X

Fact Check : 2017 में ट्रक ड्राइवर को पीटने का हरियाणा का वीडियो अब हो रहा है वायरल

  • By Vishvas News
  • Updated: June 20, 2019

नई दिल्‍ली (विश्‍वास न्‍यूज)। सोशल मीडिया पर हरियाणा का एक पुराना वीडियो वायरल हो रहा है। इस वीडियो में पुलिसकर्मी एक ड्राइवर को पीट रहा है। विश्‍वास टीम की पड़ताल में यह वीडियो 11 नवंबर 2017 का निकला। इस घटना का दिल्‍ली में हुई मुखर्जी नगर की घटना से कोई संबंध नहीं है। कुछ दिन पहले मुखर्जी नगर में सिख ड्राइवर सरबजीत सिंह की कुछ पुलिसवालों ने पिटाई कर दी थी। इस घटना से जुड़ा वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया था। इसके बाद दिल्‍ली में काफी बवाल मचा था।

क्‍या है वायरल पोस्‍ट में

फेसबुक यूजर Sardar JasVinder Singh ने करनाल का पुराना वीडियो अपलोड करते हुए लिखा : अब इस गरीब निहत्थे ड्राइवर ने कौन सी तलवारे दिखा दी जो इसे बिना कसूर के बेरहमी से पीटा जा रहा है..सरदार ना जुर्म सहते है ना जुर्म करने देते है…

19 जून 2019 को फेसबुक पर अपलोड किए गए इस वीडियो को अब तक आठ हजार से ज्‍यादा बार शेयर किया जा चुका है। जसविंदर सिंह के अलावा भी कई यूजर्स इस वीडियो को अपने-अपने स्‍तर पर वायरल कर रहे हैं।

पड़ताल

सबसे पहले हमने वायरल हो रहे वीडियो को ध्‍यान से देखा और सुना। वीडियो में हमें कुछ लोग स्‍वेटर पहने हुए दिखे, जबकि इस वक्‍त गर्मी का मौसम है। इससे एक बात तो साफ हुई थी कि वीडियो अभी का नहीं है। यह सर्दी का वीडियो है। चूंकि, वीडियो के ऊपर करनाल लिखा हुआ तो हमें यह जानना था कि क्‍या वाकई करनाल में ऐसी कोई घटना कभी घटी थी?

इसके लिए गूगल पर हमने अलग-अलग कीवर्ड डालकर संबंधित वीडियो से जुड़ी खबरों को सर्च करना शुरू किया। देश के कई मीडिया संस्‍थानों ने इससे जुड़ी खबर को कवर किया था। ऐसे में हमे दैनिक जागरण की वेबसाइट का एक लिंक मिला। 12 नवंबर 2017 को प्रकाशित इस खबर में एक तस्‍वीर का यूज किया गया था। इसमें वह पुलिसकर्मी दिख रहा था, जिसने ट्रक ड्राइवर की पिटाई की थी। जमीन पर पड़े हुए ट्रक ड्राइवर को भी आप तस्‍वीर में देख सकते हैं।

पूरी खबर पढ़ने से हमें पता चला कि घटना अब तक नहीं, बल्कि नवंबर 2017 की है। करनाल के कैथल रोड पर एक ट्रक खराब होने के कारण जाम लग गया था। इसके बाद एएसआई रविंद्र रावत ने ट्रक ड्राइवर की सरेआम पिटाई कर दी। वहां मौजूद लोगों ने इस पूरी घटना का वीडियो भी बना लिया। घटना सिटी पुलिस स्‍टेशन क्षेत्र की थी।

इसके बाद हमने गूगल पर करनाल पुलिस की वेबसाइट से संबंधित पुलिस स्‍टेशन का नंबर सर्च किया। यहां से नंबर मिलने के बाद हमने सिटी पुलिस स्‍टेशन के एसएचओ इंस्‍पेक्‍टर हरिंदर सिंह से संपर्क किया। उन्‍होंने हमें बताया कि ट्रक ड्राइवर को पीटने की कोई घटना इनदिनों नहीं हुई है। जिस वीडियो का आप जिक्र कर रहे हैं, वह पुराना है।

अंत में हमने पुराने वीडियो को वायरल करने वाले फेसबुक यूजर सरदार जसविंदर सिंह के अकाउंट की सोशल स्‍कैनिंग की। इससे हमें पता चला कि यह यूजर पानीपत का रहने वाला है।

निष्‍कर्ष : विश्‍वास टीम की पड़ताल में पता चला कि वायरल हो रहा वीडियो 11 नवंबर 2017 का है। यह घटना हरियाणा के करनाल में घटी थी। घटना के वीडियो को अब दिल्‍ली में एक सिख की पिटाई के बाद वायरल किया जा रहा है।

पूरा सच जानें…

सब को बताएं सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी खबर पर संदेह है जिसका असर आप, समाज और देश पर हो सकता है तो हमें बताएं। हमें यहां जानकारी भेज सकते हैं। हमें contact@vishvasnews।com पर ईमेल कर सकते हैं। इसके साथ ही वॅाट्सऐप (नंबर – 9205270923) के माध्‍यम से भी सूचना दे सकते हैं।

  • Claim Review : अब इस गरीब निहत्थे ड्राइवर ने कौन सी तलवारे दिखा दी जो इसे बिना कसूर के बेरहमी से पीटा जा रहा है..
  • Claimed By : Sardar JasVinder Singh
  • Fact Check : झूठ
झूठ
    फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later