X

Quick Fact Check: नेहरू परिवार की मनगढ़ंत वंशावली से किया जा रहा दुष्प्रचार

विश्वास न्यूज की पड़ताल में नेहरू-गांधी परिवार की धार्मिक पहचान को लेकर किया जा रहा पूरा दावा झूठा निकला है। जवाहर लाल नेहरू और उनके पूर्वज मुस्लिम नहीं थे। नेहरू हिंदू और कश्मीरी ब्राह्मण थे। सोशल मीडिया पर नेहरू परिवार के नाम से वायरल हो रहा वंशवृक्ष फर्जी है। नेहरू-गांधी परिवार के खिलाफ दुष्प्रचार की नीयत से यह फर्जी वंशावली वायरल की जा रही है।

  • By Vishvas News
  • Updated: June 17, 2021

विश्‍वास न्‍यूज (नई दिल्‍ली)। सोशल मीडिया पर देश के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू और उनके परिवार की धार्मिक पहचान को लेकर एक फर्जी पोस्ट वायरल हो रही है। वायरल पोस्ट में एक तस्वीर शेयर की जा रही है, जिसमें कथित तौर पर नेहरू-गांधी परिवार वंशवृक्ष (फैमिल ट्री) का जिक्र किया जा रहा है। इस पोस्ट के माध्यम से यह दावा किया जा रहा है कि नेहरू परिवार के पूर्वज मुस्लिम थे। विश्वास न्यूज की पड़ताल में यह पूरा दावा झूठा निकला है। नेहरू-गांधी परिवार के खिलाफ दुष्प्रचार की नीयत से यह फर्जी वंशावली वायरल की जा रही है।

क्या हो रहा है वायरल

विश्वास न्यूज को अपने फैक्ट चेकिंग वॉट्सऐप चैटबॉट (+91 95992 99372) पर ये दावा फैक्ट चेक के लिए मिला है। यूजर ने हमारे साथ यह वायरल तस्वीर शेयर की है। इसमें कथित तौर पर एक वंशावली शेयर की गई है, जिसमें नेहरू-गांधी परिवार के लोगों के नाम के साथ उनके धर्म का जिक्र करते हुए किसी को मुस्लिम तो किसी को ईसाई बताया गया है। इस तस्वीर के निचले हिस्से में लिखा है कि मुस्लिम – ईसाई परिवार देश के हिंदुओं को मुर्ख बना रहा है। इस वायरल तस्वीर को यहां नीचे देखा जा सकता है।

पड़ताल

देश के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू के परिवार की धार्मिक पहचान को लेकर कई दुष्प्रचार सोशल मीडिया पर वायरल होते रहते हैं। यह दावा पहले भी सोशल मीडिया पर वायरल हो चुका है। तब विश्वास न्यूज ने इस दावे की पड़ताल करते हुए इसे पूरी तरह फर्जी पाया था।

इस पोस्ट में ग्राफिक्स के सहारे कथित तौर पर नेहरू परिवार की वंशावली दिखाने का दावा किया गया है। इसमें बताया गया कि पंडित नेहरू के दादा और पिता मुस्लिम थे और उनके दादा गंगाधर नेहरू का नाम गयासुद्दीन गाजी था। पड़ताल के दौरान हमें भारत सरकार के संस्कृति मंत्रालय की वेबसाइट पर नेहरू पोर्टल (नेहरू मेमोरियल म्यूजियम एंड लाइब्रेरी) मिला। यहां नेहरू परिवार की फैमिली ट्री दी हुई है। इसके मुताबिक, जवाहर लाल नेहरू के दादा का नाम गयासुद्दीन गाजी नहीं, बल्कि गंगाधर नेहरू था। इनका विवाह इंद्राणी उर्फ जियोरानी से हुई थी। गंगाधर नेहरू के पांच बच्चे हुए, जिनके नाम क्रमश: पटरानी (पति-लालजी प्रसाद जुत्शी), महारानी (पति-द्वारकानाथ टकरू), बंसीधर नेहरू, नंदलाल नेहरू (पत्नी-नंदरानी) और मोतीलाल नेहरू (पत्नी-स्वरुपरानी) थे।

मोतीलाल नेहरू और स्वरुपरानी के तीन संतानों के नाम क्रमश: जवाहर लाल नेहरू (पत्नी-कमला नेहरू), सरुप कुमारी या विजया लक्ष्मी (पति-रंजीत सीताराम पंडित) और कृष्णा (पति-जीपी हथिसिंह) हैं। इस फैमिल ट्री को यहां नीचे देखा जा सकता है।

विश्वास न्यूज ने इस वायरल दावे के संबंध में बनारस हिंदू विश्वविद्यालय (BHU) में इतिहास के प्रोफेसर राकेश पांडेय से भी बात की। उन्होंने हमें बताया कि नेहरू का धर्म हिंदू था और वह जाति से ब्राह्मण थे। नेहरू जब अपनी मां का अस्थि विसर्जन कर रहे थे, उस तस्वीर में उनके शरीर पर जनेऊ को देखा जा सकता है। यह तस्वीर सर्वसुलभ है। यह तस्वीर इंडिया टुडे मैगजीन में छपे एक लेख में इस्तेमाल की गई है, जिसे नीचे देखा जा सकता है।

इसी तरह पंडित नेहरू ने अपनी आत्मकथा मेरी कहानी में कई ऐसी बातों का जिक्र किया है, जिससे उनके हिंदू धार्मिक पहचान का पता चलता है। उन्होंने इसमें एक घटना का जिक्र करते हुए बताया है कि उनके पिता पंडित मोतीलाल नेहरू के विदेश यात्रा से कश्मीरी पंडित सामाज नाराज हो गया था।

विश्वास न्यूज की पड़ताल में वायरल पोस्ट में इंदिरा गांधी और फिरोज गांधी को लेकर भी झूठे दावे हैं। वास्तव में फिरोज गांधी पारसी थे, न कि मुस्लिम और फिरोज और इंदिरा गांधी की शादी हिंदू रीति-रिवाजों से हुई। पहले वायरल हो चुकी इस पोस्ट की विस्तार से की गई फैक्ट चेक स्टोरी को यहां नीचे पढ़ा जा सकता है।

निष्कर्ष: विश्वास न्यूज की पड़ताल में नेहरू-गांधी परिवार की धार्मिक पहचान को लेकर किया जा रहा पूरा दावा झूठा निकला है। जवाहर लाल नेहरू और उनके पूर्वज मुस्लिम नहीं थे। नेहरू हिंदू और कश्मीरी ब्राह्मण थे। सोशल मीडिया पर नेहरू परिवार के नाम से वायरल हो रहा वंशवृक्ष फर्जी है। नेहरू-गांधी परिवार के खिलाफ दुष्प्रचार की नीयत से यह फर्जी वंशावली वायरल की जा रही है।

  • Claim Review : नेहरू परिवार के पूर्वज मुस्लिम थे।
  • Claimed By : वॉट्सऐप यूजर
  • Fact Check : झूठ
झूठ
फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

अपना सुझाव पोस्ट करें
और पढ़े

No more pages to load

संबंधित लेख

Next pageNext pageNext page

Post saved! You can read it later