X

Fact Check: पश्चिम बंगाल बीजेपी के प्रमुख दिलीप घोष की पुरानी तस्वीर को कोरोना वायरस से जोड़कर किया जा रहा है वायरल

  • By Vishvas News
  • Updated: October 19, 2020

नई दिल्ली विश्वास न्यूज। भारतीय जनता पार्टी के पश्चिम बंगाल के प्रमुख दिलीप घोष की एक तस्वीर सोशल मीडिया पर इस दावे के साथ वायरल हो रही है कि कोरोना पॉजिटिव होते हुए भी उन्होंने अस्पताल में कैलाश विजयवर्गीय से बिना मास्क पहने मुलाकात की। विश्वास न्यूज़ ने अपनी पड़ताल में पाया कि यह तस्वीर 2018 की है, जब दिलीप घोष किसी और वजह से अस्पताल में भर्ती हुए थे। हालांकि, यह तथ्य सही है कि अक्टूबर 16 को कोरोना पॉजिटिव होने के कारण उन्हें एक प्राइवेट अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

क्या हो रहा है वायरल

वायरल तस्वीर में भारतीय जनता पार्टी के पश्चिम बंगाल के प्रमुख दिलीप घोष को एक अस्पताल के पलंग पर लेटा हुआ देखा जा सकता है। तस्वीर में घोष के सीधे हाथ की तरफ भाजपा नेता कैलाश विजयवर्गीय खड़े हैं और दूसरी तरफ खड़े व्यक्ति की पीठ कैमरे की ओर है। फोटो में किसी ने भी मास्क नहीं पहना है। पोस्ट के साथ दावा किया जा रहा है “Meeting #COVID Positive Dilip Ghosh without wearing any Mask. Only BJP Leaders can Show Such Courage.” हिंदी अनुवाद “बिना किसी मास्क के #COVID पॉजिटिव दिलीप घोष से मिलना। केवल भाजपा नेता ही इस तरह का साहस दिखा सकते हैं।”

इस पोस्ट का आर्काइव लिंक यहां देखा जा सकता है।

पड़ताल

इस फोटो की पड़ताल करने के लिए हमने इस तस्वीर को गूगल रिवर्स इमेज पर सर्च किया। सर्च के दौरान हमें वायरल तस्वीर 28 जनवरी, 2018 को english.kolkata24x7.com पर पब्लिश्ड एक खबर में मिली। खबर के अनुसार, यह तस्वीर तब की है, जब दिलीप घोष अस्पताल में स्लिप डिस्क के चलते भर्ती हुए थे।

https://english.kolkata24x7.com/dilip-ghosh-likely-released-hospital.html/

हमें jagran.com पर 17 अक्टूबर, 2020 को अपलोडेड एक खबर मिली, जिसमें दिलीप घोष के कोरोना पॉजिटिव होने और अस्पताल में भर्ती होने की बात कही गयी थी।

वायरल तस्वीर में कैलाश विजयवर्गीय दिख रहे हैं। हमने पुष्टि के लिए कैलाश विजयवर्गीय से संपर्क किया। उन्होंने कहा, “यह तस्वीर 2018 की है।”

इसके बाद हमने ढूंढा कि दिलीप घोष कौन-से अस्पताल में भर्ती हैं। हमें पता चला कि वे एएमआरआई अस्पताल साल्ट लेक में भर्ती हैं। हमने एएमआरआई अस्पताल के पीआरओ से संपर्क साथ। अस्पताल के कम्युनिकेशन मैनेजर रोहन चट्टोपाध्याय ने हमें बताया, “दिलीप घोष का अस्पताल के कोविड सेक्शन में इलाज चल रहा है। सरकारी दिशानिर्देशों के अनुसार, परिवार के सदस्यों सहित किसी को भी रोगी से मिलने की अनुमति नहीं है। यह तस्वीर कोविड सेक्शन की नहीं है।”

इस पोस्ट को सोशल मीडिया पर कई लोग गलत दावे के साथ शेयर कर रहे हैं। इन्हीं में से एक है Garima Kaushik नाम की फेसबुक यूजर। इस यूजर ने 2013 में फेसबुक ज्वाइन किया था।

निष्कर्ष: विश्वास न्यूज़ ने अपनी पड़ताल में पाया कि यह दावा सही नहीं है। यह तस्वीर हालिया नहीं है। सच्चाई यह है कि यह तस्वीर 2018 की है, जब दिलीप घोष किसी और वजह से अस्पताल में भर्ती हुए थे। हालांकि, यह तथ्य सही है कि अक्टूबर 16 को कोरोना पॉजिटिव होने के कारण उन्हें एक प्राइवेट अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

  • Claim Review : Meeting COVID Positive Dilip Ghosh without wearing any Mask. Only BJP Leaders can Show Such Courage.
  • Claimed By : Garima Kaushik
  • Fact Check : झूठ
झूठ
    फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later