Fact Check: केंद्रीय विद्यालय के नाम पर वायरल हो रहा वीडियो आंध्र प्रदेश के कॉलेज का है, भ्रामक है दावा

0

नई दिल्ली (विश्वास न्यूज़)- पिछले महीने से सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है।  वीडियो में कुछ नौजवान एक लड़के को मारते हुए नज़र आ रहे हैं। दावा किया जा रहा है कि यह वीडियो केंद्रीय विद्यालय का है और ये छात्र वहीं के हैं।  हमारी पड़ताल में हमने ये दावा फ़र्ज़ी पाया। असल में ये वीडियो केंद्रीय विद्यालय का नहीं, बल्कि आंध्र प्रदेश के अनंतपुर आर्ट्स कॉलेज का है।

क्या है वायरल पोस्ट में

फेसबुक पेज जग्गावाणी नाम के यूजर ने एक पोस्ट को शेयर करते हुए लिखा, ”केंद्रीय विद्यालय के बच्चे है इस वीडियो को वायरल करना पड़ेगा तभी ये बच्चे गिरफ्त में आ सकते हैं। अमानवीय कृत्य। पुलिस संज्ञान ले। जो भी देखे इसे वायरल करे ताकि टीचर , बच्चे व अभिभावक सचेत हो जावे।

दोस्तों इन्सानीयत के नाते आपसे हाथ जोड़कर विनती है की यह वीडियो ज्यादा से ज्यादा गृपो में भेजना है कल शाम तक हरेक न्यूज चैनल में आना चाहिए”।

हमने देखा कि यह वीडियो सोशल मीडिया पर मिलते-जुलते दावों के साथ खूब वायरल हो रहा है।

पड़ताल

हमने अपनी पड़ताल को आरंभ किया और सबसे पहले वीडियो को ग़ौर से देखा। वीडियो में एक लड़का ज़मीन पर गिरा हुआ है और उसे कुछ लड़के बेल्ट और पैरों से मारते हुए नज़र आ रहे हैं। वीडियो में कुछ आवाज़ों को भी सुना जा सकता है। आवाज़ सुनने के बाद ये तो पक्का हो गया कि यह वीडियो उत्तर भारत का नहीं है।

आगे की पड़ताल के लिए invid टूल के ज़रिये वीडियो के कीफ्रेम्स निकाले और इसे गूगल पर सर्च किया। हमारे सामने कुछ लिंक्स खुल गए। 

सर्च करने पर हमारे हाथ news18 telugu का एक लिंक लगा। यह वीडियो स्टोरी थी जिसे पिछले महीने 28 जून को प्रकाशित किया गया था। इस खबर में हमें वही वीडियो मिला जो वायरल हो रहा है।  खबर तेलुगू भाषा में थी। खबर की हेडिंग और डिस्क्रिप्शन का हमने गूगल ट्रांसलेट टूल के ज़रिये ट्रांसलेट किया। खबर की हेडिंग थी, ”अनंतपुर आर्ट्स कॉलेज में हुई गैंग वॉर”

अब हमने अनंतपुर आर्ट्स कॉलेज गैंग वॉर डाल कर न्यूज़ सर्च किया। हमारे हाथ कुछ वीडियो लिंक्स लगे। सारे लिंक तेलुगू में ही थे और सब में इसे अनंतपुर के आर्ट्स कॉलेज का मामला बताया गया।  

हमने एक बार फिर न्यूज़ सर्च किया और हमारे हाथ तेलुगू oneindia.com नाम की एक वेबसाइट का लिंक लगा।  ये खबर 3 जुलाई 2019 को प्रकाशित की गई थी। खबर तेलुगू ज़ुबान में थी जिसका हमने ट्रांसलेशन किया और हमें मालूम हुआ कि अनंतपुर आर्ट्स एंड साइंस कॉलेज में 25 जून को एक मामला आया था।  जिसके बारे में शुरुआती दिनों में कहा जा रहा था कि ये एक कॉलेज गैंग वॉर का मामला है। जिसमें कॉलेज के दो ग्रुप के बीच लड़ाई हुई, लेकिन पुलिस की जांच में सामने आया कि मामला गैंग वॉर का नहीं, बल्कि लव अफेयर का था और पीड़ित नौजवान कॉलेज का छात्र नहीं था। हालांकि, मारने वाले लड़के कॉलेज के ही स्टूडेंट थे।

sakhi.com नाम की एक वेबसाइट पर हमें इसी मामले की एक खबर अंग्रेजी में मिली। इस खबर को 29 जून को प्रकाशित किया गया था। खबर आप नीचे देख सकते हैं।

न्यूज़ सर्च में हमारे हाथ Bharat Today का एक वीडियो लिंक लगा।  वीडियो 29 जून 2019 को अपलोड किया गया था। वीडियो में पुलिस के बयान को भी सुना जा सकता है। खबर कि हेडिंग है : 5 Arrest in Annantpur Arts College Fight Incident

मामले की तस्दीक़ के लिए हमने अनंतपुर के सब डिविजनल पुलिस अफसर (एसडीपीओ) वीरा राघव से बात की। उन्होंने हमें बताया कि ये मामला आंध्रा प्रदेश के अनंतपुर आर्ट्स कॉलेज का है। उन्होंने आगे बताया कि जब मामला सामने आया तो यह एक गैंग वॉर का मामला लगा, लेकिन जब तफ्तीश की गई तो मालूम हुआ कि मामला लव अफेयर का था और पीड़ित नौजवान कॉलेज का छात्र नहीं था। उन्होंने बताया कि मामले में मुल्ज़िम छात्रों को गिरफ्तार कर लिया गया है और वो सब क़ानूनी हिरासत में हैं।

अब बारी इस वीडियो को फेसबुक पर फ़र्ज़ी हवाले के साथ शेयर करने वाले पेज जग्गावणी के प्रोफाइल की सोशल स्कैनिंग करने की थी। अपनी स्कैनिंग में हमने पाया कि इस अकाउंट से ज़्यादातर पोस्ट्स एक मज़हब विशेष के समर्थन में की जाती हैं।

नतीजा: हमारी पड़ताल में हमने पाया कि वायरल वीडियो का दावा भ्रामक है। दरअसल वीडियो केंद्रीय विद्यालय नहीं, बल्कि आंध्र प्रदेश के अनंतपुर आर्ट्स कॉलेज का है। वीडियो में एक नौजवान को मारते हुए लड़के कॉलेज के ही छात्र हैं, लेकिन पीड़ित नौजवान कॉलेज का छात्र नहीं है।  मामला कॉलेज गैंग वॉर का नहीं, बल्कि लव अफेयर का था।

पूरा सच जानें…

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी खबर पर संदेह है जिसका असर आप, समाज और देश पर हो सकता है तो हमें बताएं। हमें यहां जानकारी भेज सकते हैं। हमें contact@vishvasnews।com पर ईमेल कर सकते हैं। इसके साथ ही वॅाट्सऐप (नंबर – 9205270923) के माध्‍यम से भी सूचना दे सकते हैं।

Written BY Umam Noor
  • Claim Review : यह वीडियो केंद्रीय विद्यालय का है और ये बच्चे वहीं के हैं।
  • Claimed By : Fb User- जग्गावाणी
  • Fact Check : Half true

टैग्स

संबंधित लेख