X

Fact Check: बैंकॉक में हुए प्रदर्शन की तस्वीर को श्रीलंका में हुई कोविड से हुई मौतें बता कर किया जा रहा है वायरल

विश्वास न्यूज ने पड़ताल में पाया कि वायरल तस्वीर के साथ किया गया दावा गलत है। थाईलैंड में विरोध प्रदर्शन के दौरान इस्तेमाल किये गए नकली लाशों के थैलों को श्रीलंका में हुई कोविड मौतों का बताकर शेयर किया जा रहा है।

  • By Vishvas News
  • Updated: August 24, 2021

नई दिल्‍ली (Vishvas News)। सोशल मीडिया पर एक तस्वीर वायरल हो रही है, जिसमें प्लास्टिक में लिपटे बहुत-से शवों को देखा जा सकता है। वायरल पोस्ट के साथ दावा किया जा रहा है कि ये श्रीलंका में कोविड से मारे गए लोगों के शव हैं। विश्वास न्यूज ने पड़ताल में पाया कि वायरल तस्वीर के साथ किया गया दावा गलत है। थाईलैंड में विरोध प्रदर्शन के दौरान इस्तेमाल किये गए नकली शवों के थैलों को श्रीलंका में हुई कोविड मौतों का बता कर शेयर किया जा रहा है।

क्या है वायरल पोस्ट में?

फेसबुक यूजर The Wes – වෙස් ने यह तस्वीर शेयर करते हुए सिंघला भाषा में कैप्शन लिखा, जिसका हिंदी अनुवाद है : क्या आपको लगता है कि यह पैक्ड मुर्गियां थीं। नहीं, ये वो लोग हैं जिनकी मौत कोरोना से हुई है।।

पोस्ट का आर्काइव्ड वर्जन यहां देखा जा सकता है।

पड़ताल

विश्वास न्यूज ने वायरल तस्वीर की पड़ताल करने के लिए सबसे पहले गूगल रिवर्स इमेज सर्च की मदद से इसे ढूंढा। हमें कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में यह तस्वीर मिली। 19 जुलाई 2021 को worldofbuzz.com में छपी एक रिपोर्ट में यह तस्वीर मिली। खबर के अनुसार “अनुवादित: थाईलैंड के लोगों ने 18 जुलाई को अपने देश में महामारी से निपटने के लिए अपने प्रधानमंत्री प्रयुत चान-ओ-चा के विरोध में प्रदर्शन किया। वे अपनी मोटरसाइकिल और कारों में सड़कों पर उतर आए हैं।” खबर के अनुसार तस्वीर बैंकाक की है।

हमें इस घटना का एक वीडियो Thai Enquirer के एक ट्वीट में भी मिला। ट्वीट में वीडियो के साथ लिखा था “प्रदर्शनकारी नियोजित रैलियों से पहले आज डेमोक्रेसी मॉन्यूमेंट पहुंचे। सरकार की खराब कोविड प्रतिक्रिया के कारण खोए हुए लोगों को दिखाने के लिए विरोध स्थल पर नकली शवों का ढेर लगा दिया गया है। कोविड के खतरे के बावजूद लोग जमा हो रहे हैं।”

हमने इस विषय में थाई इन्क्वायरर के रिपोर्टर जेम्स विल्सन से संपर्क साधा। उन्होंने हमें बताया, “यह तस्वीर जुलाई 18 को बैंकॉक में हुए प्रदर्शन की है। प्रदर्शनकारियों ने इन मॉक बॉडी बैग्स के ज़रिये देश में हुई कोरोना मौतों को दिखाने की कोशिश की थी।

अब बारी थी फेसबुक पर तस्वीर को साझा करने वाले यूजर ලියුම – The letter के प्रोफाइल को स्कैन करने की। प्रोफाइल को स्कैन करने पर हमने पाया कि इस पेज के 311,954 फ़ॉलोअर्स हैं।

निष्कर्ष: विश्वास न्यूज ने पड़ताल में पाया कि वायरल तस्वीर के साथ किया गया दावा गलत है। थाईलैंड में विरोध प्रदर्शन के दौरान इस्तेमाल किये गए नकली लाशों के थैलों को श्रीलंका में हुई कोविड मौतों का बताकर शेयर किया जा रहा है।

  • Claim Review : Did you think it was packed chickens. No, these are the people who died due to Corona.
  • Claimed By : The Wes
  • Fact Check : झूठ
झूठ
फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

अपना सुझाव पोस्ट करें
और पढ़े

No more pages to load

संबंधित लेख

Next pageNext pageNext page

Post saved! You can read it later