X

Fact Check: 25 सितंबर से देश में नहीं लग रहा लॉकडाउन, इस दावे के साथ NDMA के नाम से वायरल हो रही चिट्ठी फर्जी

  • By Vishvas News
  • Updated: September 15, 2020

नई दिल्ली (विश्वास न्यूज)। कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण की वजह से कुल मरीजों की संख्या 49 लाख से अधिक होने के बीच सोशल मीडिया पर एक बार फिर से देशव्यापी लॉकडाउन का दावा किया जा रहा है। दावा किया जा रहा है कि संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए केंद्र सरकार 25 सितंबर से देश में फिर से लॉकडाउन की घोषणा करने जा रही है।

विश्वास न्यूज की पड़ताल में यह महज अफवाह निकला। 25 सितंबर से देशव्यापी लॉकडाउन की घोषणा का दावा झूठा है।

क्या है वायरल पोस्ट में?

25 सितंबर से देशव्यापी लॉकडाउन लगाए जाने के दावे के साथ एक चिट्ठी वायरल हो रही है, जिसके बारे में कहा जा रहा है कि यह नेशनल डिजास्टर मैनेजमेंट अथॉरिटी (NDMA) की तरफ से लिखी गई चिट्ठी है और इसके जरिए प्रधानमंत्री कार्यालय से देश में 25 सितंबर की आधी रात से 46 दिनों तक दोबारा लॉकडाउन लगाए जाने की मांग की गई है।

देशव्यापी लॉकडाउन के दावे के साथ NDMA के नाम पर वायरल हो रही फर्जी चिट्ठी

पड़ताल

चूंकि, वायरल हो रहे पोस्ट में NDMA की तरफ से लिखी गई चिट्ठी का हवाला देते देश में दोबारा से लॉकडाउन लगाए जाने की मांग की गई है, इसलिए हमने NDMA की वेबसाइट को सर्च किया। NDMA की वेबसाइट पर एडवाइजरी वाले सेक्शन में एक मई 2020 को अपलोड किए गए ऑर्डर की प्रति मिली, जो चार मई के बाद दो हफ्ते के लिए लॉकडाउन बढ़ाए जाने के दौरान के दिशानिर्देश से संबंधित है। इस आदेश में हमें NDMA की तरफ से जारी की जाने वाली चिट्ठी का प्रारूप मिला, जिसकी नकल कर NDMA के नाम से फर्जी चिट्ठी को वायरल किया जा रहा है।

सर्च में हमें ऐसी कोई हालिया एडवाइजरी या रिलीज नहीं मिली, जिसमें एनडीएमए की तरफ से लॉकडाउन को बढ़ाए जाने का जिक्र हो।

विश्वास न्यूज ने एनडीएमए के डायरेक्टर (पीआर एंड एजी) भूपिंदर सिंह से संपर्क किया। सिंह ने बताया, ‘एनडीएमए की तरफ से ऐसी कोई चिट्ठी नहीं लिखी गई है और न ही हमारी तरफ से लॉकडाउन को लगाए जाने या उसे बढ़ाए जाने के बारे में सरकार को किसी तरह का सुझाव दिया जाता है।’

इसके बाद हमने न्यूज सर्च की मदद ली, लेकिन हमें ऐसी कोई खबर नहीं मिली, जिसमें भारत में एक बार फिर से देशव्यापी लॉकडाउन लगाए जाने का जिक्र किया गया हो। हालांकि, ऐसी कई रिपोर्ट मिली, जिसके मुताबिक इजराइल सरकार ने एक बार फिर से तीन हफ्तों के लिए देशव्यापी लॉकडाउन लगाने का फैसला किया है।

न्यूज एजेंसी रॉयटर्स के हवाले से प्रकाशित खबर

वायरल हो रही चिट्ठी में लिखा गया है कि कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को रोकने और इससे होने वाली मृत्यु दर को घटाने के लिए 25 सितंबर 2020 की आधी रात से अगले 46 दिनों के लिए कठोर राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन की जरूरत है।

स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से दी गई जानकारी के मुताबिक, भारत में तेजी से बढ़ते संक्रमण के मामलों के बीच रिकवरी रेट बढ़कर 78.27 फीसदी हो चुका है। कुल मरीजों का 60 फीसदी पांच सर्वाधिक प्रभावित राज्यों में है और यहां भी रिकवरी रेट करीब 60 फीसदी है।

COVID19 India Tracker के मुताबिक, (15 सितंबर, सुबह 8 बजे तक के आंकड़ों के मुताबिक) भारत में कुल मरीजों की संख्या 49 लाख को पार कर चुकी है। इस बीमारी से अब तक भारत में 80,776 लोगों की मौत हो चुकी है।

https://twitter.com/COVIDNewsByMIB/status/1305742370877530113

निष्कर्ष: कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण के बीच 25 सितंबर से देश में एक बार फिर से लॉकडाउन लगाए जाने का दावा महज अफवाह है। एनडीएमए की तरफ से ऐसी कोई चिट्ठी केंद्र सरकार को नहीं लिखी गई है, जिसमें 25 सितंबर से अगले 46 दिनों तक देश में फिर से लॉकडाउन लगाए जाने की मांग की गई है।

Disclaimer: विश्वास न्यूज की कोरोना वायरस (COVID-19) से जुड़ी फैक्ट चेक स्टोरी को पढ़ते या उसे शेयर करते वक्त आपको इस बात का ध्यान रखना होगा कि जिन आंकड़ों या रिसर्च संबंधी डेटा का इस्तेमाल किया गया है, वह परिवर्तनीय है। परिवर्तनीय इसलिए ,क्योंकि इस महामारी से जुड़े आंकड़ें (संक्रमित और ठीक होने वाले मरीजों की संख्या, इससे होने वाली मौतों की संख्या) में लगातार बदलाव हो रहा है। इसके साथ ही इस बीमारी का वैक्सीन खोजे जाने की दिशा में चल रहे रिसर्च के ठोस परिणाम आने बाकी हैं और इस वजह से इलाज और बचाव को लेकर उपलब्ध आंकड़ों में भी बदलाव हो सकता है। इसलिए जरूरी है कि स्टोरी में इस्तेमाल किए गए डेटा को उसकी तारीख के संदर्भ में देखा जाए।

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later