X

स्रोत

विश्वास न्यूज देश का टॉप फैक्ट चेकिंग वेबसाइट है। हम अपने सोर्स (स्रोत) को बहुत ही सावधानी से चुनते हैं, क्योंकि यह हमारी विश्वसनीयता पर सीधा असर डालता है।

फैक्ट चेक करते समय हम सबसे पहले दी गई सूचना या न्यूज़ के स्रोत की वेरिफाई करते हैं। एक बार जब हमें लगता है कि दी गई सूचना के साथ छेड़छाड़ की गई है या तथ्यों को तोड़ा-मरोड़ा गया है तो हम सबसे पहले विश्वसनीय स्रोतों से क्लेम की जांच करते हैं। किसी भी न्यूज या पोस्ट्स को चेक करते समय हम उसके हर पहलू को चेक करते हैं। इसके लिए एक से अधिक सोर्स और सभी पक्षों का वर्जन लेते हैं। अगर, किसी कारणवश हम वर्जन लेने में सक्षम नहीं हो पा रहे तो उस रिपोर्ट/न्यूज/पोस्ट की फैक्ट चेक नहीं करते।

न्यूज सोर्स के तौर पर न्यूजपेपर आर्टिकल, न्यूज वेबसाइट्स, न्यूज को का यूट्यूब लिंक्स, ट्वीट् या फेसबुक पेज आदि को लेते हैं। इंटरनेट के इस युग में कुछ लोग दूसरे संस्थानों के कवरेज को अपना फैक्टस बनाकर पेश कर देते हैं। ऐसी स्थिति में हमारी प्राथमिक जिम्मेदारी होती है कि हम इन्फॉर्मेशन के वेरिफाइड और ऑथेंटिक सोर्स से फैक्ट चेक करें। फैक्ट चेकिंग करते समय हम सोर्स को पूरा क्रेडिट देते हुए उसका नाम अपनी साइट पर पब्लिश करते हैं। उदाहरण के तौर पर, एएनआई/पीटीआई/आईएएनएस आदि। इसी तरह से इमेज सोर्स को भी पूरा क्रेडिट दिया जाता है। उदाहरण – गेट्टी इमेजेज/इमेज बाजार या फाइल फोटो आदि। हम सभी सोर्स को अपनी रिपोर्ट के साथ या तो हाइपर लिंक करते हैं या फिर उनका नाम मेंशन करते हैं

फैक्ट चेक के क्रम में ऑथेंटिक सोर्स का लिंक या स्क्रीनशॉट्स या इंबेडेड यूआरएल दिया जाता है। इससे हमारे पाठक खुद से भी फैक्ट चेक कर पाने में सक्षम होते हैं।

हम जर्नलिज्म के बेसिक प्रिंसिपल को अपनाते हुए फैक्ट चेक करते हैं और इसके लिए आर्टिकल के वेरिफिकेशन करते समय विशेषज्ञों की राय लेने से लेकर फैक्ट्स दी गई सूचना अप-टू-डेट है या नहीं, के हर पहलू को स्टेप-बाय-स्टेप चेक करते हैं। इससे हमारे पाठकों को काफी मदद मिलती है, वो रिपोर्ट के हर पहलू से वाकिफ तो होते ही हैं, साथ में वो इन्फॉर्मेशन के प्राथमिक सोर्स से भी परिचित हो जाते हैं। स्टोरी में विशेषज्ञों का नाम और उनके पद की भी जानकारी दी जाती है।

हम इस बात से इत्तेफाक रखते हैं कि एक ही मसले पर अलग-अलग व्यक्ति की अलग-अलग राय हो सकती है या होती है। अगर, कोई व्यक्ति किसी तरह के आरोपों से इनकार करता है तो आर्टिकल में हम इस प्वाइंट को भी रखते हैं। फैक्ट चेकिंग को पारदर्शी बनाने के लिए यह काफी मायने रखता है।विश्वास न्यूज का एकमात्र उद्देश्य अपने पाठकों के विश्वास पर पूरी तरह से खरे उतरना है और इसके लिए वेबसाइट पर दी गई सूचना पक्षपात रहित होने के साथ-साथ सभी पक्षों के विचारों को शामिल किया जाता है।

