X

Fact Check:यह तस्वीर अरुणचाल प्रदेश में भारतीय और चीनी सैनिकों के टकराव की नहीं, LAC नाम से बन रही फिल्म की शूटिंग का दृश्य है

अरुणाचल प्रदेश में भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच झड़प के दावे के साथ वायरल हो रही तस्वीर एलएसी नाम से बनने वाली फिल्म की शूटिंग का दृश्य है।

  • By Vishvas News
  • Updated: October 12, 2021

नई दिल्ली (विश्वास न्यूज)। अरुणाचल प्रदेश में भारत और चीन के बीच हालिया सीमा विवाद के बाद सोशल मीडिया पर वायरल हो रही एक तस्वीर में भारत और चीन के सैनिकों को देखा जा सकता है। दावा किया जा रहा है कि अरुणचाल प्रदेश में भारतीय सेना के जवानों ने करीब डेढ़ सौ से अधिक चीनी सैनिकों को बंधक बना लिया था और यह तस्वीर उसी घटना की है।

विश्वास न्यूज की जांच में यह दावा गलत निकला। अरुणाचल प्रदेश में भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच संघर्ष के दावे के साथ वायरल हो रही तस्वीर वास्तव में एलएसी नाम की फिल्म की शूटिंग का दृश्य है। यूट्यूब पर मौजूद शूटिंग के इसी वीडियो के स्क्रीनशॉट को अरुणाचल प्रदेश मे भारतीय सैनिकों के चीनी सैनिकों को बंधक बनाए जाने के दावे के साथ वायरल किया जा रहा है।

क्या है वायरल पोस्ट में?

फेसबुक यूजर ‘शैलेन्द्र प्रताप सिंह’ ने वायरल तस्वीर (आर्काइव लिंक) को शेयर करते हुए लिखा है, ”हमारे आपके जवान राहुल गांधी कभी इस पर ट्वीट नहीं करेगा कि भारतीय सेना ने अरुणाचल में डेढ़ सौ से ज्यादा चीनी सैनिकों को बंदी बना लिया, फिर जब चीन के सेना के कमांडर और भारतीय कमांडर के बीच में मीटिंग हुई उसके बाद ही उन्हें छोड़ा गया.. ये है बदलता भारत.. 🚩 जय हिन्द 🇮🇳🚩।”

सोशल मीडिया पर गलत दावे के साथ वायरल हो रही तस्वीर

सोशल मीडिया पर कई अन्य यूजर्स ने इस तस्वीर को समान और मिलते-जुलते दावे के साथ शेयर किया है।

ट्विटर पर भी कई अन्य यूजर्स ने इस तस्वीर को समान दावे के साथ शेयर किया है।

https://twitter.com/RitaSinghal6/status/1447139245689217026

पड़ताल

वायरल हो रही तस्वीर के साथ किए गए दावे की सत्यता को परखने के लिए हमने गूगल रिवर्स इमेज सर्च की मदद ली। सर्च में हमें मंडारिन भाषा की वेबसाइट www.juduo.cc की वेबसाइट पर 23 दिसंबर 2020 को प्रकाशित रिपोर्ट मिली, जिसमें वायरल तस्वीर का इस्तेमाल किया गया है। रिपोर्ट में दी गई जानकारी के मुताबिक, ‘यह तस्वीर भारत और चीनी सैनिकों के बीच हुए संघर्ष पर बन रही फिल्म गलवान वैली की शूटिंग का दृश्य है।’


www.juduo.cc की वेबसाइट पर 23 दिसंबर 2020 को प्रकाशित रिपोर्ट में इस्तेमाल की गई तस्वीर

संबंधित जानकारी के आधार पर कीवर्ड सर्च के दौरान हमें यूट्यूब पर छह दिसंबर 2020 को अपलोड किया गया वीडियो मिला।

‘the suru studio’ नाम के यूट्यूब चैनल ने इस वीडियो को अपलोड करते हुए इसे लद्दाख का बताया है, जहां एलएसी फिल्म की शूटिंग चल रही है। इस फिल्म में राहुल रॉय और सुशांत जैसे कलाकार लीड रोल में हैं। चार मिनट 44 सेकेंड के वीडियो में एक मिनट 16 सेकेंड के फ्रेम में उस दृश्य को देखा जा सकता है, जो वायरल तस्वीर से हूबहू मिलता है। हमारी पड़ताल में यह स्पष्ट है कि वायरल हो रही तस्वीर अरुणाचल प्रदेश में भारत और चीनी सैनिकों के बीच हुई सैन्य झड़प से संबंधित नहीं है।

हमारे सहयोगी दैनिक जागरण की मुंबई स्थिति एंटरटेनमेंट बीट को कवर करने वाली पत्रकार स्मिता श्रीवास्तव ने बताया, ‘वायरल हो रही तस्वीर फिल्म एलएसी की शूटिंग की ही तस्वीर है। इस फिल्म की शूटिंग अभी तक पूरी नहीं हो पाई है।’ imdb.com की वेबसाइट पर भी इस फिल्म के बारे में जानकारी मौजूद है।

Source-imdb.com

वायरल तस्वीर को हमने भारतीय सेना के प्रवक्ता के साथ भी साझा किया। हालांकि, स्टोरी लिखे जाने तक हमें उनकी तरफ से कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली है।

न्यूज सर्च में हमें ऐसी कई रिपोर्ट मिली, जिसके मुताबिक हाल ही में अरुणाचल प्रदेश में वास्तविक नियंत्रण रेखा पर भारत और चीन के सैनिक आमने-सामने की स्थिति में आ गए और इस दौरान दोनों देशों के सैनिकों के बीच मामूली झड़प भी हुई थी और इस दौरान भारतीय सैनिकों ने चीन के करीब दो सौ सैनिकों को रोक दिया था। भारतीय सैनिकों की परसेप्शन के मुताबिक, ये चीन सैनिक वास्तविक नियंत्रण रेखा को पार कर भारतीय सीमा में घुस आए थे।

वायरल तस्वीर को गलत दावे के साथ शेयर करने वाले यूजर को फेसबुक पर करीब 15 हजार से अधिक लोग फॉलो करते हैं।

निष्कर्ष: अरुणाचल प्रदेश में भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच झड़प के दावे के साथ वायरल हो रही तस्वीर एलएसी नाम से बनने वाली फिल्म की शूटिंग का दृश्य है। यह फिल्म गलवान घाटी में भारत और चीन के सैनिकों के बीच हुई हिंसक झड़प पर आधारित है, जिसकी शूटिंग अभी तक पूरी नहीं हुई है। इसी शूटिंग के दृश्य को अरुणाचल प्रदेश में भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच हुए टकराव का बताकर वायरल किया जा रहा है।

  • Claim Review : भारतीय सेना ने अरुणाचल में डेढ़ सौ से ज्यादा चीनी सैनिकों को बंदी बना लिया
  • Claimed By : FB User-शैलेन्द्र प्रताप सिंह
  • Fact Check : झूठ
झूठ
फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

अपना सुझाव पोस्ट करें
और पढ़े

No more pages to load

संबंधित लेख

Next pageNext pageNext page

Post saved! You can read it later