तैनाती कर दी गई है। पूरी खबर आप यहां पढ़ सकते हैं।

इसके बाद हमने वायरल पोस्‍ट में दिख रही अभिनंदन की तस्‍वीर की तह तक जाने का फैसला किया। गूगल रिवर्स इमेज में इस फोटो को अपलोड करने के बाद हमें कई मिलती-जुलती तस्‍वीरें मिलीं। अंत में हमने गूगल में टाइमलाइन टूल का यूज किया। पाकिस्‍तान ने अभिनंदन को 27 फरवरी 2019 को पकड़ा था। इसलिए हमने 27 फरवरी से लेकर 28 फरवरी तक की डेट सेट की। हमें The Sun के Youtube चैनल पर एक वीडियो मिला। इसे पाकिस्‍तानी आर्मी की ओर से जारी किया गया था। इस वीडियो में अभिनंदन को बोलते हुए दिखाया गया। वायरल तस्‍वीर को इसी वीडियो से क्रॉप किया गया है।

गौरतलब है कि इससे पहले भी कई बार विंग कमांडर अभिनंदन को लेकर कई फर्जी पोस्‍ट वायरल हो चुकी हैं। अभिनंदन की फर्जी वर्दी, फेक पत्‍नी से लेकर फर्जी Tweet तक सोशल मीडिया पर आ चुका है। विश्‍वास टीम की जांच में यह सब फर्जी साबित हुआ। अभिनंदन से जुड़ी खबरों को आप यहां पढ़ सकते हैं।

हमारी पड़ताल के दौरान हमें इंडियर एयर फोर्स का एक Tweet मिला। इसमें कहा गया कि अभिनंदन को कोई भी सोशल मीडिया अकाउंट नहीं है। साथ में विंग कमांडर के नाम से बने कुछ फर्जी ट्विटर हैंडल के नाम भी दिए गए हैं। यह आप नीचे देख सकते हैं।

इतना करना के बाद हमने विंग कमांडर अभिनंदन की फर्जी पोस्‍ट करने वाले फेसबुक यूजर एस.एम. मुजम्मिल कुरैशी की सोशल स्‍कैनिंग की। यह हमने Stalkscan टूल की मदद से किया। एस.एम. मुजम्मिल कुरैशी के अकाउंट के मुताबिक, वह मप्र के दमोह के कांग्रेस आईटी से जुड़ा हुआ है। इस अकाउंट पर अधिकांश पोस्‍ट कांग्रेस के समर्थन में होती है।

निष्कर्ष : विश्वास टीम की जांच में विंग कमांडर अभिनंदन के नाम पर वायरल मैसेज फर्जी निकला। पाकिस्‍तान से रिहा होने के बाद अब तक अभिनंदन ने कोई राजनीतिक बयान नहीं दिया है।

पूरा सच जानें…

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी खबर पर संदेह है जिसका असर आप, समाज और देश पर हो सकता है तो हमें बताएं। हमें यहां जानकारी भेज सकते हैं। हमें contact@vishvasnews.com पर ईमेल कर सकते हैं। इसके साथ ही वॅाट्सऐप (नंबर – 9205270923) के माध्‍यम से भी सूचना दे सकते हैं।

Claim Review : विंग कमांडर अभिनंदन ने दिया पुलवामा अटैक पर बयान
Claimed By : एस. एम. मुजम्मिल कुरैशी
Fact Check : False

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here