X

Fact Check: योगी आदित्यनाथ ने नहीं की ‘पठान’ फिल्म के बहिष्कार की अपील, सात साल पुराना बयान गलत संदर्भ में वायरल

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शाहरुख खान की आगामी फिल्म पठान का बहिष्कार करने की अपील नहीं की है। 2015 में शाहरुख खान पर दिए गए उनके पुराने बयान को पठान फिल्म के संदर्भ में गलत दावे के साथ वायरल किया जा रहा है।

  • By Vishvas News
  • Updated: April 1, 2022

नई दिल्ली (विश्वास न्यूज)। सोशल मीडिया पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें उन्हें बॉलीवुड अभिनेता शाहरुख खान की आलोचना करते हुए देखा और सुना जा सकता है। दावा किया जा रहा है कि योगी ने शाहरुख खान की आगामी फिल्म पठान के बहिष्कार की अपील की है।

विश्वास न्यूज की जांच में यह दावा गलत निकला। वायरल हो रहा वीडियो 2016 का है, जब योगी आदित्यनाथ ने शाहरुख खान के देश में बढ़ती असहिष्णुता संबंधी बयान पर प्रतिक्रिया देते उनकी तुलना आतंकवादी हाफिज सईद से कर डाली थी और कहा था कि धर्मनिरपेक्षता के नाम पर कुछ कट्टर कलाकारों और लेखकों ने राष्ट्र विरोधी बयान देना शुरू कर दिया है और दुर्भाग्यवश शाहरुख खान भी ऐसे लोगों का समर्थन कर रहे हैं।

क्या है वायरल?

फेसबुक यूजर ‘the hindu’ने वायरल वीडियो (आर्काइव लिंक) को शेयर करते हुए लिखा है, ”शाहरुख खान की पठान मूवी ना देखने के लिए बाबा जी का संदेश.
जय हो।”

फेसबुक पर वायरल हो रहे वीडियो का स्क्रीनशॉट

कई अन्य यूजर्स ने इस वीडियो को समान और मिलते-जुलते दावे के साथ शेयर किया है।

पड़ताल

वायरल वीडियो में न्यूज एजेंसी एएनआई का लोगो नजर आ रहा है और योगी आदित्यनाथ का परिचय ‘नेता, बीजेपी’ के तौर पर दिया गया है। इस संकेत से साफ है यह वीडियो हाल-फिलहाल का नहीं है। वीडियो में योगी आदित्यनाथ के दिए गए बयान के आधार पर न्यूज सर्च में हमें दैनिक जागरण की वेबसाइट पर चार नवंबर 2015 को प्रकाशित खबर मिली, जिसमें उन्हीं बयानों का जिक्र है, जिसे वायरल वीडियो में योगी आदित्यनाथ बोलते हुए देखा और सुना जा सकता है।

दैनिक जागरण की वेबसाइट पर चार नवंबर 2015 को प्रकाशित खबर

रिपोर्ट के मुताबिक, ‘शाहरुख खान ने अपने 50वें जन्मदिन पर देश में चरम असहिष्णुता की बात की थी।’ उनके इस बयान के बाद बीजेपी के कई नेताओं ने उनकी आलोचना की थी। द हिंदू की वेबसाइट पर 24 मार्च 2016 को प्रकाशित खबर में भी इसका जिक्र है।

‘Yogi Adityanath slams SRK, compares him with Hafiz Saeed’ (‘योगी आदित्यनाथ ने शाहरुख खान की आलोचना करते हुए उनकी तुलना हाफिज सईद से की’) हेडलाइन से प्रकाशित रिपोर्ट के मुताबिक, ‘भारतीय जनता पार्टी के नेता योगी आदित्यनाथ ने देश में चरम असहिष्णुता पर दिए गए बयान को लेकर शाहरुख खान की आलोचना करते हुए उनकी तुलना पाकिस्तानी आतंकी हाफिज सईद से कर डाली।’

