X

Fact Check: यह कॉमिक स्ट्रिप एडिटेड है; असली कॉमिक स्ट्रिप में नहीं था “चाइना वायरस” का ज़िक्र

विश्वास न्यूज़ ने अपनी पड़ताल में पाया कि वायरल दावा फर्जी है। यह स्ट्रिप एडिटेड है। असली स्ट्रिप में “चाइना वायरस” नहीं “स्लीप डेथ” लिखा हुआ था।

  • By Vishvas News
  • Updated: November 26, 2021

नई दिल्‍ली (विश्‍वास न्‍यूज)। सोशल मीडिया पर वायरल एक तस्वीर में एक फैंटम कॉमिक स्ट्रिप देखी जा सकती है, जिसमें फैंटम और एक और किरदार को मुँह पे मास्क पहनते देखा जा सकता है। तस्वीर के साथ क्लाउड बॉक्स में लिखा है, “Tie it on as I do this will protect you from the ‘China Virus’ in the valley’. पोस्ट को शेयर करते हुए यूजर दावा कर रहे हैं कि 1957 में यह कॉमिक छपी थी। विश्वास न्यूज़ ने अपनी पड़ताल में पाया कि वायरल दावा फर्जी है। यह स्ट्रिप एडिटेड है। असली स्ट्रिप में “चाइना वायरस” नहीं, “स्लीप डेथ” लिखा हुआ था।

क्या है वायरल पोस्ट में?

वायरल तस्वीर को Triveni Das नाम के फेसबुक यूजर ने शेयर किया था। वायरल तस्वीर के ऊपर लिखा है, “Tie it on as I do this will protect you from the ‘China Virus’ in the valley” जिसका हिंदी अनुवाद होता है, “इसे बांध दो जैसा कि मैं करता हूं यह आपको घाटी में ‘चाइना वायरस’ से बचाएगा” पोस्ट को शेयर करते हुए यूजर ने डिस्क्रिप्शन में लिखा है “अनुवादित: क्या तुम्हें विश्वास होगा_? यह कॉमिक प्रकाशित हुआ था 1957 में…..”

पड़ताल

इस पोस्ट को पड़ताल करने के लिए हमने इस तस्वीर को क्रॉप करके गूगल रिवर्स इमेज पर चेक किया। हमें यह कॉमिक स्ट्रिप www.newspapers.com के कॉमिक सेक्शन में अपलोडेड मिली। यहाँ मौजूद जानकारी के अनुसार, यह कॉमिक 24 अगस्त 1957 को प्रकाशित हुई थी। यहाँ मौजूद क्लिप के ऊपर क्लाउड बॉक्स में लिखा था, “Tie it on as I do this will protect you from the ‘Sleep Death’ in the valley.”

कीवर्ड्स के साथ ढूंढ़ने पर हमें पता चला कि यह स्ट्रिप द फैंटम कॉमिक के ‘द वैली ऑफ़ नो रिटर्न’ प्रकरण से उठाई गयी थी, जो 24 अगस्त 1957 को प्रकाशित हुई थी। हमें यह प्रकरण www.ipcomics.net पर भी मिला।

दोनों तस्वीरों में अंतर आप नीचे दिए गए कोलाज में देख सकते हैं।

दोनों तस्वीरों में अंतर आप इस कोलाज में देख सकते हैं।

हमने इस विषय में जाने-माने कॉमिक कलेक्टर अरुण प्रकाश से संपर्क साधा। उन्होंने कन्फर्म किया, “वायरल क्लिप एडिटेड है।  www.ipcomics.net पर दिख रही स्ट्रिप ऑथेंटिक क्लिप है।”

इस पोस्ट को Triveni Das नाम के एक फेसबुक यूजर ने शेयर किया था। यूजर झारखण्ड का रहने वाला है।

निष्कर्ष: विश्वास न्यूज़ ने अपनी पड़ताल में पाया कि वायरल दावा फर्जी है। यह स्ट्रिप एडिटेड है। असली स्ट्रिप में “चाइना वायरस” नहीं “स्लीप डेथ” लिखा हुआ था।

  • Claim Review : Would you believe_? This comic was published in 1957.....
  • Claimed By : Triveni Das
  • Fact Check : झूठ
झूठ
फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

अपना सुझाव पोस्ट करें
और पढ़े

No more pages to load

संबंधित लेख

Next pageNext pageNext page

Post saved! You can read it later