X

Fact Check : नटराज पेंसिल के नाम पर वायरल हो रहा है जॉब का फर्जी विज्ञापन, अलर्ट रहें

हिंदुस्‍तान पेंसिल प्राइवेट लिमिटेड ऐसे धोखाधड़ी का शिकार हुए व्‍यक्तियों को प्रत्‍यक्ष या अप्रत्‍यक्ष रूप से किसी भी नुकसान या क्षति के लिए जिम्‍मेदार नहीं है।

  • By Vishvas News
  • Updated: December 1, 2022
Natraj Pencil

नई दिल्‍ली (विश्‍वास न्‍यूज)। नटराज पेंसिल के नाम पर भोले-भाले लोगों को शिकार बनाने के लिए सोशल मीडिया पर कुछ फर्जी मैसेज वायरल हो रहे हैं। इसमें दावा किया जा रहा है कि कंपनी वर्क फ्रॉम होम जॉब दे रही है। इसके लिए बस कुछ पैसे जमाकर के ज्‍वाइनिंग कार्ड प्राप्‍त किया जा सकता है। विश्‍वास न्‍यूज ने वायरल मैसेज की विस्‍तार से जांच की। सच्‍चाई हमारे सामने आ गई।

दरअसल लोगों को शिकार बनाने के लिए नटराज कंपनी के नाम पर ऐसे मैसेज वायरल किए जा रहे हैं। ऐसे किसी भी मैसेज पर यकीन न करें। खुद नटराज पेंसिल बनाने वाली कंपनी हिंदुस्‍तान पेंसिल्‍स प्राइवेट लिमिटेड की ओर से इसका खंडन किया गया है। उन्‍होंने बताया कि पेंसिल बनाने की पूरी प्रकिया मशीन के जरिए होती है। नौकरी का झांसा देने वाले मैसेज से सावधान रहें।

क्‍या हो रहा है वायरल

फेसबुक यूजर अजय कुमार ने 30 नवंबर को एक पोस्‍ट किया। इसमें लिखा गया, ‘हिंदुस्तान नटराज पेंसिल पैकिंग वर्क फ्रॉम होम जॉब्स घर पर करने का लेडीस एंड पुरुष सभी के लिए जॉब अवेलेबल ऑल इंडिया जॉब कंपनी ₹30000 सैलरी देती है 15,000 एडवांस मैट्रियल के साथ मिलेगा कंपनी का कॉलिंग नंबर 8293350972 कंपनी का व्हाट्सएप नंबर 8293350972 JOINING CARD CHARGE 620’

सोशल मीडिया अलग-अलग यूजर्स इसके मिलते-जुलते विज्ञापन शेयर कर रहे हैं।

वायरल पोस्‍ट का आर्काइव वर्जन यहां देखें ।

पड़ताल

नटराज पेंसिल के नाम पर वायरल विज्ञापन की जांच के लिए सबसे पहले विश्‍वास न्‍यूज ने इसकी स्‍कैनिंग की। वायरल पोस्‍ट की भाषा और हिंदी की गलतियों से ही अंदाजा लग गया कि यह एक फर्जी विज्ञापन है। बड़ी कंपनियां कभी भी ऐसे विज्ञापन नहीं देती हैं।

जांच के अगले चरण में गूगल ओपन सर्च टूल की मदद ली गई। इसमें संबंधित कीवर्ड से सर्च करने पर हमें कई न्‍यूज वेबसाइट पर नटराज पेंसिल के नाम पर धोखाधड़ी की खबरें मिलीं।

