X

Fact Check: यह महाराणा प्रताप की तलवार नहीं है

  • By Vishvas News
  • Updated: June 8, 2020

नई दिल्ली (विश्वास टीम)। सोशल मीडिया पर किसी संग्रहालय में रखी एक तलवार की तस्वीर वायरल हो रही है, जिसे लेकर दावा किया जा रहा है कि यह महाराणा प्रताप की तलवार है, जिसका वजन करीब 50 किलोग्राम है।

विश्वास न्यूज की पड़ताल में यह दावा फर्जी निकला। वायरल हो रही तस्वीर में नजर आ रही तलवार स्पेन के ग्रैनाडा के आखिरी आमिर (सुल्तान) मुहम्मद XII की है।

क्या है वायरल पोस्ट में?

फेसबुक यूजर ने वायरल तस्वीर को शेयर (आर्काइव लिंक) करते हुए लिखा है, ”The sword of Maharana Pratap weighing 50 kgs approx… Imagine what would have been his strength to carry a 50kg sword in one hand and an Armour weighing 80kgs on the other hand and attacking the enemy from a running horse !! 😍😍
It is the same sword by which in the battle of Haldighati, Maharana Pratap sliced one of the Mughal opponent Behlol Khan into two along with his horse!! 🚩🚩🚩”

फेसबुक पर गलत दावे के साथ वायरल हो रही तस्वीर

हिंदी में इसे ऐसे पढ़ा जा सकता है, ”करीब 50 किलोग्राम वजनी महाराणा प्रताप की तलवार।  आप उस आदमी की ताकत का अंदाजा लगा सकते हैं, जिसके एक हाथ में 50 किलो की तलवार और दूसरे हाथ में 80 किलो की ढाल थी और वह दोनों के साथ दौड़ते घोड़े पर सवार होकर दुश्मनों पर हमला करता था। इसी तलवार की मदद से हल्दीघाटी की लड़ाई में महाराणा प्रताप ने मुगल शासक बहलोल खान और उसके घोड़े के दो टुकडे़ कर दिए थे।”

पड़ताल किए जाने तक इस पोस्ट को करीब 250 से अधिक लोग शेयर कर चुके हैं। सोशल मीडिया पर अन्य यूजर्स ने भी तलवार की इस तस्वीर को समान दावे के साथ शेयर किया है।

पड़ताल

वायरल पोस्ट में नजर आ रही तलवार की तस्वीर को रिवर्स इमेज किए जाने पर हमें imgur.com की फोटो गैलरी में यह तस्वीर मिली। तस्वीर के साथ दी गई जानकारी के मुताबिक, यह तलवार स्पेन के ग्रैनाडा के आखिरी सुल्तान मुहम्मद XII की है।

Source-imgur.com

यहां से मिले की-वर्ड के साथ सर्च करने पर हमें sword-site.com की वेबसाइट पर 27 सितंबर 2013 को प्रकाशित आर्टिकल का लिंक मिला, जिसमें इसी तलवार की तस्वीर समान दावे के साथ इस्तेमाल की गई है।

Source-sword-site.com

रिपोर्ट में तलवार के साथ अन्य वस्तुओं की तस्वीर का भी इस्तेमाल किया गया है। दी गई जानकारी के मुताबिक, तलवार समेत यह सभी समान बोबदिल (Boabdil) की है। इनसाइक्लोपीडिया ब्रिटैनिका पर उपलब्ध जानकारी के मुताबिक, मुहम्मद XII का स्पेनिश नाम बोबदिल था, जो स्पेन के ग्रैनाडा पर शासन करने वाले नसरीद राजवंश के आखिरी सुल्तान थे।

Source-Britannica.com

यानी जिस तलवार को महाराणा प्रताप का बताकर वायरल किया जा रहा है, वह स्पेन के ग्रैनाडा के आखिरी शासक मुहम्मद XII की है। इसके बाद हमने सोशल सर्च का सहारा लिया। सर्च में हमें यू-ट्यूब पर 30 जुलाई 2013 को अपलोड किया गया एक वीडियो मिला, जिसे ‘bmanishap’ नाम के यूजर्स ने अपलोड किया है।

अपलोड किया गया वीडियो राणा प्रताप म्यूजियम (उदयपुर) का है और इसमें महाराणा प्रताप की तलवार और अन्य साजो-समान को देखा जा सकता है।

विश्वास न्यूज ने इसके बाद इस म्यूजियम के प्रभारी भूपेंद्र श्रीमाली से संपर्क किया। उन्होंने हमें बताया, ‘वायरल हो रही तस्वीर महाराणा प्रताप से संबंधित नहीं है। महाराणा प्रताप जिस तलवार का इस्तेमाल करते थे वह उदयपुर सिटी पैलेस में संरक्षित है।’

‘इकॉनमिक टाइम्स’ में प्रकाशित एक रिपोर्ट के मुताबिक, ‘महाराणा प्रताप दो तलवारों का इस्तेमाल करते थे, जिसका वजन करीब 25-25 किलो था। फिलहाल यह तलवारें उदयपुर में महाराणा प्रताप संग्रहालय में रखी हुई हैं।’

वायरल तस्वीर को शेयर करने वाले यूजर को फेसबुक पर करीब 600 लोग फॉलो करते हैं।

निष्कर्ष: सोशल मीडिया पर महाराणा प्रताप के तलवार के दावे के साथ वायरल हो रही तस्वीर में नजर आ रही तलवार स्पेन के ग्रैनाडा पर शासन करने वाले नसरीद राजवंश के आखिरी शासक मुहम्मद XII की है।

  • Claim Review : महाराणा प्रताप की तलवार
  • Claimed By : FB User-Romit Singh
  • Fact Check : झूठ
झूठ
    फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later