X

Fact Check: 2020 में ‘जनता कर्फ्यू’ की घोषणा करते हुए PM मोदी के भाषण का वीडियो क्लिप हाल का बताकर किया जा रहा वायरल

वर्ष 2020 में कोविड-19 महामारी के शुरुआती संक्रमण के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्र को संबोधित करते हुए जनता कर्फ्यू का ऐलान किया था। इसी वीडियो को हाल का बताकर भ्रामक दावे के साथ शेयर किया जा रहा है। 2020 में जनता कर्फ्यू की घोषणा के दो दिनों बाद ही 21 दिनों के लिए देश भर में संपूर्ण लॉकडाउन की घोषणा की गई थी।

  • By Vishvas News
  • Updated: December 27, 2022

नई दिल्ली (विश्वास न्यूज)। सोशल मीडिया पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का एक वीडियो क्लिप वायरल हो रहा है, जिसमें उन्हें देशवासियों को संबोधित करते हुए सुना और देखा जा सकता है। दावा किया जा रहा है कि प्रधानमंत्री ने अचानक से लोगों के लिए खुशखबरी की घोषणा की। सोशल मीडिया यूजर्स इस वीडियो को कई अलग-अलग भ्रामक व फेक दावों के साथ शेयर कर रहे हैं। मसलन प्रधानमंत्री ने फिर से नोटबंदी की घोषणा की या फिर उन्होंने अचानक से पेट्रोल की कीमतों में कटौती का ऐलान कर दिया। वीडियो को शेयर किए जाने के समय से यह प्रतीत हो रहा है कि प्रधानमंत्री मोदी ने हाल-फिलहाल कोई बड़ी घोषणा की है।

विश्वास न्यूज की जांच में यह दावा भ्रामक निकला। वायरल हो रहा वीडियो वास्तव में कोविड-19 महामारी की शुरुआत में राष्ट्र के नाम दिए गए संबोधन से संबंधित है। 19 मार्च को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जनता कर्फ्यू की अपील की थी, जिसके लिए उन्होंने 22 मार्च को सुबह सात बजे से रात 9 बजे तक का समय तय किया था। जनता कर्फ्यू के ठीक दो दिन बाद ही पूर देश में लॉकडाउन लगाए जाने की घोषणा की गई थी।

क्या है वायरल?

सोशल मीडिया यूजर ‘Asimb’ ने वायरल वीडियो (आर्काइव लिंक) को शेयर करते हुए लिखा है, ”प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अचानक अपने लोगों के लिए खुशखबरी का ऐलान किया।”

कई अन्य यूजर्स ने इस वीडियो को समान और मिलते-जुलते दावे के साथ शेयर किया है। सोशल मीडिया के अलग-अलग प्लेटफॉर्म पर भी इस वीडियो को समान दावे के साथ शेयर किया गया है।

वहीं कुछ यूजर्स इस वीडियो इस दावे के साथ शेयर कर रहे हैं कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अचानक से पेट्रोल की कीमतों में कटौती की घोषणा कर दी है। जबकि अन्य यूजर्स ने इस वीडियो को यह कहते हुए साझा किया है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अचानक देश छोड़ने की घोषणा की है। कुछ यूजर्स इस वीडियो को इस दावे के साथ शेयर कर रहे हैं कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने फिर से नोटबंदी की घोषणा की है।

पड़ताल

वायरल वीडियो क्लिप करीब दो घंटे से अधिक समय का है और इसकी शुरुआत प्रधानमंत्री देशवासियों को संबोधित करते हुए करते हैं। वह कहते हैं कि पूरा विश्व इस समय संकट के बहुत बड़े गंभीर दौर से गुजर रहा है।आम तौर पर कभी जब कोई प्राकृतिक संकट आता है तो वो कुछ देशों या राज्यों तक ही सीमित रहता है। लेकिन इस बार ये संकट ऐसा है, जिसने विश्व भर में पूरी मानवजाति को संकट में डाल दिया है।

वीडियो में वह देश के लोगों से सतर्क रहने की अपील कर रहे हैं। वह आगे कहते हैं, ”….साथियों,मैं आज प्रत्येक देशवासी से एक और समर्थन मांग रहा हूं।ये है जनता-कर्फ्यू। जनता कर्फ्यू यानी जनता के लिए,जनता द्वारा खुद पर लगाया गया कर्फ्यू। इस रविवार,यानी 22 मार्च को, सुबह 7 बजे से रात 9 बजे तक, सभी देशवासियों को,जनता-कर्फ्यू का पालन करना है।”

