X

Fact Check: इटली के गणतंत्र दिवस के वीडियो को फ्रांस द्वारा भारत को राफेल जहाज़ सौंपे जाने का समारोह बता कर किया जा रहा है वायरल

हमारी पड़ताल में हमने पाया कि ये वीडियो फ्रांस द्वारा भारत को राफेल जहाज़ सौंपे जाने के समारोह का नहीं है। असल में ये 2018 इटली के गणतंत्र दिवस समारोह का वीडियो है, जिसे इटली की राजधानी रोम में आयोजित किया गया था।

  • By Vishvas News
  • Updated: August 4, 2020

नई दिल्ली (विश्वास न्यूज़) सोशल मीडिया पर एक वीडियो आज कल लोग खूब शेयर कर रहे हैं। इस वीडियो में एक बिल्डिंग के ऊपर से उड़ते कुछ जेट विमान देखे जा सकते हैं, जो तीन रंग का धुआं छोड़ रहे हैं- हरा, सफ़ेद और लाल। पोस्ट के साथ क्लेम किया जा रहा है कि फ्रांस ने भारत को राफेल विमान सौंपे जाने का कुछ इस तरह जश्न मनाया। हमारी पड़ताल में हमने पाया कि यह दावा गलत है। असल में ये इटली के 2018 गणतंत्र दिवस समारोह का वीडियो है।

क्या हो रहा है वायरल?

वायरल वीडियो में एक बिल्डिंग के ऊपर से उड़ते कुछ जेट विमान देखे जा सकते हैं, जो तीन रंग का धुआं छोड़ रहे हैं- हरा, सफ़ेद और लाल। पोस्ट के साथ क्लेम किया जा रहा है “Everyone talked about Rafael landing in India but see the farewell from France with Indian Tricolors….”

इस पोस्ट का आर्काइव लिंक यहां देखें।

पड़ताल

हमने सबसे पहले इस वीडियो को ठीक से देखा। देखने पर हमारे हाथ कुछ फैक्ट्स लगे।

1) इस वीडियो में सामने लहरा रहा झंडा भारत का नहीं लग रहा है।
2) विमानों से निकलते धुएं में पहले हरा रंग है और बाद में लाल, जबकि भारतीय तिरंगे में लाल रंग ऊपर और हरा नीचे होता है।
3)वीडियो में मौजूद बिल्डिंग।

हमने इन तीनों को नीचे सपष्ट किया है

वीडियो में मौजूद झंडा

हमने वीडियो में मौजूद झंडे को रिवर्स इमेज सर्च करके ढूंढा तो पाया कि ये झंडा भारतीय राष्ट्रीय ध्वज जैसा नहीं, बल्कि काफी हद तक इटली के झंडे से मिलता है। आप तुलना नीचे देख सकते हैं।

विमानों से निकलता धुआं

विमानों से निकलते धुएं में पहले हरा रंग है और बाद में लाल, जबकि भारतीय तिरंगे में लाल रंग ऊपर और हरा रंग नीचे होता है। तुलना आप नीचे देख सकते हैं।

वीडियो में मौजूद बिल्डिंग

हमने वीडियो में मौजूद बिल्डिंग का रिवर्स इमेज सर्च किया तो हमें पता चला कि ये बिल्डिंग इटली की राजधानी रोम में है। इस बिल्डिंग का नाम है विटोरियो इमैनुएल II स्मारक (Vittorio Emanuele II Monument)।

इसके बाद हमने इस वीडियो को InVID टूल और गूगल रिवर्स इमेज टूल का इस्तेमाल करते हुए इंटरनेट पर ढूंढा। इस कड़ी में हमारे हाथ Eeuronews के वेरिफ़ाइड यूट्यूब चैनल द्वारा शेयर किया गया एक वीडियो लगा, जिसमें वायरल वीडियो की झलकियां थीं। इस वीडियो को Jun 3, 2018 को अपलोड किया गया था। वीडियो के डिस्क्रिप्शन के मुताबिक, ये इटली के 72वें गणतंत्र दिवस समारोह का वीडियो है। इस वीडियो को आप नीचे देख सकते हैं।

इस सिलसिले में हमें Euronews की 2 जून 2018 को फाइल की गई एक खबर भी मिली, जिसमें इस वीडियो की झलकियां थीं। ये खबर भी इटली के 72वें गणतंत्र दिवस समारोह के बारे में ही थी।

आपको बता दें कि प्रत्येक वर्ष 2 जून को इटली का राष्ट्रीय दिवस और गणतंत्र दिवस मनाया जाता है।

फ्रांसीसी कंपनी दसॉ की एविएशन फैसिलिटी से पांच राफेल विमानों की पहली खेप ने 27 जुलाई को भारत के लिए उड़ान भरी थी। उस दिन इटली में भारतीय दूतावास ने बोर्डो में मेरिग्नैक एयरबेस से जेट उड़ने का वीडियो ट्वीट किया था।

इस सिलसिले में ज़्यादा पुष्टि के लिए हमने दिल्ली स्थित इटालियन एम्बेसी में बात की जहां हमें नवाचार और अंतरराष्ट्रीयकरण (Innovation and Internationalization) विभाग की इसाबेला पेरिओटो ने बताया कि वायरल वीडियो में दिख रही बिल्डिंग रोम में है और ये वीडियो 2018 इटली गणतंत्र दिवस समारोह का है।

इस वीडियो को कई लोगों ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर शेयर किया था। इन्हीं में से एक हैं फेसबुक यूजर Sumanta Das. इनके कुल 3,962 फेसबुक फ्रेंड्स हैं।

निष्कर्ष: हमारी पड़ताल में हमने पाया कि ये वीडियो फ्रांस द्वारा भारत को राफेल जहाज़ सौंपे जाने के समारोह का नहीं है। असल में ये 2018 इटली के गणतंत्र दिवस समारोह का वीडियो है, जिसे इटली की राजधानी रोम में आयोजित किया गया था।

  • Claim Review : Everyone talked about Rafael landing in India but see the farewell from France with Indian Tricolors....
  • Claimed By : Sumanta Das
  • Fact Check : झूठ
झूठ
फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

अपनी प्रतिक्रिया दें

No more pages to load

संबंधित लेख

Next pageNext pageNext page

Post saved! You can read it later