X

Fact Check: ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ की तस्वीर वाला यह बिल बोर्ड एडिटेड है

  • By Vishvas News
  • Updated: March 15, 2021

नई दिल्ली (विश्वास न्यूज़)। सोशल मीडिया पर वायरल एक तस्वीर में एक बिल बोर्ड पर ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ की तस्वीर के साथ लिखा है कि वे वैक्सीन देने के लिए भारतीय प्रधानमंत्री मोदी की शुक्रगुज़ार हैं। 

Vishvas News ने अपनी पड़ताल में पाया कि वायरल दावा झूठा है। वायरल तस्वीर एडिटेड है। असली तस्वीर में ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ का एक दूसरा संदेश था।

क्या है वायरल वीडियो?

वायरल तस्वीर में  बिल बोर्ड पर ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ की तस्वीर के साथ लिखा है,  “Thank You PM Modi for sending us COVID 19 vaccine, you are a good boy”  इस ट्वीट के साथ डिस्क्रिप्शन में लिखा है : “जिस ब्रिटिश साम्राज्य मे कभी सुरज अस्त नहीं होता था, जिन्होंने हम पर 200साल राज किया था, वह भी आज प्रधानमंत्री मोदीजी के लिए निवेदित हो धन्यवाद प्रेषित कर रहे है ,,लंदन में महारानी एलिजाबेथ द्वितीय ने इंग्लैंड को कोरोना वैक्सीन की मदद देने के लिए मोदीजी को धन्यवाद ज्ञापन दिया।”

विश्वास न्यूज को अपने फैक्ट चेकिंग वॉट्सऐप चैटबॉट (+91 95992 99372) पर भी यह दावा फैक्ट चेक के लिए मिला। 

वायरल पोस्ट का आर्काइव लिंक यहां देखा जा सकता है।

पड़ताल

अपनी जांच शुरू करने के लिए हमने पहले इस तस्वीर को गूगल रिवर्स इमेज पर सर्च किया। हमें यह तस्वीर बीबीसी के एक ट्वीट में मिली, जिसे 20 अप्रैल 2020 को ट्वीट किया गया था। यहाँ बिल बोर्ड पर लिखा था “We will be with our friends again; we will be with our families again; we will meet again”

हमें यह तस्वीर newsweek.com  की एक खबर में भी मिली। 8 अप्रैल 2020 को प्रकाशित खबर के अनुसार, यह तस्वीर पिकाडिली सर्कस के एक बिल बोर्ड की है। खबर के अनुसार, “क्वीन एलिजाबेथ द्वितीय के कोरोनावायरस संदेश को पिकाडिली सर्कस, लंदन के स्क्रीन पर अप्रैल, 2020 में प्रदर्शित किया गया। OCEAN OUTDOOR।” खबर के अनुसार, यह मैसेज  पिकाडिली सर्कस के लाइट स्क्रीन पर दिखाया गया था। डिस्क्रिप्शन में अंत में  OCEAN OUTDOOR लिखा था। हमने ढूंढा तो पाया कि पिकाडिली सर्कस, लंदन के लाइट स्क्रीन को OCEAN OUTDOOR नाम की एक ऐड कंपनी मैनेज करती है।

इस बिलबोर्ड की तस्वीर हमें दुसरे एंगल से gettyimages.co.uk पर भी मिली। इस तस्वीर को ग्लैन कर्क नाम के एक फोटोग्राफर ने क्लिक किया था। हमने ट्विटर के ज़रिये ग्लेन से संपर्क साधा और इस बिल बोर्ड के बारे में पूंछा। उन्होंने बताया “यह बिलबोर्ड पिछले साल अप्रैल के महीने का है। असली बिल बोर्ड पर “We will be with our friends again; we will be with our families again; we will meet again” लिखा था। यह कोरोना काल के दौरान क्वीन का पहला जन सन्देश था।”

हमने पुष्टि के लिए ओशियन आउटडोर कंपनी को भी कॉल के ज़रिये संपर्क किया। कंपनी की कम्युनिकेशन इंचार्ज ऐमिली अर्थ ने हमें बताया “असली ऐड में लिखा था ‘We will be with our friends again; We will be with our families again; We will meet again’ कुछ मीम क्रिएटिंग साइट्स भी इस ऐड टेम्पलेट का इस्तेमाल कर रहीं है और लोग इसपर मनचाहा मैसेज लिख रहे हैं।”

ढूंढ़ने पर हमने पाया कि इस बिल बोर्ड की तस्वीर एक मीम बनाने वाली वेबसाइट पर भी मौजूद है, जहां पर यूजर इस स्क्रीन पर अपना मनचाहा मैसेज लिख सकते हैं और मीम बना सकते हैं। संभवतः इसी तरह की किसी साइट से इस वायरल तस्वीर को तैयार किया गया है।

आपको बता दें कि 5 मार्च 2021 को विदेश मंत्री एस जयशंकर ने ट्वीट करके बताया कि भारत में बनी वैक्सीन लंदन भेजी गई है।

रायटर की एक खबर के अनुसार ब्रिटेन सरकार के एक प्रवक्ता ने कहा कि ब्रिटिश सरकार ने एस्ट्राजेनका के COVID-19 वैक्सीन की 100 मिलियन खुराक आर्डर किये हैं, जिसमें से 10 मिलियन खुराक भारत के सीरम इंस्टीट्यूट से आएंगी। मगर हमें कहीं भी इसे लेकर ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ का कोई इस पर कोई बयान नहीं मिला।

इस पोस्ट को ट्विटर यूजर @anandagarwal554 ने साझा किया था।  इस प्रोफ़ाइल को 2016 में बनाया गया था। इसके 5,302 फ़ॉलोअर्स हैं।

निष्कर्ष: Vishvas News ने अपनी पड़ताल में पाया कि वायरल दावा झूठा है। वायरल तस्वीर एडिटेड है। असली तस्वीर में ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ का एक दूसरा संदेश था।

  • Claim Review : जिस ब्रिटिश साम्राज्य मे कभी सुरज अस्त नहीं होता था, जिन्होंने हम पर 200साल राज किया था, वह भी आज प्रधानमंत्री मोदीजी के लिए निवेदित हो धन्यवाद प्रेषित कर रहे है ,, लंदन में महारानी एलिजाबेथ द्वितीय ने इंग्लैंड को कोरोना वैक्सीन की मदद देने के लिए मोदीजी को धन्यवाद ज्ञापन दिया।
  • Claimed By : anandagarwal554
  • Fact Check : झूठ
झूठ
    फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later