X

Fact Check: कोविड के नए स्ट्रेन को लेकर लखनऊ नहीं, मेरठ के इलाके हुए सील, वायरल पोस्ट भ्रामक है

  • By Vishvas News
  • Updated: January 8, 2021

नई दिल्ली (विश्वास न्यूज)। फेसबुक पर एक वीडियो शेयर किया जा रहा है, जिसमें कुछ लोग कोई अनाउंसमेंट करते नजर आ रहे हैं। इस वीडियो में की जा रही घोषणा के मुताबिक, संत विहार और मानसरोवर इलाके को 11 जनवरी 2021 तक सील किया जा रहा है और ये कंटेनमेंट जोन हैं। वीडियो में लोगों को सलाह दी जा रही है इन इलाकों में रहने वाले लोगों को सुरक्षा के लिए घरों से बाहर नहीं निकलना चाहिए। इस पोस्ट में यह भी बताया गया है कि ये इलाके यूपी के लखनऊ में हैं और कोविड-19 के लिए नए स्ट्रेन मिलने के बाद सील किए गए हैं।

विश्वास न्यूज की पड़ताल में वायरल पोस्ट का दावा भ्रामक पाया गया है। इस वीडियो में बताए जा रहे इलाके लखनऊ में नहीं, बल्कि मेरठ में हैं। कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन को देखते हुए मेरठ के संत विहार और मानसरोवर इलाके को सील किया गया है।

क्या हो रहा है वायरल

फेसबुक पर Aman Communication (अमन कम्युनिकेशन) नाम के पेज पर इस वीडियो को शेयर किया गया है। इस वीडियो को शेयर करते हुए लिखा गया है, ‘खबर #लखनऊ से–: #कोरोना के नए #स्ट्रेन मिलने का #मामला!! संत विहार और मानसरोवर में 11 जनवरी तक #लोगों के घर से बाहर निकलने पर रोक, #पुलिस-प्रशासन ने किया #एनाउंसमेंट…।’

इस पोस्ट के आर्काइव्ड वर्जन को यहां क्लिक कर देखा जा सकता है।

पड़ताल

विश्वास न्यूज ने जरूरी कीवर्ड्स (new coronavirus strain in Sant Vihar and Mansarovar) की मदद से इस दावे को इंटरनेट पर सर्च किया।

हमें टाइम्स ऑफ इंडिया की वेबसाइट पर एक जनवरी 2021 को प्रकाशित एक रिपोर्ट मिली। इस रिपोर्ट का शीर्षक है, ‘नए कोविड स्ट्रेन को चेक करने के लिए मेरठ में संत विहार और मानसरोवर इलाके सील किए गए।’

घोषणा के मुताबिक, इन इलाकों को 11 जनवरी 2021 तक सील किया गया है।

इंग्लिश के इस आर्टिकल में एक हिस्से में दी गई जानकारी के मुताबिक, ‘कोविड-19 के नए स्ट्रेन के खतरे को देखते हुए मेरठ के संत विहार और मानसरोवर इलाके सील कर दिए गए हैं। कोविड-19 के नए स्ट्रेन से संक्रमित 2 साल की लड़की संत नगर और कोविड-19 के पुराने स्ट्रेन से संक्रमित व ब्रिटेन से लौटे दूसरे मरीज मानसरोवर में रहते हैं। मेरठ के जिला मजिस्ट्रेट के बालाजी ने कहा कि एहतियात के तौर पर दोनों क्षेत्रों को सील कर दिया गया है।’

हमें जागरण पर प्रकाशित एक रिपोर्ट भी मिली। इसमें भी बताया गया है कि कोविड-19 का नया स्ट्रेन मेरठ में मिला है और इससे संक्रमित पाई गई 2 साल की लड़की संत नगर में रहती है।

हमें ऐसी कई न्यूज रिपोर्ट मिलीं, जो इन बातों की पुष्टि करती हैं।

हमारी अबतक की पड़ताल से यह स्पष्ट हो चुका था कि वीडियो में बताई जा रही जगहें लखनऊ में नहीं, बल्कि मेरठ में हैं।

हमने इस संबंध में दैनिक जागरण, लखनऊ के डिजिटल इंचार्ज धर्मेंद्र पांडेय से भी संपर्क किया। उन्होंने भी स्पष्ट करते हुए बताया कि ये वीडियो लखनऊ का नहीं है।

हमने अमन कम्युनिकेशन नाम के फेसबुक पेज की प्रोफाइल को स्कैन किया। फैक्ट चेक किए जाने तक इस पेज के 25,428 फॉलोअर्स थे।

निष्कर्ष: विश्वास न्यूज की पड़ताल में वायरल पोस्ट भ्रामक निकली है। कोविड-19 कंटेनमेंट जोन घोषित किए गए संत विहार और मानसरोवर इलाके लखनऊ में नहीं, बल्कि मेरठ में हैं। इन्हें कोविड-19 के नए स्ट्रेन को चेक करने के लिए सील किया गया है।

  • Claim Review : खबर #लखनऊ से--: #कोरोना के नए #स्ट्रेन मिलने का #मामला!! संत विहार और मानसरोवर में 11 जनवरी तक #लोगों के घर से बाहर निकलने पर रोक, #पुलिस-प्रशासन ने किया #एनाउंसमेंट…
  • Claimed By : Aman Communication
  • Fact Check : भ्रामक
भ्रामक
    फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later