जागरण डॉट कॉम पर एक जनवरी 2022 को पब्लिश एक खबर में बताया गया, ‘यदि फेसबुक पर वर्क फ्राम होम का विज्ञापन आ रहा है और कुछ घंटे की कमाई के हजारों रुपये देने का लालच है, तो संभलना होगा, क्योंकि यह आपको ठगी के जाल में फंसाने की चाल हो सकती है। कुछ ऐसा ही गार्गी के साथ हुआ है। उसने भी घर पर ही रहकर काम कर हजारों रुपये कमाने का सपना तो देखा लेकिन इन साइबर शातिरों के जाल में फंसकर 13 हजार 248 रुपये गंवा बैठी। गार्गी ने बताया कि वह अपने फोन में फेसबुक चला रही थी तो विज्ञापन देखा, जिसमें नटराज पेंसिल पैकिंग का जाब वर्क फ्राम होम था। इसमें सैलरी भी 30 हजार रुपये महीना थी, जबकि पेशगी के तौर पर 15 हजार रुपये का वायदा था। वाट्सएप नंबर पर काल किया, तो दूसरे व्यक्ति ने खुद को मनतोष यादव बताया। उसने कहा कि पेंसिल पैकिंग का काम और माल घर पहुंचाया जाएगा और कंपनी का कर्मचारी ही सामान उठाकर ले जाएगा। इसके लिए 650 रुपये रजिस्ट्रेशन के लिए गूगल पे करने होंगे, जो उसने कर दिए।’

ऐसी ही घटना राजस्‍थान में भी हुई। इसे भास्‍कर डॉट कॉम ने कवर किया था। खबर में बताया गया, ‘चूरू में पेंसिल पैकिंग का काम दिलाने का झांसा देकर युवती से ठगी का मामला सामने आया है। ठगों ने अपने जाल में फंसाकर युवती से 96 हजार 339 रुपए की ठगी की वारदात को अंजाम दिया।’

विश्‍वास न्‍यूज ने जांच को आगे बढ़ाते हुए हिंदुस्‍तान पेंसिल्‍स कंपनी से संपर्क किया। उनकी ओर से विश्‍वास न्‍यूज को बताया कि नटराज और अप्‍सरा पेंसिल के नाम पर सोशल मीडिया पर कुछ फर्जी विज्ञापन वायरल होते रहते हैं। नटराज और अप्‍सरा पेंसिल का पूरा काम ऑटोमैटिक है। ऐसे में नौकरी का झांसा देने वाले मैसेज पर यकीन न करें। उनके साथ कभी भी अपना पैन कार्ड या आधार कार्ड शेयर न करें। वरना फ्रॉड का शिकार हो सकते हैं।

हिंदुस्‍तान पेंसिल्‍स कंपनी की ओर से विश्‍वास न्‍यूज को एक वीडियो भी उपलब्‍ध कराया गया। इसमें वायरल विज्ञापन की सच्‍चाई को लेकर बताया गया। साथ में कहा गया कि हिंदुस्‍तान पेंसिल प्राइवेट लिमिटेड ऐसे धोखाधड़ी का शिकार हुए व्‍यक्तियों को प्रत्‍यक्ष या अप्रत्‍यक्ष रूप से किसी भी नुकसान या क्षति के लिए जिम्‍मेदार नहीं है।

विश्‍वास न्‍यूज ने पहले भी कई बार ऐसे क्‍लेम की जांच की है। इन क्‍लेम को लेकर साइबर एक्सपर्ट अनुज अग्रवाल कहते हैं कि ऐसे मैसेज के माध्‍यम से कुछ लोग आसानी से शिकार हो जाते हैं। कंपनियां इस प्रकार से मैसेज पोस्‍ट नहीं करती हैं। इसलिए यदि ऐसा मैसेज दिखे तो सबसे पहले संबंधित कंपनी की वेबसाइट और उनके सोशल मीडिया हैंडल को जरूर चेक करना चाहिए। इस प्रकार के मैसेज को कई बार डाटा कलेक्ट करने के लिए बनाए जाते हैं। ऐसे मैसेज पर भरोसा नहीं करना चाहिए।

निष्‍कर्ष : विश्‍वास न्‍यूज की पड़ताल में पता चला कि नटराज पेंसिल के नाम पर वायरल विज्ञापन फर्जी है। कंपनी की ओर से ऐसा कोई विज्ञापन जारी नहीं किया गया। कंपनी ने अपनी वेबसाइट पर भी इसके बारे में विस्‍तार से जानकारी दी हुई है।

  • Claim Review : नटराज पेंसिल वर्क कंपनी दे रही है मौका घर पर रहकर काम करने का
  • Claimed By : फेसबुक यूजर अजय कुमार
  • Fact Check : झूठ
झूठ
फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

अपनी प्रतिक्रिया दें

No more pages to load

संबंधित लेख

Next pageNext pageNext page

Post saved! You can read it later