X

Fact Check: निर्भया आंदोलन के समय की तस्वीर हो रही वायरल, JNU में जारी विरोध प्रदर्शन से कोई लेना-देना नहीं

  • By Vishvas News
  • Updated: November 21, 2019

नई दिल्ली (विश्वास टीम)। हॉस्टल फीस में हुए इजाफे के बाद जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) में चल रहे विरोध प्रदर्शन को लेकर एक तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है, जिसमें दिल्ली पुलिस के जवान एक लड़की पर लाठी चलाते हुए नजर आ रहे हैं। विश्वास न्यूज की पड़ताल में यह तस्वीर गुमराह करने वाला निकला। इस तस्वीर का जेएनयू में चल रहे विरोध प्रदर्शन से कोई लेना-देना नहीं है।

क्या है वायरल पोस्ट में?

फेसबुक यूजर जागलान मनीष चौधरी ने एक तस्वीर को शेयर करते हुए लिखा है, ‘’नया भारत राष्ट्रवाद -नये भारत में आपका स्वागत है। जब लाठी खाएंगी बेटियां, तभी तो बढ़ेंगी बेटियां… स्लोगन बदल गया है। वाह रे मेरा लोकतांत्रिक देश।’’

पड़ताल

रिवर्स इमेज के दौरान हमें अंग्रेजी वेबसाइट इंडिया टुडे पर 23 दिसंबर 2012 को प्रकाशित खबर मिली, जिसमें निर्भया आंदोलन के दौरान पुलिस के लाठीचार्ज किए जाने का जिक्र है। इसी खबर में हमें यह तस्वीर लगी मिली।

इंडिया टुडे में दिसंबर 2012 को प्रकाशित खबर में इस्तेमाल की गई तस्वीर

एडवांस सर्च में हमें यही तस्वीर न्यूज एजेंसी रॉयटर्स की वेबसाइट पर भी मिली, जिसे 22 दिसंबर 2012 को अपलोड किया गया है। तस्वीर के साथ दी गई जानकारी के मुताबिक, ‘नई दिल्ली में 22 दिसंबर 2012 को राष्ट्रपति भवन के पास प्रदर्शनकारियों पर लाठी चलाता पुलिसकर्मी।’

Image Credit-Reuters

रॉयटर्स के लिए यह तस्वीर फोटोग्राफर अदनान अबीदी ने खींची थी। विश्वास न्यूज ने उनसे संपर्क किया है। अबीदी ने बताया कि इस तस्वीर का जेएनयू में चल रहे मौजूदा आंदोलन से कोई संबंध नहीं है। उन्होंने कहा, ‘2012 में निर्भया बलात्कार कांड के खिलाफ चल रहे विरोध प्रदर्शन के दौरान पुलिस ने प्रदर्शनकारियों पर लाठीचार्ज किया था। यह तस्वीर उसी समय की है।’

जेएनयू छात्रों के आंदोलन को लेकर लगातार सोशल मीडिया पर गलत और भ्रामक दावे के साथ अन्य विरोध प्रदर्शन की तस्वीरों को फैलाया जा रहा है। विश्वास न्यूज ने पहले भी ऐसे कई दावों की पड़ताल कर उन्हें झूठा साबित किया है।

निष्कर्ष: महिला प्रदर्शनकारियों पर लाठीचार्ज की यह तस्वीर 2012 में हुए निर्भया बलात्कार कांड के खिलाफ हुए विरोध प्रदर्शन की है। इस तस्वीर का जेएनयू में जारी विरोध प्रदर्शन से कोई लेना-देना नहीं है।

  • Claim Review : नये भारत में आपका स्वागत है। जब लाठी खाएंगी बेटियां, तभी तो बढ़ेंगी बेटियां
  • Claimed By : FB User-जागलान मनीष चौधरी
  • Fact Check : झूठ
झूठ
    फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

कोरोना वायरस से कैसे बचें ? PDF डाउनलोड करें और जानिए कोरोना वायरस से जुड़ी महत्वपूर्ण सूचना

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later