X

Fact Check: पीएम के महाबलीपुरम सफाई अभियान को लेकर सोशल मीडिया पर उड़ रही हैं अफवाहें

  • By Vishvas News
  • Updated: October 14, 2019

नई दिल्‍ली (विश्‍वास न्‍यूज)।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अक्टूबर 12, शनिवार को ताज फिशरमैन कोव रिज़ॉर्ट और स्पा के बाहर समुद्र तट पर फेंकी गई प्लास्टिक की बोतलें, प्लेटें और अन्य कचरे को उठाया था और उसका एक वीडियो और कुछ फोटो सोशल मीडिया पर शेयर किया था। इस वीडियो को काफी लोगों ने सराहा। हालांकि, अब सोशल मीडिया पर कुछ तस्वीरें वायरल हो रहीं हैं जिनमें एक कैमरा क्रू को और एक बम डिटेक्शन टीम को देखा जा सकता है। कहा जा रहा है कि पीएम द्वारा बीच की सफाई को शूट करने के लिए दिखाई गयी पूरी कैमरा टीम आई थी और उससे पहले पूरे बीच की बम डिटेक्शन टीम ने जांच की थी। हमने अपनी पड़ताल में पाया कि वायरल हो रही दोनों तस्वीरें पुरानी हैं। पहली तस्वीर जाने-माने फिल्मांकन स्थान स्कॉटलैंड के वेस्ट सैंड्स समुद्र तट की है और दूसरी तस्वीर पांच महीने पुरानी केरल के कोझिकोड समुद्र तट की है जब पीएम की रैली से पहले बम दस्ते द्वारा समुद्र तट को स्कैन किया गया था।

CLAIM

वायरल पोस्ट में 3 तस्वीरें हैं। एक में प्रधानमंत्री मोदी ने हाथ में कूड़े का थैला पकड़ा है। दूसरी तस्वीर में एक कैमरा क्रू को और तीसरी तस्वीर में एक बम डिटेक्शन टीम को देखा जा सकता है। पोस्ट में दावा किया जा रहा है, “पहले सिक्योरिटी स्कैनिगं और चेकिगं होती है कही कोई विस्फोटक तो नही….फिर कैमरा सेट-अप करना पडता है….फिर थैले मे भरकर साफ सुथरी प्लास्टिक की बोतले और चिप्स के पैकेट यहा वहा फेकने पडते है…तब जाकर स्वच्छ भारत की शुरूवात होती है….हलवा थोडी है। “

FACT CHECK

इस पोस्ट की पड़ताल के लिए हमने एक-एक करके इन दोनों तस्वीरों की पड़ताल करने का फैसला किया। पहली तस्वीर को गूगल रिवर्स इमेज पर सर्च करने पर हमें पता चला कि ये तस्वीर स्कॉटलैंड के वेस्ट सैंड्स समुद्र तट की है। तस्वीर को tayscreen.com और st-andrews.ac.uk की वेबसाइट पर देखा जा सकता है।

दूसरी तस्वीर की पड़ताल करने के लिए हमने इसको भी गूगल रिवर्स इमेज पर सर्च किया। हमने पाया कि ये तस्वीर केरल के कोझिकोड समुद्र तट की है और पांच महीने पुरानी है। प्रधानमंत्री मोदी ने 23 अप्रैल 2019 को कोझिकोड में 2019 के लोकसभा चुनावों के लिए रैली को संबोधित किया था। वायरल तस्वीर पीएम की इसी रैली से पहले बम दस्ते द्वारा स्कैन किए जा रहे समुद्र तट को दिखाती है। यह तस्वीर हमें द हिन्दू की एक खबर में भी मिली जिसमें लिखा था, “भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) शुक्रवार को कोझिकोड में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की यात्रा के साथ कोझिकोड में शक्ति प्रदर्शन की तैयारी कर रही है।”

ज़्यादा पुष्टि के लिए हमने ताज के पीआरओ अखिलेश रंजन से बात की। उन्होंने कहा “वायरल हो रही दोनों ही तस्वीरें किसी भी ताज प्रॉपर्टी की नहीं हैं।”

इस पोस्ट को कई लोग फैला रहे हैं। इनमें से एक फेसबुक पेज है Bluffmaster Modi. इस पेज के कुल 486,318 फ़ॉलोअर्स हैं।

निष्कर्ष: हमने अपनी पड़ताल में पाया कि ये वायरल हो रही दोनों तस्वीरें पुरानी हैं। पहली तस्वीर जाने-माने फिल्मांकन स्थान स्कॉटलैंड के वेस्ट सैंड्स समुद्र तट की है और दूसरी तस्वीर पांच महीने पुरानी केरल के कोझिकोड समुद्र तट की है। पीएम मोदी ने 23 अप्रैल 2019 को कोझिकोड में 2019 के लोकसभा चुनावों के लिए चुनावी रैली को संबोधित किया था। वायरल तस्वीर पीएम की रैली से पहले बम दस्ते द्वारा स्कैन किए जा रहे समुद्र तट की है।

  • Claim Review : पहले सिक्योरिटी स्कैनिगं और चेकिगं होती है कही कोई विस्फोटक तो नही....फिर कैमरा सेट-अप करना पडता है.
  • Claimed By : FB page Bluffmaster Modi
  • Fact Check : झूठ
झूठ
    फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later