हम इस बात का हमेशा ध्यान रखते हैं कि डाटा चार्ट या इन्फोग्राफिक एकदम एक्यूरेट हो। हम डाटा चेक करते समय काफी सावधानी बरतते हैं। पॉलिटिकल स्टेटमेंट्स को कवरेज करते समय या किसी अन्य इवेंट्स में भी हम इस बात का पूरा ध्यान रखते हैं कि दी गई सूचना एकदम सही हो। हम हमारी नैतिक जिम्मेदारी बनती है कि हम अपने पाठकों और फॉलोअर्स को पूरी तरह से कम्प्लीट न्यूज दें।

पब्लिक द्वारा भेजी गई स्टोरीज

जनवरी 2020 से विश्वास न्यूज को उसके अलग-अलग सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स फैक्ट चेक के लिए 167 दावे मिले। ये दावे यूजर्स की तरफ से जांचने के लिए भेजे गए थे। इनमें से विश्वास न्यूज ने करने योग्य 56 दावों का फैक्ट चेक किया (जून-1, जुलाई: 2, अगस्त: 3, सितंबर: 17, अक्टूबर: 33)।

किस प्लेटफॉर्म पर कितने दावे मिले

  • वॉट्सऐप चैटबॉट: 134 (करने योग्य: 49)
  • फेसबुक मैसेंजर: 17 (करने योग्य: 1)
  • इंस्टाग्राम: 1 (करने योग्य: 1)
  • ईमेल: 15 (करने योग्य: 5)

