Fact Check: प्रशांत और हिंद महासागर के मिलने की गलत तस्वीर फर्जी दावे के साथ हो रही वायरल

0

नई दिल्ली (विश्वास टीम)। सोशल मीडिया पर एक तस्वीर वायरल हो रही, जिसमें समंदर की तस्वीर लगी हुई है। वायरल हो रही तस्वीर में दो अलग-अलग रंग का पानी नजर आ रहा है, और दावा किया जा रहा है कि यह दो महासागर का पानी है, जो एक-दूसरे में नहीं मिलते। फेसबुक पोस्ट के मुताबिक, ‘प्रशांत महासागर और हिंद महासागर, आपस में मिलते जरूर हैं, मगर मिक्स नहीं होते।’

विश्वास न्यूज की जांच में यह दावा गलत साबित होता है। वायरल पोस्ट में दिख रहा महासागर प्रशांत और हिंद महासागर नहीं है।

क्या है वायरल पोस्ट में?

फेसबुक पर शेयर किए गए पोस्ट में तस्वीर लगी हुई है और दावा किया गया है कि प्रशांत महासागर और हिंद महासागर एक-दूसरे में मिलते हैं, लेकिन उनका पानी आपस में कभी नहीं मिलता है।

पोस्ट में लिखा हुआ है, ‘प्रशांत महासागर और हिंद महासागर आपस में मिलते जरूर है, मगर मिक्स नहीं होते।’

पड़ताल

सर्च में हमें पता चला कि यह तस्वीर और इससे जुड़ा हुआ वीडियो समान और मिलते-जुलते दावे के साथ पहले भी सोशल मीडिया पर वायरल होता रहा है, जिसमें दावा किया गया है कि प्रशांत महासागर और अटलांटिक महासागर एक-दूसरे से मिलते हैं, लेकिन उनका पानी एक-दूसरे में नहीं मिलता।

यू-ट्यूब पर भी ऐसे कई वीडियो को देखा जा सकता है, जिसमें यही दावा किया गया है। यहां भी हमें वहीं वीडियो मिला, जो फेसबुक और ट्विटर पर शेयर किया गया था।

सर्च में हमें यू-ट्यूब पर एक वीडियो मिला, जिसे कॉपीराइट के दावे के साथ इस कैप्शन, ‘© When the River Meets the Ocean (Fraser River water flows into the Strait of Georgia)’, से 4 जुलाई 2015 को अपलोड किया गया था।

मारया पियर्सन ने इस वीडियो अपलोड करते हुए लिखा है, ‘The river water (Fraser River) flows into the ocean water (Strait of Georgia): a short video clip shot from the BC Ferries boat from Nanaimo, Vancouver Island (Duke Point) to Vancouver  (Tsawwassen). Please share only or comment but do not upload and use without consent from me or due credit, and do not give fake information about the video. I have registered the original video in my computer for copyright Thank you!’

कैप्शन के मुताबिक, यह वीडियो बीसी फेरीज बोट से वैंकूवर द्वीप (ड्यूक प्वाइंट)-वैंकूवर (सवासनी प्वाइंट) के बीच फिल्माया गया था। वीडियो को अपलोड करने के साथ पियर्सन ने लिखा है, ‘कृपया इस वीडियो को शेयर कीजिए या फिर कमेंट कीजिए, लेकिन इसे बिना सहमति या क्रेडिट दिए बगैर अपलोड न करें। मैंने इस वीडियो को कॉपीराइट के लिए अपने कम्प्यूटर में रजिस्टर कर रखा है। धन्यवाद।’

एक मिनट 27 सेकेंड के इस वीडियो पर कई लोगों ने कमेंट कर बताया है कि इसका इस्तेमाल कई यूजर्स गलत जानकारी के साथ कर रहे हैं।

सर्च में हमें फैक्ट चेकिंग वेबसाइट Snopes.com का एक वीडियो मिला, जिसे मार्च 2015 में बनाया गया था। इसके मुताबिक, सबसे दो महासागर के जलराशि के मिलने की तस्वीर 2007 में ली गई थी। इसके बाद केंट स्मिथ ने 2010 में यही तस्वीर दुबारा ली। वीडियो में बताया गया है कि यह तस्वीर सही है, लेकिन यह अलास्का की खाड़ी में कहां ली गई, इसका पता नहीं है।

