Fact Check : परिवार के लोगों ने ही किया था अपहरण, बरेली का है वायरल वीडियो

0

नई दिल्‍ली (विश्‍वास न्‍यूज)। फेसबुक पर एक औरत के अपहरण का वीडियो वायरल हो रहा है। इस वीडियो के बारे में दावा किया जा रहा है कि मेरठ में इस दलित लड़की को ‘भगवा आतंकी’ सरेआम उठा ले गए। विश्‍वास टीम ने जब इस वीडियो और पोस्‍ट की पड़ताल की तो हमें पता चला कि सच्‍चाई कुछ और ही है।

पहली बात, वायरल हो रहा है वीडियो मेरठ नहीं, बरेली का है। यदि दावे की बात करें तो वीडियो में पीले कपड़े पहने हुए दिख रही औरत को कोई ‘भगवा आतंकी’ नहीं, बल्कि उसके परिवार के लोग ही ले गए थे। जांच में पता चला कि लड़की के घरवाले उसके प्रेम विवाह से खुश नहीं थे। पति की पिटाई के बाद जबरन लड़की को अपने साथ ले गए थे। मामला थाने तक गया और अब तक चार लोगों को अरेस्‍ट करके जेल भेजा जा चुका है।

क्‍या है वायरल पोस्‍ट में

अपनी पड़ताल शुरू करने से पहले चलिए सबसे पहले बात करते हैं उस फेसबुक पोस्‍ट की, जिसकी सत्‍यता हम जांचेंगे। फेसबुक पेज ‘जय भीम जय मीम’ ने बरेली के वीडियो को गलत संदर्भ के साथ अपलोड करते हुए दावा किया, ”#मेरठ में दलित लड़की को शरेआम भागवा आतंकवादी उठाकर ले जा रहे हैं और लोग सिर्फ तमाशा देख रहे हैं मुसलमान दलित करो विचार…”

इसके अलावा भी यह वीडियो गलत संदर्भ के साथ फेसबुक, यूट्यूब, वॉट्सऐप और दूसरे कई सोशल मीडिया प्‍लेटफॉर्म पर वायरल हो चुका है।

पड़ताल

अब बारी थी वायरल हो रहे वीडियो की पड़ताल करने की। विश्‍वास टीम ने सबसे पहले वायरल वीडियो को InVID टूल में अपलोड करके उसके कई ग्रेब लेकर गूगल रिवर्स इमेज में सर्च किया। हमें ABP न्‍यूज की वेबसाइट पर एक खबर मिली। 3 जुलाई 2019 को अपलोड की गई इस खबर का शीर्षक था : बरेली: लव मैरिज करने की मिली सजा, दिनदहाड़े अपहरण कर युवती को ले गए परिजन

खबर में बताया गया था, ”ताजा मामला बरेली का है जहां एक युवती की सरेआम अपहरण हो गया. अपहरण से पहले युवती की सरेआम पिटाई की गई. वारदात बरेली के भोजीपुरा थाना क्षेत्र की है. दरअसल गुरुबचन सिंह नाम के युवक ने गांव की ही एक लड़की से भागकर लव मैरिज की. एक साल बाद दोनों वापस गांव लौटे थे, लड़की के घर वालों को इसकी भनक लग गई. लड़की के परिवार के लोग आए और जबरदस्ती बाइक पर बैठाकर अपने साथ ले गए. इतना ही नहीं परिवार के लोगों ने दोनों की पिटाई भी की.”

इस खबर को कई न्‍यूज चैनलों और अखबारों ने कवर किया था।

इसके बाद हमने InVID टूल में @ANINewsUP और Bareilly टाइप करके सर्च किया। हमें ANI UP के ट्विटर हैंडल पर एक ट्वीट मिला। 3 जुलाई को किए गए इस ट्वीट में बताया गया कि परिवार की मर्जी के खिलाफ शादी करने पर एक औरत और उसके पति के साथ मारपीट की गई। परिवार के लोगों ने औरत को अपहरण कर लिया। पूरा ट्वीट आप नीचे देख सकते हैं।

अपनी खोज को आगे बढ़ाते हुए हम दैनिक जागरण के बरेली संस्‍करण के ईपेपर को खंगालने का तय किया। 4 जुलाई के बरेली संस्‍करण में हमें एक छोटी सी खबर मिली। खबर में बताया गया था कि महिला और उसके पति पर हमला करने वाले चार लोगों को अरेस्‍ट करके जेल भेजा जा चुका है।

बरेली की पूरी घटना पर भोजीपुरा थाने के प्रभारी निरीक्षक ने बताया कि लड़की को बाहर के लोगों ने नहीं, बल्कि उसी के घरवाले ले गए थे। पुलिस ने मुकदमा दर्ज करके चार लोगों को अरेस्‍ट कर लिया है।

अंत में हमने बरेली के वीडियो को गलत दावों के साथ वायरल करने वाले फेसबुक पेज ‘जय भीम जय मीम’ की सोशल स्‍कैनिंग की। हमें पता चला कि इस पेज पर फर्जी वीडियो की भरमार है। इस पेज को 9 हजार से ज्‍यादा लोग फॉलो करते हैं। 22 जून 2019 को बनाया गया यह पेज काफी एक्टिव है।

निष्‍कर्ष : विश्‍वास टीम की पड़ताल में पता चला कि मेरठ के नाम पर वायरल हो रहा है वीडियो बरेली का है। वीडियो में दिख रही महिला का अपहरण उसके परिजनों ने ही किया था। इस वीडियो को गलत संदर्भ के साथ वायरल किया जा रहा है।

ये भी पढ़ें

Fact Check : UP पुलिस ने नहीं, दंबगों ने की थी महिला की पिटाई, वीडियो 2016 का है

Fact Check : लड़की को पीटने वाले उसके रिश्‍तेदार, पार्टी का कोई लेना-देना नहीं

पूरा सच जानें…

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी खबर पर संदेह है जिसका असर आप, समाज और देश पर हो सकता है तो हमें बताएं। हमें यहां जानकारी भेज सकते हैं। हमें contact@vishvasnews।com पर ईमेल कर सकते हैं। इसके साथ ही वॅाट्सऐप (नंबर – 9205270923) के माध्‍यम से भी सूचना दे सकते हैं।

Written BY Ashish Maharishi
  • Claim Review : मेरठ में भगवा आतंकियों ने किया दलित लड़की का अपहरण
  • Claimed By : Jai Bheem Jai Meem FB Page
  • Fact Check : False

टैग्स

संबंधित लेख