X

Quick Fact Check : सनी देओल को देखने के लिए उमड़ी थी भीड़, एक साल पुराना वीडियो फिर आया सामने

  • By Vishvas News
  • Updated: June 8, 2020

नई दिल्‍ली (विश्‍वास न्‍यूज)। सोशल मीडिया में एक बार फिर से सनी देओल का एक पुराना वीडियो फर्जी दावों के साथ वायरल किया जा रहा है। इसमें दावा किया जा रहा है कि सनी देओल को गुरुद्वारे से धक्‍का मारकर बाहर किया गया।

विश्‍वास न्‍यूज ने पहले भी एक बार ऐसे ही एक वायरल पोस्‍ट की जांच की थी। हमारी जांच में वायरल पोस्‍ट फर्जी साबित हुई। वायरल वीडियो 2 मई 2019 का है। उस वक्‍त सनी देओल डेरा बाबा नानक गए थे। वहां हर कोई उनसे मिलना चाह रहा था। वीडियो उसी दौरान का है।

क्‍या हो रहा वायरल

फेसबुक यूजर शकील पाटनी ने 31 मई को एक वीडियो को अपलोड करते हुए लिखा : ‘Sunny Deol ko logon ne dhakke markar Gurudwara Sahib se bahar nikal Diya aur kahan yah BJP Ka dalla hai…. Great Job.’

इस वीडियो को सच मानकर करीब 11 सौ लोगों ने शेयर किया, जबकि इसे 17 हजार से ज्‍यादा लोगों ने देखा।

पड़ताल

वायरल वीडियो की विश्‍वास न्‍यूज पहले भी एक बार पड़ताल कर चुका है। पड़ताल में हमें दैनिक जागरण की खबर और वीडियो मिले थे। इससे हमें पता चला कि 2 मई 2019 को सनी देओल ने गुरदासपुर के डेरा बाबा नानक गुरुद्वारे में पहले दर्शन किया। इसके बाद अपने चुनाव प्रचार की शुरुआत की थी। इंटरनेट पर तमाम वीडियो में देखा जा सकता है कि सनी देओल को देखने के लिए काफी भीड़ उमड़ गई थी। उसी वक्‍त के वीडियो को कुछ लोग फर्जी दावों के साथ वायरल कर दिया।

पड़ताल के दौरान गुरदासपुर के जिला भाजपा प्रधान बाल कृष्ण मित्तल ने विश्‍वास न्‍यूज को बताया कि 2 मई 2019 को सनी देओल डेरा बाबा नानक आए थे। उन्‍हें देखने के लिए भीड़ उमड़ गई थी। वीडियो उसी दौरान का है। धक्‍के मारने जैसी बात एकदम बकवास है।

पूरी पड़ताल को आप यहां पढ़ सकते हैं।

पड़ताल के अंतिम चरण में हमने फर्जी पोस्‍ट को वायरल करने वाले फेसबुक यूजर की जांच की। हमें पता चला कि यूजर शकील पाटनी मुंबई के रहने वाले हैं।


निष्कर्ष: विश्‍वास न्‍यूज की जांच में सनी देओल से जुड़ी पोस्‍ट फर्जी निकली। एक साल पुराने वीडियो को कुछ लोग फर्जी दावे के साथ वायरल कर रहे हैं।

  • Claim Review : सनी देओल को धक्‍के मारकर गुरुद्वारा से बाहर निकाला
  • Claimed By : फेसबुक यूजर शकील पाटनी
  • Fact Check : झूठ
झूठ
    फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later