योगी ने कहा, ‘यह पहली बार नहीं है, जब शाहरुख खान ऐसा कर रहे हैं। शाहरुख खान को यह याद रखना चाहिए कि अगर देश का बहुसंख्यक समाज उनकी फिल्मों का बहिष्कार कर देगा तो एक आम मुसलमान की तरह उनको भी सड़कों पर भटकना पड़ेगा। मुद्दों पर तथ्यों पर बात होनी चाहिए। भारत की अंतरराष्ट्रीय छवि को खराब करने की जो अंतरराष्ट्रीय साजिशें हो रही हैं, उससे सभी को बचना चाहिए…….दुनिया का कोई सहिष्णु समाज है तो वह हिंदू समाज है। हिंदू समाज को बदनाम करने के लिए कोई इस तरह के षडयंत्रों में शामिल है तो उसकी सामूहिक निंदा होनी चाहिए और उसका सामूहिक बहिष्कार होना चाहिए।’

वीडियो में रिपोर्टर को यह पूछते हुए सुना जा सकता है, ‘मुंबई हमले के मास्टरमाइंड हाफिज सईद ने कहा है कि अगर ऐसे लोग शाहरुख खान या जो साहित्यकार हैं, भारत में असुरक्षित महसूस कर रहे हैं तो उन्हें पाकिस्तान आ जाना चाहिए…!’

इसके बाद हमने वायरल वीडियो के ओरिजिनल स्रोत को सर्च किया। सर्च में हमें यह वीडियो एएनआई न्यूज के वेरिफाइड यूट्यूब चैनल पर चार नवंबर 2015 को अपलोड किया हुआ बुलेटिन मिला, जिसमें योगी आदित्यनाथ के वायरल बयान को देखा और सुना जा सकता है।

बुलेटिन के साथ दी गई जानकारी के मुताबिक, ‘शाहरुख खान के खिलाफ सियासी बयानबाजी थमने का नाम नहीं ले रही हैं। भारतीय जनता पार्टी के सांसद योगी आदित्यनाथ ने यह कहते हुए नया विवाद खड़ा कर दिया कि 2008 के मुंबई हमलों के मास्टरमाइंड हाफिज सईद और बॉलीवुड अभिनेता शाहरुख खान की सोच के बीच कोई फर्क नहीं है।’

वायरल वीडियो को लेकर एएनआई न्यूज रूम में काम करने वाले एक पत्रकार ने बताया कि यह 2015 का पुराना बयान है, जब योगी आदित्यनाथ मुख्यमंत्री नहीं हुआ करते थे।

सर्च में हमें वह रिपोर्ट भी मिली, जिसमें शाहरुख खान का असहिष्णुता वाले बयान का जिक्र है। इंडिया टुडे की वेबसाइट पर दो नवंबर 2015 को प्रकाशित रिपोर्ट में उनके इंटरव्यू को देखा जा सकता है, जिसमें वह पत्रकार के पूछे गए सवाल का जवाब देते हुए कहते हैं कि भारत में चरम असहिष्णुता की स्थिति हो गई है।

इंडिया टुेड की वेबसाइट पर दो नवंबर 2015 को प्रकाशित रिपोर्ट

इसके बाद शाहरुख ने अपने बयान को लेकर सफाई देते हुए कहा था कि उनके बयान को गलत तरीके से पेश किया गया है।

वायरल वीडियो को शेयर करने वाले यूजर को फेसबुक पर करीब 36 हजार लोग फॉलो करते हैं।

निष्कर्ष: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शाहरुख खान की आगामी फिल्म पठान का बहिष्कार करने की अपील नहीं की है। 2015 में शाहरुख खान पर दिए गए उनके पुराने बयान को पठान फिल्म के संदर्भ में गलत दावे के साथ वायरल किया जा रहा है।

  • Claim Review : योगी आदित्यनाथ ने की पठान मूवी के बहिष्कार की अपील
  • Claimed By : FB User-the hindu
  • Fact Check : भ्रामक
भ्रामक
फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

अपनी प्रतिक्रिया दें

No more pages to load

संबंधित लेख

Next pageNext pageNext page

Post saved! You can read it later