Fact Check: नेहरू के नाम पर वायरल हो रहा बयान फर्जी है

0

नई दिल्ली ( विश्वास टीम)। काफी समय से सोशल मीडिया पर जवाहरलाल नेहरू को लेकर कई गलत अफवाहें फैलती रहीं हैं, इसी कड़ी में आज कल सोशल मीडिया पर एक फोटो वायरल हो रहा है जिसमें ऊपर नेहरू का फोटो लगा है। फोटो के नीचे लिखा है- ‘मैं शिक्षा से ईसाई, संस्कृति से मुस्लिम, दुर्भाग्य से हिन्दू हूं। असल में बयान गलत है। हमने अपनी पड़ताल में पाया कि नेहरू ने नहीं, बल्कि हिन्दू महासभा के लीडर एनबी खरे ने कहा था कि नेहरू ‘शिक्षा से ईसाई, संस्कृति से मुस्लिम, दुर्भाग्य से हिन्दू’ हैं।

पड़ताल

हमने अपनी पड़ताल शुरू की और पाया कि यह मैसेज सोशल मीडिया के सभी प्लेटफॉर्म्स पर वायरल था।

हमने इस तस्वीर को गूगल रिवर्स इमेज पर सर्च किया पर हमें सब जगह यह तस्वीर इसी बयान के साथ मिली। अपनी पड़ताल को आगे बढ़ाने के लिए हमने इस बयान को इंग्लिश कीवर्ड्स “I am English by education, Muslim by culture and Hindu merely by accident” के साथ गूगल सर्च किया। इस सर्च में हमारे हाथ डेक्कन क्रॉनिकल अखबार के हैदराबाद एडिशन की एक कॉपी लगी जिसमे 18 नवंबर, 2018 को इस बयान को नेहरू का बताते हुए छापा गया था।

इसी पड़ताल में हमारे हाथ डेक्कन क्रॉनिकल की 25 नवंबर को पब्लिश हुए अख़बार की करेक्शन कॉपी लगी जिसमे लिखा था ” The quote, “I am… a Hindu only by accident of birth”, was erroneously attributed to Jawaharlal Nehru on the ‘360 page published on Nov 18. It was an alligation made my Hindu Maha Sabha leader N.B. Khare in 1959. We deeply regret the error”. हिंदी: “मैं … केवल जन्म की दुर्घटना से एक हिंदू हूँ”, बयान गलती से जवाहरलाल नेहरू के बयान के रूप में 18 नवंबर को प्रकाशित हो गया था। यह बयान असल में हिंदू महासभा के नेता एन.बी. खरे का था, जो उन्होंने 1959 में दिया था। हमें इस त्रुटि पर गहरा अफसोस है “। Deccan Chronicle की तरफ से स्पष्टीकरण और माफीनामे की कटिंग नीचे देखी जा सकती है।

इस स्पष्टीकरण में N.B. Khare का नाम सामने आया तो हमने इसको आधार बनाते हुए अपनी पड़ताल को आगे बढ़ाया और हमें इतिहासकार बाल राम नंदा की किताब The Nehrus: Motilal and Jawaharlal में वह वायरल बयान मिला। नंदा के अनुसार, हिंदू महासभा के नेता एनबी खरे ने नेहरू को ‘शिक्षा से ईसाई, संस्कृति से मुस्लिम, दुर्भाग्य से हिन्दू’ बताया था।

इसी कड़ी में हमारे हाथ शशि थरूर की किताब Nehru: The Invention of India लगी। इस किताब में भी इस बयान का ज़िक्र है और बताया गया है कि एनबी खरे ने यह बयान नेहरू की छवि को बिगाड़ने के लिए कहा था।

इस पोस्ट को हाल में Vedika Arya नामक फेसबुक यूजर ने भी शेयर किया था। हमने इस प्रोफाइल को Stalkscan पर सर्च किया। वेदिका आर्य का फेसबुक इंट्रो है “मे सनातनी हिन्दू हूं…. सैकुलर मेरी id से दूर रहे.. ओउम….. 🚩🚩 जय श्री राम 🚩🚩”। इनके कुल 1,093 फेसबुक फॉलोअर्स हैं और ये कैथल की रहने वाली हैं।

निष्कर्ष: हमारी पड़ताल में हमने पाया कि नेहरू के नाम पर शेयर किया जा रहा पोस्ट गलत है। नेहरू ने नहीं, बल्कि हिन्दू महासभा के लीडर एनबी खरे ने कहा था कि नेहरू ‘शिक्षा से ईसाई, संस्कृति से मुस्लिम, दुर्भाग्य से हिन्दू’ हैं।

पूरा सच जानें… सब को बताएं

सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी खबर पर संदेह है जिसका असर आप, समाज और देश पर हो सकता है तो हमें बताएं। हमें यहां जानकारी भेज सकते हैं। हमें contact@vishvasnews.com पर ईमेल कर सकते हैं। इसके साथ ही वॅाट्सऐप (नंबर – 9205270923) के माध्यम से भी सूचना दे सकते हैं।

Written BY Pallavi Mishra
  • Claim Review : नेहरू ने कहा ‘मैं शिक्षा से ईसाई, संस्कृति से मुस्लिम, दुर्भाग्य से हिन्दू हूं।
  • Claimed By : Facebook user Vedika Arya
  • Fact Check : False

टैग्स

संबंधित लेख