X

Fact Check : उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता की अस्‍पताल में नहीं हुई मौत, फर्जी है वायरल पोस्‍ट

नई दिल्‍ली (विश्‍वास न्‍यूज)। उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता को लेकर सोशल मीडिया पर एक पोस्‍ट वायरल हो रही है। इसमें कहा जा रहा है कि ट्रक से एक्‍सीडेंट के बाद पीड़िता की अस्‍पताल में मौत हो गई। विश्‍वास टीम की पड़ताल में पता चला कि विक्टिम लखनऊ के किंग जॉर्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय (केजीएमयू) में भर्ती है। मौत से जुड़ी खबर सिर्फ अफवाह है।

क्‍या है वायरल पोस्‍ट में

फेसबुक यूजर Harsh Chhikara ने 30 जुलाई को एक घायल महिला की तस्‍वीर को अपनी वॉल पर अपलोड करते हुए लिखा : ”अलविदा बहन 😢 उन्नाव रेप पीड़िता अब नही रही … कोई ऐसा सोच भी नही सकता था कि न्याय के लिए एक बेटी को परिवार सहित मरना पड़ा हो ! ऑपरेशन ट्रक सफल हुआ अब कोई नई कहानी गढ़ी जाएगी,, महिला हितों के लिए लंबे लंबे भाषण दिए जाएंगे ! विधायक जी सहित पूरी सरकार को बधाई ! और अंत में #होनीकोकौनटालसकता_है ! भगवान् से तो डर विधायक जी….😔 विनम्र श्रद्धांजलि

इससे जुड़ी कई पोस्‍ट फेसबुक के अलावा सोशल मीडिया के दूसरे प्‍लेटफॉर्म पर भी वायरल हो रही है। हर जगह यही कहा जा रहा है कि उन्‍नाव रेप पीड़िता की मौत हो चुकी है।

पड़ताल

विश्‍वास टीम ने सबसे पहले दैनिक जागरण के लखनऊ के ईपेपर को खंगालना शुरू किया। यहां हमें एक खबर मिली। इस खबर में बताया गया कि ट्रॉमा सेंटर में भर्ती उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता व वकील अब भी वेंटिलेटर पर हैं। पूरी खबर आप यहां पढ़ सकते हैं।

केजीएमयू के मीडिया प्रभारी डॉ. संदीप तिवारी ने विश्‍वास न्‍यूज को बताया कि पीड़िता का मेडिकल बुलेटिन कल जारी किया गया। उसका सीटी स्‍कैन किया गया है। रिपोर्ट में सिर में ब्‍लड क्‍लॉटिंग जैसी कोई समस्‍या नहीं निकली। सीने में गंभीर चोटें हैं। इलाज में पूरी सावधानी बरती जा रही है।

इसके बाद विश्‍वास टीम को केजीएमयू के ट्रॉमा सेंटर में भर्ती विक्टिम का मेडिकल बुलेटिन उपलब्‍ध कराया गया। इस बुलेटिन में बताया गया कि मरीज की स्थि‍त नाजुक है। वेंटिलेटर पर है,लेकिन स्थिति स्थिर है।

रायबरेली जाते वक्त हुआ था हादसा

उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता 28 जुलाई को अपनी चाची, मौसी और वकील के साथ कार से रायबरेली जेल में बंद अपने चाचा से मिलने जा रही थी। तभी रायबरेली में एक ट्रक से उनकी कार का एक्‍सीडेंट हो गया। हादसे में पीड़िता की चाची और मौसी की मौत हो गई थी। जबकि गंभीर रूप से घायल पीड़िता व अधिवक्ता का लखनऊ स्थित ट्रॉमा सेंटर में इलाज चल रहा है। एक्‍सीडेंट के बाद पूरे मामले को सीबीआई को सौंप दिया। रायबरेली के गुरुबख्‍शगंज थाने में भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर समेत 10 के खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया। उन्‍नाव जिले के बांगरमाऊ के विधायक पर उनके गांव माखी की रहने वाली एक लड़की ने चार जून 2017 को रेप का आरोप लगाया था।

अपनी जांच को आगे बढ़ाते हुए हमने फर्जी खबर फैलाने वाले फेसबुक यूजर Harsh Chhikara(@harshchhikaraofficial) के पेज की स्‍कैनिंग की। हमें पता लगा कि इस पेज को छह लाख से ज्‍यादा लोग फॉलो करते हैं। यह पेज 28 जून 2017 को बनाया गया था।

निष्‍कर्ष : विश्‍वास टीम की जांच में पता चला कि उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता की मौत की खबर फर्जी है। उसका लखनऊ के ट्रॉमा सेंटर में इलाज चल रहा है।

पूरा सच जानें…

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी खबर पर संदेह है जिसका असर आप, समाज और देश पर हो सकता है तो हमें बताएं। हमें यहां जानकारी भेज सकते हैं। हमें contact@vishvasnews।com पर ईमेल कर सकते हैं। इसके साथ ही वॅाट्सऐप (नंबर – 9205270923) के माध्‍यम से भी सूचना दे सकते हैं।

  • Claim Review : दावा किया जा रहा है कि उन्‍नाव रेप विक्टिम की मौत हो गई है
  • Claimed By : हर्ष चिकारा
  • Fact Check : False
False
    Symbols that define nature of fake news
  • True
  • Misleading
  • False
जानिए सच्‍ची और झूठी सबरों का सच क्विज खेलिए और सीखिए स्‍टोरी फैक्‍ट चेक करने के तरीके क्विज खेले

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later