वह कहते हैं, ”इस दौरान हम न घरों से बाहर निकलेंगे, न सड़क पर जाएंगे, न मोहल्ले में कहीं जाएंगे। सिर्फ आवश्यक सेवाओं से जुड़े लोग ही 22 मार्च को अपने घरों से बाहर निकलेंगे। साथियों,22 मार्च को हमारा ये प्रयास, हमारे आत्म-संयम,देशहित में कर्तव्य पालन के संकल्प का एक प्रतीक होगा। 22 मार्च को जनता-कर्फ्यू की सफलता, इसके अनुभव, हमें आने वाली चुनौतियों के लिए भी तैयार करेंगे।”

इन बातों को सुनने से स्पष्ट है कि वायरल हो रहा वीडियो क्लिप 2020 का है, जब कोविड-19 महामारी भारत में फैलनी शुरू हुई थी और शुरुआती तौर पर देश में जनता कर्फ्यू का ऐलान किया गया था।

भारतीय जनता पार्टी के यू-ट्यूब चैनल पर हमें प्रधानमंत्री के इस संबोधन का ऑरिजिनल वीडियो मिला, जिसे 19 मार्च 2020 को अपलोड किया गया है।

वायरल वीडियो क्लिप इसी संबोधन का अंश है और कई यूजर्स ने इस पूरे वीडियो को ही अपने प्रोफाइल से लाइव किया है। गौरतलब है कि जनता कर्फ्यू के ऐलान के दो दिन बाद ही 24 मार्च 2020 को देश भर में संपूर्ण लॉकडाउन लगाए जाने की घोषणा की गई थी।

प्रधानमंत्री मोदी ने राष्ट्र के नाम संबोधन देते हुए 21 दिनों के लिए संपूर्ण लॉकडाउन को लगाए जाने की घोषणा की थी। कई सोशल मीडिया यूजर्स लॉकडाउन की इस घोषणा को देश में फिर से लॉकडाउन लगाए जाने के साथ वायरल कर रहे हैं।

हमारी जांच से स्पष्ट है कि प्रधानमंत्री मोदी के भाषण का वायरल क्लिप वास्तव में 2020 में जनता कर्फ्यू के ऐलान से पहले के संबोधन का है, जिसे हाल का बताकर भ्रामक दावे से वायरल किया जा रहा है।

वायरल क्लिप को लेकर हमने न्यूज एजेंसी भाषा के पत्रकार दीपक रंजन से संपर्क किया। उन्होंने बताया कि यह वीडियो 2020 का है, जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कोविड-19 महामारी के शुरुआती संक्रमण के दौर में जनता कर्फ्यू का ऐलान किया था और इसके दो दिनों बाद ही संपूर्ण लॉकडाउन की घोषणा कर दी गई थी।

गौरतलब है कि इससे पहले भी सोशल मीडिया पर प्रधानमंत्री के भाषण का एक वीडियो क्लिप वायरल हुआ था, जिसे लेकर दावा किया गया था कि उन्होंने अपने भाषण के दौरान बड़ी नीतिगत घोषणा की है। विश्वास न्यूज ने अपनी जांच में उक्त दावे को भ्रामक पाया था, क्योंकि वायरल हो रहा वीडियो क्लिप 2017 में लोकसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर उनके स्पीच से संबंधित था और ऐसे किसी भाषण के दौरान किसी नीतिगत फैसले की घोषणा नहीं की जाती है।

वायरल वीडियो क्लिप को भ्रामक दावे के साथ शेयर करने वाले यूजर को फेसबुक पर करीब एक हजार से अधिक लोग फॉलो करते हैं।

निष्कर्ष: वर्ष 2020 में कोविड-19 महामारी के शुरुआती संक्रमण के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्र को संबोधित करते हुए जनता कर्फ्यू का ऐलान किया था। इसी वीडियो को हाल का बताकर भ्रामक दावे के साथ शेयर किया जा रहा है। 2020 में जनता कर्फ्यू की घोषणा के दो दिनों बाद ही 21 दिनों के लिए देश भर में संपूर्ण लॉकडाउन की घोषणा की गई थी।

  • Claim Review : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने लोगों के लिए खुशखबरी का ऐलान किया।
  • Claimed By : FB User-Asimb
  • Fact Check : भ्रामक
भ्रामक
फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

अपनी प्रतिक्रिया दें

No more pages to load

संबंधित लेख

Next pageNext pageNext page

Post saved! You can read it later