X

Fact Check: AAP नेताओं का यह वीडियो अरविंद केजरीवाल को कथित रूप से घर में नजरबंद किये जाने से जुड़ा नहीं है

  • By Vishvas News
  • Updated: December 11, 2020

नई दिल्ली (विश्वास न्यूज़)। सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है। वीडियो में आम आदमी पार्टी के नेताओं को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ नारेबाजी करते देखा जा सकता है। यूजर्स वीडियो को शेयर करते हुए दावा कर रहे हैं कि वीडियो में ये आप नेता दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को कथित रूप से घर में नजरबंद किये जाने के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं।

Vishvas News ने दावे की जांच की और पाया कि वायरल वीडियो मई 2019 का है, जब AAP नेताओं ने दिल्ली में चुनाव आयोग के कार्यालय के बाहर विरोध प्रदर्शन किया था। उस समय AAP नेता दिल्ली पुलिस द्वारा उनके कॉल सेंटरों पर एक कथित छापे के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे थे।

क्या है वायरल पोस्ट में?

फेसबुक यूजर Lekhraj Jarwal ने इस वीडियो को शेयर कर दावा किया, “जब जब मोदी डरता है पुलिस को आगे करता है.. हार के डर से गुंडागर्दी नहीं चलेगी नहीं चलेगी। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को हाउस अरेस्ट करने के विरोध में आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता धरने पर बैठे.. #BJPHouseArrestsKejriwal #आजभारतबंद_है”

पोस्ट का आर्काइव लिंक यहां देखें।

पड़ताल

अपनी पड़ताल शुरू करते हुए हमने सबसे पहले इस वीडियो को InVID टूल पर डाला और कीफ्रेम्स निकाले। फिर इन कीफ्रेम्स को हमने Google रिवर्स इमेज टूल के जरिये सर्च करना शुरू किया। हमें 16 मार्च 2019 को Pal Pal News नाम के वेरिफाइड यूट्यूब चैनल पर इसी धरने का एक वीडियो मिला। वीडियो दूसरे एंगल से लिया गया था मगर आप नेताओं की वेश-भूषा, कपड़े आसपास लगे बैरिकेड से पता चलता है कि यह वीडियो वायरल धरने का ही है। इस वीडियो के साथ डिस्क्रिप्शन में लिखा था, “जब जब मोदी डरता है पुलिस को आगे करता है ||Sanjay Singh||”

हमें वायरल वीडियो से मिलते हुए कुछ फोटोज भी मिले, जिन्हें AAP के आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर 15 मार्च, 2019 को अपलोड किया गया था।

हमने इस विषय में पुष्टि के लिए Pal Pal News की एडिटर खुशबू अख्तर से संपर्क साधा। उन्होंने कहा “इस वीडियो को हमारे एक कैमरामैन ने कैप्चर किया था। वीडियो मई 2019 का है। उस समय AAP नेताओं ने दिल्ली में चुनाव आयोग के ऑफिस के सामने विरोध प्रदर्शन किया था। वे दिल्ली पुलिस द्वारा उनके कॉल सेंटरों पर एक कथित छापे के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे थे।”

आप के कॉल सेंटरों पर कथित छापों को लेकर आप नेताओं के प्रदर्शन की एक खबर हमें इंडियन एक्सप्रेस पर भी मिली, जिसमें वायरल वीडियो से मिलता-जुलता थंब इमेज देखा जा सकता है। 15 मार्च 2019 को पब्लिश्ड खबर के अनुसार, “उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के नेतृत्व में AAP कार्यकर्ता शुक्रवार को चुनाव आयोग के बाहर धरने पर बैठ गए और आरोप लगाया कि लोगों को जागरूक करने के लिए पार्टी द्वारा किराए पर लिए गए कॉल सेंटरों पर छापे मारे जा रहे हैं।”

हमने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के कथित हाउस अरेस्ट को लेकर इंटरनेट पर कीवर्ड सर्च किया। 8 दिसंबर को प्रकाशित जागरण की एक खबर के अनुसार, “जहां एक ओर किसान आंदोलन जारी है वहीं भारत बंद को लेकर राजनीतिक सरगर्मी भी तेज हो गई है। इस बीच खबर आ रही है कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को उनके घर में नजरबंद कर दिया है। यह आरोप आम आदमी पार्टी ने लगाया है। AAP विधायक सौरभ भारद्वाज का कहना है कि सोमवार को सिंघु बॉर्डर पर किसानों से मिलकर आने के बाद दिल्ली पुलिस ने अरविंद केजरीवाल के आवास के बाहर बैरिकेड लगा दिए हैं। ऐसे में नजरबंद जैसा हालात हो गए गए हैं। वहीं, दिल्ली पुलिस ने आरोपों के बाबत कहा है कि भाजपा कार्यकर्ता सीएम के घर के बाहर प्रदर्शन कर रहे हैं। ऐसे में भिड़ंत नहीं हो, इसलिए सुरक्षा व्यवस्था कड़ी की गई है। बता दें कि भारतीय जनता पार्टी के नेता और कार्यकर्ता अरविंद केजरीवाल के घर के बाहर सोमवार से ही लगातार प्रदर्शन कर रहे हैं।”

हालांकि, केजरीवाल की कथित गिरफ्तारी के बाद 8 दिसंबर को AAP नेता ने मुख्यमंत्री आवास के बाहर धरना-प्रदर्शन किया था। न्यूज़ एजेंसी एएनआई ने इस विरोध का वीडियो भी ट्वीट किया था। यह वीडियो वायरल वीडियो से बिल्कुल अलग है।

हमने फर्जी दावे के साथ इस फोटो को शेयर करने वाले फेसबुक यूजर Lekhraj Jarwal के प्रोफाइल को स्कैन किया। यूजर के फेसबुक पर 16,604 फोलोअर्स हैं। यूजर दिल्ली का रहने वाला है।

निष्कर्ष: Vishvas News ने दावे की जाँच की और पाया कि वायरल वीडियो मई 2019 का है, जब AAP नेताओं ने दिल्ली में चुनाव आयोग के कार्यालय के बाहर विरोध प्रदर्शन किया। AAP नेता दिल्ली पुलिस द्वारा उनके कॉल सेंटरों पर एक कथित छापे के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे थे।

  • Claim Review : मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को हाउस अरेस्ट करने के विरोध में आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता धरने पर बैठे
  • Claimed By : Lekhraj Jarwal
  • Fact Check : झूठ
झूठ
    फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later