नक्शे पर जब हम अलास्का की खाड़ी के बारे में सर्च करते हैं तो हमें यह उत्तरी अमेरिका के पश्चिमी छोड़ पर नजर आता है, जो उत्तरी प्रशांत महासागर में स्थित है। पियर्सन के वीडियो में यह बताया गया है कि अलास्का की खाड़ी में इस वीडियो को वैंकूवर द्वीप (ड्यूक प्वाइंट)-वैंकूवर (सवासनी प्वाइंट)  के बीच फिल्माया गया था।

मैप के मुताबिक, कनाडा अटलांटिक से प्रशांत महासागर के बीच के भूभाग में बसा प्रदेश है, जो आर्कटिक महासागर के उत्तरी छोड़ में स्थित है। यानी अलास्का की खाड़ी में जो दो महासागर का पानी मिलता हुआ नजर आ रहा है, वह प्रशांत और अटलांटिक महासागर है, न कि प्रशांत और हिंद महासागर।

अब आते है दो अलग-अलग रंग के दिख रहे पानी के नहीं मिलने के दावे पर। सर्च में हमें एक और न्यूज लिंक मिला। ”Mythbusting ‘the place where two oceans meet’ in the Gulf of Alaska” के नाम से 5 अप्रैल 2017 को प्रकाशित रिपोर्ट में बताया गया है, ‘वास्तविक तस्वीर 2007 में रिसर्च के मकसद से ली गई थी, ताकि अलास्का की खाड़ी में आयरन की मौजूदगी की भूमिका के बारे में पता लगाई जा सके कि वह कैसे उत्तरी प्रशांत के कुछ हिस्सों में पहुंच रहा है।’

खबर के मुताबिक, यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया (सैंटा क्रूज) में ओसिनय साइंस के प्रोफेसर केन ब्रूलैंड उस शिप पर मौजूद थे, जिससे यह तस्वीर ली गई थी, बल्कि उन्होंने ही यह तस्वीर खींची थी।

उनके मुताबिक, ‘ग्लेशियल रिवर्स का पानी बड़े महासागर में गिरता है और फिर वह महासागर की जलधारा में शामिल हो जाते हैं। जहां तक उस तस्वीर की बात है यह कहना गलत है कि पानी आपस में नहीं मिलते हैं। वह वास्तव में मिलते हैं, लेकिन कण ज्यादा होने की वजह से ऐसा नजर नहीं आता है। दोनों जलराशि के बीच की सीमा स्थित नहीं है, वह बनती रहती है। यह बनते और गायब होते रहता है जो पानी के बहाव और कण की मात्रा पर निर्भर करता है।’

निष्कर्ष: प्रशांत और हिंद महासागर के पानी के आपस में नहीं मिलने की तस्वीर गलत है। वायरल हो रही तस्वीर प्रशांत और अटलांटिक महासागर की है। पानी में मौजूद कण होने की वजह से दोनों जलराशियों के बीच में अंतर नजर आता है। इसलिए यह कहना गलत है कि दोनों महासागर का पानी आपस में नहीं मिलता है।

पूरा सच जानें…

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी खबर पर संदेह है जिसका असर आप, समाज और देश पर हो सकता है तो हमें बताएं। हमें यहां जानकारी भेज सकते हैं। हमें contact@vishvasnews।com पर ईमेल कर सकते हैं। इसके साथ ही वॅाट्सऐप (नंबर – 9205270923) के माध्‍यम से भी सूचना दे सकते हैं।

Written BY Abhishek Parashar
  • Claim Review : प्रशांत महासागर और हिंद महासागर एक दूसरे में मिलते हैं लेकिन उनका पानी आपस में कभी नहीं मिलता है
  • Claimed By : FB User-Akash Sah
  • Fact Check : False

टैग्स

संबंधित लेख