X

Fact Check: भारी बारिश से सड़क पर वाहन बहने का यह पुराना वीडियो बीकानेर का है, जोधपुर का नहीं

2019 में बीकानेर में हुई भारी बारिश के वीडियो को जोधपुर का हालिया बताकर वायरल किया जा रहा है। हालांकि, जोधपुर में भारी बारिश से बाढ़ जैसे हालात हैं, लेकिन वायरल वीडियो का इससे कोई संबंध नहीं है।

  • By Vishvas News
  • Updated: July 27, 2022
Bikaner, Flood, Jodhpur, Fact Check, Fake News,

नई दिल्ली (विश्वास न्यूज)। भारी बारिश की वजह से राजस्थान समेत देश के कई हिस्सों में बाढ़ की स्थिति बनी हुई है। ऐसे में सोशल मीडिया पर भारी बारिश से सड़क पर वाहनों के बहने का एक वीडियो शेयर किया जा रहा है। इसको शेयर कर यूजर्स दावा कर रहे हैं कि वायरल वीडियो जोधपुर में हाल में हुई भारी बारिश का है।

विश्वास न्यूज ने अपनी पड़ताल में पाया कि वायरल वीडियो जोधपुर का नहीं, बल्कि बीकानेर का है। वीडियो भी करीब तीन साल पुराना है। यह हाल में हुई बारिश का नहीं है।

क्या है वायरल पोस्ट में

ट्विटर यूजर @anju_pandey1 (आर्काइव लिंक) ने 26 जुलाई को वीडियो शेयर करते हुए लिखा,

Breaking News.
Everyone has seen a motorcycle walking on the road, but has anyone seen the water flowing in?

Heavy rains in #Jodhpur
(ब्रेकिंग न्यूज… सबने सड़क पर बाइकों को दौड़ते देखा होगा, लेकिन क्या किसी ने इस पर पानी को बहते देखा है, जोधपुर में भारी बारिश)

https://twitter.com/anju_pandey1/status/1551834943160225792

फेसबुक यूजर ‘ਪੰਜਾਬ ਵਾਲੇ Punjab WALE’ (आर्काइव लिंक) ने भी 26 जुलाई को वीडियो पोस्ट करते हुए समान दावा किया।

पड़ताल

वायरल वीडियो की पड़ताल के लिए हमने सबसे पहले ट्वीट को ध्यान से देखा। इसमें कई यूजर्स ने इसे बीकानेर या श्रीगंगानगर का पुराना वीडियो बताया है।

हमने वीडियो को ध्यान से देखा। इसमें हमें ‘तीन भाइयों की दुकान‘ का बोर्ड दिखाई दिया। इसे गूगल पर सर्च करने पर हमें ‘तीन भाइयों की दुकान’ के बोर्ड की एक फोटो दिखाई दी। इसका पता ‘कोटगेट, बीकानेर’ लिखा हुआ है।

कीवर्ड से और सर्च करने पर हमें ‘ग्रामीण पत्रिका जसरासर/कातर‘ यूट्यूब चैनल पर वायरल वीडियो अपलोड किया हुआ मिला। 1 अगस्त 2019 को अपलोड किए हुए वीडियो का टाइटल है, बीकानेर में हुई तेज वर्षात से वाइक सहित अनेक वाहन पानी में बह गए।

इसकी अधिक जानकारी के लिए हमने ‘तीन भाइयों की दुकान’ के बोर्ड पर लिखे फोन नंबर पर संपर्क किया। दुकान के मालिक किशोर कुमार का कहना है, ‘वायरल वीडियो बीकानेर का है। यह तीन साल पुराना है। इसको पहले श्रीगंगानगर के नाम से भी वायरल किया जा चुका है।

इस बारे में बीकानेर में राजस्थान पत्रिका के रिपार्टर ब्रृजमोहन आचार्य का कहना है, ‘वीडियो बीकानेर के कोटगेट क्षेत्र का है। करीब तीन साल पुराने इस वीडियो का जोधपुर से कोई संबंध नहीं है। इस साल करीब 15 दिन पहले भारी बारिश हुई थी, लेकिन यह वीडियो उसका नहीं है।

26 जुलाई को ANI_HindiNews ने वीडियो ट्वीट कर लिखा है कि भारी बारिश की वजह से जोधपुर में सड़कों पर पानी भर गया है। बाढ़ जैसे हालात में कई वाहन पानी में बहते दिखे।

बीकानेर के पुराने वीडियो को भ्रामक दावे के साथ शेयर करने वाली ट्विटर यूजर ‘अंजू पांडे‘ की प्रोफाइल को हमने स्कैन किया। उन्होंने मई 2021 को ट्विटर ज्वाइन किया है। उनके 719 फॉलोअर्स हैं।

निष्कर्ष: 2019 में बीकानेर में हुई भारी बारिश के वीडियो को जोधपुर का हालिया बताकर वायरल किया जा रहा है। हालांकि, जोधपुर में भारी बारिश से बाढ़ जैसे हालात हैं, लेकिन वायरल वीडियो का इससे कोई संबंध नहीं है।

  • Claim Review : वायरल वीडियो जोधपुर में हाल में हुई भारी बारिश का है।
  • Claimed By : Twitte
  • Fact Check : भ्रामक
भ्रामक
फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

अपना सुझाव पोस्ट करें
और पढ़े

No more pages to load

संबंधित लेख

Next pageNext pageNext page

Post saved! You can read it later