X

Fact Check: पंजाब में एक ड्रग इंस्पेक्टर की हत्या की 3 साल पुरानी घटना को हाल का बताकर किया जा रहा है वायरल

विश्वास न्यूज़ की पड़ताल में सोशल मीडिया पर वायरल दावा भ्रामक निकला।‌ पंजाब में ड्रग इंस्पेक्टर नेहा शौरी की हत्या के तीन साल पुराने मामले को हाल का बताकर गलत दावे के साथ वायरल जा रहा है।

  • By Vishvas News
  • Updated: April 22, 2022

विश्‍वास न्‍यूज (नई दिल्‍ली)। पंजाब में आम आदमी पार्टी की सरकार बनने के बाद से ही सोशल मीडिया के विभिन्न प्लेटफार्म पर कई फर्जी दावे वायरल हो रहे है। अब इसी से जोड़कर एक पोस्ट सोशल मीडिया पर शेयर की जा रही है। पोस्ट के साथ दावा किया जा रहा है कि पंजाब में भगवंत मान के मुख्यमंत्री बनते ही ड्रग इंस्पेक्टर डॉ. नेहा सूरी की हत्या कर दी गई, जो ड्रग माफियाओं और प्रतिबंधित दवाओं की बिक्री करने वालों पर सख्त कार्रवाई कर रही थीं। यूजर इस घटना को हालिया बताते हुए शेयर कर रहे हैं। विश्वास न्यूज़ ने अपनी पड़ताल में दावे को गलत पाया। यह तीन साल पुरानी घटना है, जिसे हाल का बताकर वायरल किया जा रहा है।

क्या हो रहा है वायरल?

फेसबुक यूजर “Yashmaan Singh ” ने 22 अप्रैल को वायरल पोस्ट को शेयर करते हुए लिखा, “पंजाब में आम आदमी पार्टी की सरकार और  भगवंत मान के मुख्यमंत्री बनते ही ड्रग इंस्पेक्टर डॉ नेहा सूरी जो ड्रग माफियाओं और प्रतिबंधित दवाओं की बिक्री करने वालो पर सख्त कार्रवाई कर रही थीं ,की गोली मरकर हत्या!

ऐसे ही एक और यूजर ‘Naresh Agarwal ‘ ने पोस्ट को शेयर कर लिखा है ,’#उड़ताऔरउड़ाता_पंजाब…

ये है डॉ नेहा सूरी, जो पंजाब में ड्रग इंस्पेक्टर के पोस्ट पर तैनात थीं। कुछ हीं महीने पहले इन्होंने कुछ फार्मेसी आउटलेट्स पर छापा मारा था और प्रतिबंधित नशीली दवाओं की बिक्री के लिए उनके लाइसेंस रद्द कर दिए थे। कल, एक ड्रग पेडलर ने मोहाली में इनके कार्यालय में आकर दिनदहाड़े इन्हें गोली मार दी। पंजाब के लगभग 70-80% युवाओं को बर्बाद कर चुकी ड्रग्स से लड़ने वाली एक ईमानदार अधिकारी की गोली मारकर हत्या कर दी गई ! नेहा की उन जैसे लोगों की बहादुरी उतनी ही महत्वपूर्ण है जितनी हमारे सशस्त्र बलों, सेना और पुलिस की। ये लोग देश को अंदर से सुरक्षित करते हैं! वे हमारे समाज, हमारे युवाओं, हमारे लोगों की रक्षा करते हैं! इस बहादुर और ईमानदार महिला को दिल से सैल्यूट है उन्होंने कई युवाओं के भविष्य की रक्षा करते हुए अपने जीवन का बलिदान दिया! इस बात पर गौर कीजिए कि चारों तरफ सन्नाटा इलेक्ट्रॉनिक मीडिया चुप है, इसलिए अब पंजाब में ड्रग्स के मुद्दे पर कोई बात नहीं करेगा! Via सोशल मीडिया

फैक्ट चेक के उद्देश्य से फेसबुक पोस्ट में लिखी गई बातों को हूबहू लिखा गया है।इस पोस्ट को दूसरे यूजर्स भी इससे मिलते-जुलते दावे के साथ वायरल कर रहे हैं‌।