Month Platform Title
June Vishvas Email Fact Check: AIIMS की डॉ. उमा कुमार ने इम्‍यूनिटी को लेकर नहीं दिया यह इंटरव्‍यू, वायरल पोस्‍ट फर्जी है
July Vishvas Email Fact Check : सीएम अशोक गहलोत की 2018 की तस्‍वीर अब की जा रही है झूठे दावे के साथ वायरल
July Vishvas Email Fact Check : महिला अभिभावक के साथ बदतमीजी का यह वीडियो हैदराबाद नहीं, पटना के स्‍कूल का है
August Vishvas Whatsapp Chatbot Quick Fact Check : JIO फ्री रिचार्ज के नाम पर वायरल हो रहा है फर्जी मैसेज, सावधान रहें
August Vishvas Whatsapp Chatbot Fact Check: ‘ग्रेट इंडिया सेल’ को लेकर Amazon के नाम पर वायरल हो रहा मैसेज फर्जी
August Vishvas Email Fact Check : साउथ अफ्रीका के वीडियो को राजस्‍थान के मंदिर का बताकर किया जा रहा वायरल
September Vishvas Whatsapp Chatbot Quick Fact Check: फिर वायरल हुआ इटली के डॉक्टरों का कोरोना से मरे व्यक्ति के शव के ऑटोप्सी के दावे वाला फर्जी पोस्ट
September Vishvas Whatsapp Chatbot Fact Check: यह तस्वीर हाथरस कांड की पीड़िता की नहीं है, किसी अन्य लड़की की तस्वीर गलत दावे से वायरल
September Vishvas Whatsapp Chatbot Fact Check: क्रूज़ शिप का यह वीडियो भारत के गुजरात का नहीं, ग्रीस का है
September Vishvas Whatsapp Chatbot Fact Check: लॉकडाउन रिलीफ फंड के नाम पर सरकार नहीं दे रही है 7500 रुपए, वायरल पोस्ट फर्जी
September Vishvas Whatsapp Chatbot Fact Check : लादेन की बेटी से सिंगर प्रदीप मौर्या की शादी की खबर झूठी
September Vishvas Whatsapp Chatbot Quick Fact Check: फिर वायरल हुआ इटली के डॉक्टरों का कोरोना से मरे व्यक्ति के शव के ऑटोप्सी के दावे वाला फर्जी पोस्ट
September Vishvas Whatsapp Chatbot Fact Check: मोदी सरकार ऑनलाइन पढ़ाई करने वाले सभी बच्चों को नहीं दे रही मुफ्त लैपटॉप, पुरानी अफवाह फिर हो रही वायरल
September Vishvas Whatsapp Chatbot Quick Fact Check: बच्चा चोरी की वॉर्निंग देता गोरखपुर पुलिस का पुराना फर्जी वीडियो फिर वायरल
September Vishvas Whatsapp Chatbot Fact Check: उत्तर प्रदेश में छात्रों को इस बार नहीं मिलेगी छात्रवृत्ति, ऐसा दावा करने वाली पोस्ट फर्जी
September Vishvas Whatsapp Chatbot Quick Fact Check: सांस रोकने के इस टेस्ट का कोरोना संक्रमण से कोई लेना-देना नहीं, वायरल वीडियो है फर्जी
September Vishvas Whatsapp Chatbot Fact Check: कंगना रनोट के भाजपा का प्रचार करने का दावा करने वाली फर्जी ग्राफिक्स प्लेट हुईं वायरल
September Vishvas Whatsapp Chatbot Quick Fact Check: मास्क पहनने से फंगल लंग इन्फेक्शन होने के फर्जी दावे वाली पोस्ट फिर से वायरल
September Vishvas Whatsapp Chatbot Fact Check: जवाहरलाल नेहरू, इंदिरा गांधी और राजीव गांधी के परिवार को लेकर हो रहा दुष्प्रचार, झूठे हैं इस पोस्ट में किए गए सारे दावे
September Vishvas Whatsapp Chatbot Fact Check: कंगना रनोट के भाजपा का प्रचार करने का दावा करने वाली फर्जी ग्राफिक्स प्लेट हुईं वायरल
September Vishvas Whatsapp Chatbot Fact Check: नहीं, जून तिमाही में अमेरिका के GDP के आंकड़े भारत के मुकाबले ज्यादा बुरे नहीं थे, जानिए पूरा ब्योरा
September Vishvas Email Fact Check : वीडियो गुजरात के मल्‍हार घाट का नहीं, मध्‍य प्रदेश के सेठानी घाट का है, झूठी है वायरल पोस्‍ट
September Vishvas Facebook messenger Fact Check: यह ट्वीट मुकेश अंबानी ने नहीं, बल्कि उनके नाम से बने फर्जी ट्विटर अकाउंट से किया गया है
October Vishvas Whatsapp Chatbot Fact Check: यूपी बोर्ड इंटरमीडिएट एग्जाम 2021 की फर्जी डेट शीट हो रही वायरल
October Vishvas Whatsapp Chatbot Fact Check: KBC के नाम पर 25 लाख की लॉटरी वाला मैसेज पूरी तरह फर्जी, फ्रॉड से रहें सावधान
October Vishvas Whatsapp Chatbot Quick Fact Check: 24 घंटे में कोविड-19 के संक्रमण का इलाज नहीं कर सकता ये काढ़ा, झूठा दावा फिर वायरल
October Vishvas Whatsapp Chatbot Fact Check: चंद्रशेखर रावण व विनय दुबे के धर्म को लेकर फैलाए जा रहे वायरल पोस्ट का दावा है फर्जी
October Vishvas Whatsapp Chatbot FACT CHECK: बाजरे की रोटी खाने से कोरोनावायरस से बचाव नहीं हो सकता, वायरल दावा गलत है
October Vishvas Whatsapp Chatbot Fact Check: No, Photo Showing Bears Eating Apples Is Not From Kashmir But From A Conservation Centre In The US
