X

Fact Check: बीजेपी का झंडा लगाते लोगों की यह तस्वीर एडिटेड है, असली तस्वीर उत्तर प्रदेश की है और झंडा बसपा का था

तमिलनाडु में मानव पिरामिड पर बीजेपी का झंडा फहराने का दावा करने वाली वायरल तस्वीर फर्जी है। तस्वीर में मूल रूप से बसपा का झंडा है और यह तमिलनाडु की नहीं, बल्कि 2017 के यूपी चुनाव के दौरान शाहपुर की है।

  • By Vishvas News
  • Updated: June 9, 2022

विश्वास न्यूज (नई दिल्ली): विश्वास न्यूज को फैक्ट चेक के लिए एक तस्वीर मिली, जिसमें चार लोगों को एक के ऊपर एक खड़े होकर एक खम्बे पर बीजेपी का झंडा फहराते देखा जा सकता है। पोस्ट के साथ दावा किया जा रहा है कि यह तमिलनाडु का है। विश्वास न्यूज ने अपनी पड़ताल में पाया कि वायरल तस्वीर एडिटेड है। असली तस्वीर में झंडा बीजेपी का नहीं बसपा का था।

क्या है वायरल पोस्ट में?

ट्विटर हैंडल, प्रज्वल बुस्ता, जो एक वकील हैं और भाजपा के प्रवक्ता हैं, ने ट्विटर हैंडल पर मानव पिरामिड की एक तस्वीर साझा की, जिसमें भाजपा का झंडा फहराया गया था। कैप्शन में लिखा था: तमिलनाडु में खिल रहा है कमल  मौसम भगवामय होने की घड़ी।  संगठन गढ़े चलो, सुपंथ पर चलो।

पोस्ट और उसके आर्काइव वर्जन को यहां देखें।

https://twitter.com/PrajwalBusta/status/1534053353348399104

अन्य यूजर्स भी इसी तरह के दावों के साथ इस तस्वीर को शेयर कर रहे हैं:

पड़ताल:

विश्वास न्यूज ने गूगल रिवर्स इमेज सर्च से तस्वीर की पड़ताल शुरू की।

हमें शिरीशा स्वेरो अकिनापल्ली का ट्विटर हैंडल मिला, जिन्होंने 31 मई, 2022 को यह तस्वीर साझा की थी। मगर इस तस्वीर में झंडा बीजेपी का नहीं, बसपा का था। शिरीशा अकिनापल्ली बसपा के प्रदेश प्रवक्ता हैं।

यहां देखें ट्वीट

बहुजन समाज पार्टी, तेलंगाना के मुख्य समन्वयक डॉ आरएस प्रवीण कुमार ने भी यही पोस्ट साझा किया था। इस तस्वीर में भी झंडा बीजेपी का नहीं, बसपा का था।

यहां देखें ट्वीट:

इस प्रकार यह स्पष्ट था कि तस्वीर में बसपा का झंडा था और इसे भाजपा के झंडे से बदल दिया गया था।

विश्वास न्यूज ने जांच के अंतिम चरण में बसपा के प्रदेश अध्यक्ष तेलंगाना एम बलैया से संपर्क किया। हमने उन्हें यह तस्वीर वॉट्सऐप के जरिए भेजी। उन्होंने यह भी पुष्टि की कि तस्वीर में बसपा का झंडा है न कि भाजपा का।

हालांकि, अभी तक यह साफ नहीं हो पाया था कि यह तस्वीर असल में कहां की है। इसके बाद विश्वास न्यूज ने तेलंगाना के कुछ पत्रकारों से संपर्क किया, जिन्होंने हमें बसपा सदस्यों से संपर्क कराया।

तेलंगाना से बसपा के एक सदस्य अजय ने पुष्टि की कि झंडा वास्तव में बसपा का है, लेकिन तस्वीर तेलंगाना की नहीं है। उन्होंने हमें बताया कि तस्वीर उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव, 2017 की है। उन्होंने हमें बताया कि यह तस्वीर यूपी के रहने वाले रोहिताश कुमार ने ली थी।

विश्वास न्यूज ने अपने अगले चरण की जांच में रोहिताश कुमार से संपर्क किया। उन्होंने हमें बताया कि तस्वीर उनके द्वारा वर्ष 2017 में उत्तर प्रदेश के शाहपुर में क्लिक की गई थी। उन्होंने यह भी पुष्टि की कि बसपा का झंडा उनके चचेरे भाइयों टीटू, रिंकू, बबलू और अरविंद ने फहराया था। रोहिताश कुमार ने यह भी बताया कि झंडा अभी भी शाहपुर, कुतुब, अलीगढ़ में उसी स्थान पर है, जहां से तस्वीर क्लिक की गई थी और उसी की तस्वीरें भी साझा कीं।

ट्विटर यूजर आर राजगोपालन, जिन्होंने दावा किया कि यह तस्वीर तमिलनाडु के सुदूरवर्ती गांव ओसुर की है, एक मीडिया हस्ती है। ट्विटर पर उनके 38.4K फॉलोअर्स हैं।

निष्कर्ष: तमिलनाडु में मानव पिरामिड पर बीजेपी का झंडा फहराने का दावा करने वाली वायरल तस्वीर फर्जी है। तस्वीर में मूल रूप से बसपा का झंडा है और यह तमिलनाडु की नहीं, बल्कि 2017 के यूपी चुनाव के दौरान शाहपुर की है।

  • Claim Review : Lotus is blooming in Tamil Nadu
  • Claimed By : Prajwal Busta
  • Fact Check : झूठ
झूठ
फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

अपना सुझाव पोस्ट करें
और पढ़े

No more pages to load

संबंधित लेख

Next pageNext pageNext page

Post saved! You can read it later