पड़ताल

वायरल हो रही तस्वीर के साथ किए गए दावे को जांचने के लिए हमने सबसे पहले कीवर्ड के जरिए गूगल सर्च किया। सर्च के दौरान हमें वायरल दावे से जुड़े कई मीडिया रिपोर्ट्स मिलें। jagran.com पर 2 अप्रैल 2019 को इससे जुड़ी रिपोर्ट प्रकाशित मिली। प्रकाशित रिपोर्ट के अनुसार, मोहाली के पास खरड़ स्थित ड्रग फूड एंड केमिकल टेस्टिंग लेबोरेटरी में दिनदहाड़े हुई इस हत्या से हड़कंप मच गया था। मोरिंडा के बलविंदर सिंह ने पिछले शुक्रवार को जोनल लाइसेंस अथॉरिटी की अधिकारी ड्रग इंस्पेक्टर नेहा शौरी (35) की उनके दफ्तर में घुसकर गोलियां मारकर हत्या कर दी थी। इसके बाद बलविंदर ने खुद को भी गोली मार कर आत्‍महत्‍या कर ली थी।

financialexpress-com पर 31 मार्च 2019 को प्रकाशित खबर में बताया गया, “पंजाब सरकार के खाद्य एवं औषधि प्रशासन (एफडीए) विंग के लिए काम करने वाली एक महिला अधिकारी की शुक्रवार सुबह मोहाली के पास खरड़ में उसके कार्यालय के अंदर एक फार्मेसी मालिक ने गोली मारकर हत्या कर दी। हमलावर की पहचान 50 वर्षीय बलविंदर सिंह के रूप में हुई, जो मूल रूप से मोरिंडा का रहने वाला है।”

इस विषय में ज़्यादा जानकारी के लिए हमने मोहाली में दैनिक जागरण के सीनियर रिपोर्टर रोहित कुमार से संपर्क किया। उनके साथ वायरल वीडियो को शेयर किया। उन्‍होंने बताया कि यह मामला 2019 का है। पुरानी घटना को कुछ लोग अभी का समझकर वायरल कर रहे हैं। उस समय आप की सरकार नहीं थी और न ही भगवंत मान मुख्यमंत्री थे। उस समय पंजाब में कांग्रेस की सरकार थी। भगवंत मान इसी साल राज्य के मुख्यमंत्री बने है।

हमारी पड़ताल से यह बात तो स्पष्ट हो जाती है कि यह मामला हाल-फिलहाल का नहीं,पुराना है। उस समय पंजाब में कांग्रेस की सरकार थी। भगवंत मान इसी साल राज्य के मुख्यमंत्री बने है।

पड़ताल के अंत में हमने पुरानी घटना को दोबारा वायरल करने वाले फेसबुक यूजर की सोशल स्कैनिंग की। यूजर नई दिल्ली का रहने वाला है और फेसबुक पर यूजर के 490 फ्रेंड्स हैं।

निष्कर्ष: विश्वास न्यूज़ की पड़ताल में सोशल मीडिया पर वायरल दावा भ्रामक निकला।‌ पंजाब में ड्रग इंस्पेक्टर नेहा शौरी की हत्या के तीन साल पुराने मामले को हाल का बताकर गलत दावे के साथ वायरल जा रहा है।

  • Claim Review : पंजाब में आम आदमी पार्टी की सरकार और भगवंत मान के मुख्यमंत्री बनते ही ड्रग इंस्पेक्टर डॉ नेहा सूरी जो ड्रग माफियाओं और प्रतिबंधित दवाओं की बिक्री करने वालो पर सख्त कार्रवाई कर रही थीं ,की गोली मरकर हत्या!
  • Claimed By : Yashmaan Singh
  • Fact Check : भ्रामक
भ्रामक
फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

अपना सुझाव पोस्ट करें
और पढ़े

No more pages to load

संबंधित लेख

Next pageNext pageNext page

Post saved! You can read it later