October Vishvas Whatsapp Chatbot Quick Fact Check: Fake Post Claiming NASA Added 13th Zodiac Sign “Ophiuchus” Resurfaces
October Vishvas Whatsapp Chatbot Fact Check: मल्टीविटामिन से इम्युनिटी हो सकती है मजबूत, कोरोना संक्रमण ठीक होने का दावा भ्रामक
October Vishvas Whatsapp Chatbot Fact Check: IAS, IPS परीक्षा में बैठने के लिए न्यूनतम उम्र घटकर नहीं हुई है 26 वर्ष
October Vishvas Whatsapp Chatbot Fact Check: घरेलू इलाज से कोरोना संक्रमण ठीक होने का दावा गलत, कोरोना संकट को WHO बता चुका है महामारी
October Vishvas Whatsapp Chatbot Fact Check: रिलायंस और वॉट्सऐप से जुड़ी यह वायरल पोस्ट फेक है
October Vishvas Whatsapp Chatbot Quick Fact Check: भगवान राम की छवि वाले यह सिक्के फिर से गलत दावे के साथ वायरल
October Vishvas Whatsapp Chatbot Quick Fact Check: फिरोज गांधी के पिता का नाम जहांगीर फरदून था, नेहरू-इंदिरा की तस्वीर गलत दावे के साथ वायरल
October Vishvas Whatsapp Chatbot Fact Check: KBC के नाम पर 25 लाख की लॉटरी वाला मैसेज पूरी तरह फर्जी, फ्रॉड से रहें सावधान
October Vishvas Whatsapp Chatbot Quick Fact Check: चीन में 20 हजार कोरोना मरीजों को मारने के लिए कोर्ट से अनुमति मांगने का दावा करने वाला यह पोस्ट फर्जी
October Vishvas Whatsapp Chatbot Fact Check: नए कम्युनिकेशन नियम और कॉल्स के रिकॉर्ड किये जाने वाला मैसेज फर्जी है
October Vishvas Whatsapp Chatbot Fact Check : प्रयागराज के नेता की तस्‍वीर को हाथरस केस के आरोपी के पिता की बताकर किया गया वायरल
October Vishvas Whatsapp Chatbot Fact Check: नेटफ्लिक्स के नाम पर वायरल हो रहे इस ईमेल पर न करें भरोसा
October Vishvas Whatsapp Chatbot Fact Check: KBC के नाम पर 25 लाख की लॉटरी वाला मैसेज पूरी तरह फर्जी, फ्रॉड से रहें सावधान
October Vishvas Whatsapp Chatbot Quick Fact Check: डोनाल्ड ट्रम्प की तस्वीर वाला ‘टाइम…टू गो’ कवर का फर्जी ग्राफिक फिर वायरल
October Vishvas Whatsapp Chatbot Fact Check: रोड एक्सीडेंट की शिकार महिला कांस्टेबल की तस्वीर गलत दावे के साथ वायरल
October Vishvas Whatsapp Chatbot Fact Check: आठ महीने पुराने वीडियो को हाथरस घटना से जोड़कर किया जा रहा वायरल
October Vishvas Whatsapp Chatbot Fact Check: 2016 में बीजेपी नेता सुब्रत मिश्रा पर हुए हमले के वीडियो को स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन के नाम से किया जा रहा है वायरल
October Vishvas Whatsapp Chatbot Fact Check : प्रयागराज के नेता की तस्‍वीर को हाथरस केस के आरोपी के पिता की बताकर किया गया वायरल
October Vishvas Whatsapp Chatbot Fact Check : हाथरस पीड़िता के अंतिम संस्‍कार का लाइव वीडियो नहीं देख रहे थे योगी, तस्‍वीर से की गई छेड़छाड़
October Vishvas Whatsapp Chatbot Fact Check: पाकिस्तानी नेता की इस तस्वीर को एडिट करके चिपकाई गयी है शराब की बोतल
October Vishvas Whatsapp Chatbot Fact Check: कोरोना के समय छात्रों को मुफ्त स्मार्टफोन नहीं दे रही सरकार, वायरल मैसेज स्पैम है
October Vishvas Whatsapp Chatbot Fact Check: राजस्थान सरकार ने नहीं यूपी सरकार ने जारी किए थे दफ्तरों में अंबेडकर की तस्वीर लगाने के आदेश, वायरल पोस्ट है मॉर्फ्ड
October Vishvas Whatsapp Chatbot Fact Check: केंद्र सरकार ने सरकारी कर्मचारियों के महंगाई भत्ते की कटौती की घोषणा वापस नहीं ली है
October Vishvas Whatsapp Chatbot Fact Check: KBC के नाम पर 25 लाख की लॉटरी वाला मैसेज पूरी तरह फर्जी, फ्रॉड से रहें सावधान
October Vishvas Whatsapp Chatbot Fact Check: कोरोना और अन्य वजह से हुई मौतों पर 2 लाख मिलने की पोस्ट फर्जी
October Vishvas Whatsapp Chatbot Fact Check: गर्म पानी के साथ नींबू पीने से नहीं मरता कोरोना वायरस, PMCH के नाम का गलत इस्तेमाल कर भ्रामक पोस्ट वायरल
October Vishvas Instagram Fact Check: अपहरणकर्ताओं से युवती को बचाते समय जख्मी हुए सिख की तस्वीर भ्रामक दावे के साथ वायरल

विश्वास न्यूज को अपने वॉट्सऐप नंबर पर भी फैक्ट चेक के लिए करीब 500 लिंक्स मिले। इनमें से 30 फीसदी फैक्ट चेक्स करने लायक थे। फैक्ट चेक करने योग्य दावों में से भी 50 फीसदी दावों की जांच हमारी टीम पहले ही कर चुकी थी।

नवीनतम पोस्ट