X

Fact Check: तोड़फोड़ का ये वीडियो कोलकाता का नहीं, बांग्लादेश का है

  • By Vishvas News
  • Updated: January 2, 2020

विश्वास न्यूज (नई दिल्ली)। CAA को लेकर देश में अभी भी विरोध प्रदर्शनों का दौर जारी है। ऐसे में सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें कुछ लोगों को एक रेलवे स्टेशन पर तोड़फोड़ करते देखा जा सकता है। वीडियो के साथ दावा किया जा रहा है कि ये कोलकाता की घटना है और तोड़फोड़ करने वाले लोग बांग्लादेशी रिफ्यूजी हैं। हमने अपनी पड़ताल में पाया कि वीडियो असल में बांग्लादेश के ब्राह्मणबाड़िया का है और 2016 का है। वीडियो का CAA से कोई लेना देना नहीं है।

CLAIM

सोशल मीडिया पर वायरल इस वीडियो में कुछ लोगों को एक रेलवे स्टेशन पर तोड़फोड़ करते देखा जा सकता है। वीडियो के साथ डिस्क्रिप्शन में लिखा है “This scene from Kolkata, these are Bangladesh Refugees, they don’t have any citizenship, if they dare to do this even without citizenship what happens after giving them Citizenship, God bless our Country 🙏🏼”

जिसका हिंदी अनुवाद होता है “कोलकाता का यह दृश्य, ये बांग्लादेशी शरणार्थी हैं, उनके पास कोई नागरिकता नहीं है, अगर वे नागरिकता के बिना भी ऐसा करने का साहस करते हैं तो उन्हें नागरिकता देने के बाद क्या होगा, भगवान हमारे देश को आशीर्वाद दें।”

इस पोस्ट के आर्काइवड वर्जन को यहाँ देखा जा सकता है।

FACT CHECK

इस पोस्ट की पड़ताल करने के लिए हमने सबसे पहले इस वीडियो को ठीक से देखा। वीडियो 4 मिनट 58 सेकंड का है। वीडियो में 41 सेकंड पर एक बोर्ड देखा जा सकता है जिसपर बंगाली में कुछ लिखा है। हमारी बंगाली भाषा के एक्सपर्ट ने हमें बताया कि बोर्ड पर ब्राह्मणबाड़िया लिखा है।

हमने इंटरनेट पर ढूंढा तो पाया कि ब्राह्मणबाड़िया बांग्लादेश में एक जगह है।

इसके बाद हमने इस वीडियो को Invid टूल पर डाला और इस वीडियो के कीफ्रेम्स निकाले। फिर हमने इन कीफ्रेम्स को गूगल रिवर्स इमेज पर ‘Brahmanbaria Violence’ कीवर्ड के साथ सर्च किया। ढूंढ़ने पर हमें कुछ न्यूज़ पोर्टल्स पर एक खबर मिली। इसमें इस वीडियो के स्क्रीनशॉट्स का इस्तेमाल किया गया था।

daily-sun.com की खबर (आर्काइव लिंक) के अनुसार ये घटना 2016 जनवरी की है जब एक झड़प में मदरसा छात्र की मौत को लेकर बांग्लादेश के ब्राह्मणबाड़िया जिले में हिंसा हुई थी।

हमें ये खबर बांग्लादेश की ही एक और न्यूज़ वेबसाइट thedailystar.net(आर्काइव लिंक) पर भी मिली।

वायरल पोस्ट में दावा किया गया है कि ये घटना कोलकाता की है, इसलिए हमने ईस्टर्न रेलवे के पीआरओ निखिल चक्रवर्ती से बात की। उन्होंने कहा,“ईस्टर्न रेलवे के अंडर ब्राह्मणबाड़िया नाम का कोई रेलवे स्टेशन नहीं है। मेरी जानकारी में कोलकाता में रेलवे स्टेशन को नुकसान पहुँचाने की ऐसी कोई घटना बीते दिनों में नहीं हुई है।”

इस वीडियो को सोशल मीडिया पर कई लोग शेयर कर रहे हैं। इन्ही में से एक है Seku Madhu नाम का फेसबुक प्रोफाइल। इस प्रोफाइल के अनुसार ये हैदराबाद का रहने वाला है और इसके फेसबुक पर 85 फ्रेंड्स हैं।


निष्कर्ष: हमने अपनी पड़ताल में पाया कि वीडियो असल में बांग्लादेश का है। वीडियो 2016 जनवरी का है जब एक झड़प में मदरसा छात्र की मौत को लेकर बांग्लादेश के ब्राह्मणबाड़िया जिले में हिंसा हुई थी। वीडियो का CAA से कोई लेना देना नहीं है।

जानिए सच्‍ची और झूठी सबरों का सच क्विज खेलिए और सीखिए स्‍टोरी फैक्‍ट चेक करने के तरीके क्विज खेले

पूरा सच जानें...

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी खबर पर संदेह है जिसका असर आप, समाज और देश पर हो सकता है तो हमें बताएं। हमें यहां जानकारी भेज सकते हैं। हमें contact@vishvasnews.com पर ईमेल कर सकते हैं। इसके साथ ही वॅाट्सऐप (नंबर – 9205270923) के माध्‍यम से भी सूचना दे सकते हैं।

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later