X

Fact Check : भारतीय जवान की नहीं, कुर्दिश महिला फाइटर की है यह तस्‍वीर

  • By Vishvas News
  • Updated: June 4, 2019

नई दिल्‍ली (विश्‍वास टीम)। सोशल मीडिया पर एक महिला की तस्‍वीर वायरल हो रही है। इसके बार में दावा किया जा रहा है कि महिला राजस्‍थान के रेगिस्‍तान में पहरा देती हुई भारतीय जवान है। विश्‍वास टीम की पड़ताल में यह पोस्‍ट फर्जी साबित हुई। वायरल पोस्‍ट में दिख रही महिला का नाम आसिया रमजान आंतर है। यह एक कुर्दिश महिला जवान थी। उसकी सीरिया में आतंकियों से लड़ते हुए 30 अगस्‍ता 2016 में मौत हो चुकी है।

क्‍या है वायरल पोस्‍ट

फेसबुक यूजर प्रीति शर्मा ने एक महिला जवान की तस्‍वीर को अपलोड करते हुए लिखा : राजस्‍थान के तपते रेगिस्‍तान में पहरा देती भारतीय जवान। रूक क्‍यों गए। अब बोलो जय हिंद।

यह तस्‍वीर न सिर्फ फेसबुक पर, बल्कि Twitter और WhatsApp के जरिए लोगों के मोबाइल तक फैल गई है।

पड़ताल

विश्‍वास टीम ने सबसे पहले वायरल तस्‍वीर को गूगल रिवर्स इमेज में अपलोड करते सर्च किया। हमारे सामने गूगल के कई पेज खुल गए। रिलेटेड सर्च में आसिया रमजान आंतर नाम सजेक्‍ट किया गया। देश-दुनिया की कई वेबसाइट पर यह तस्‍वीर मौजूद है।

इसके बाद हमने आसिया के विकीपीडिया पेज पर गए। यहां से हमें जानकारी मिली कि 30 अगस्‍त 2016 को आतंकियों से लड़ते हुए आसिया की मौत हो गई थी। वह एक कुर्दिश फाइटर थी।

अपनी पड़ताल को आगे बढ़ाते हुए हमने ए‍क बार फिर वायरल तस्‍वीर को गूगल रिवर्स इमेज में सर्च किया। हमें ब्रिटेन की वेबसाइट thesun.co.uk पर एक खबर मिली। इस खबर में वायरल फोटो का यूज किया गया था। तस्‍वीर Alberto Hugo Rojas ने क्लिक की थी। यह आप फोटो के नीचे देख सकते हैं।

खबर में विस्‍तार से आसिया के बारे में बताया गया। खबर के मुताबिक, तुर्की से सटी सीरिया की सीमा पर ISIS के आतंकियों से लड़ते हुए आसिया की मौत हो गई थी। 2014 से यह आतंकियों से लोहा ले रही थी। यह खबर आप ईरान की वेबसाइट ifpnews.com पर भी पढ़ सकते हैं।

आखिरकार हम कन्‍फर्म हो गए कि भारतीय जवान के नाम एक कुर्दिश महिला की तस्‍वीर वायरल हो रही है। इसके बाद हमने सीमा सुरक्षा बल (BSF) के जनसंपर्क अधिकारी शुभेंदु भारद्वाज से संपर्क किया। उन्‍होंने बताया कि वायरल हो रही पोस्‍ट में दिख रही महिला का बीएसएफ से कोई संबंध नहीं है।

इसके बाद हमने फर्जी पोस्‍ट करने वाले फेसबुक पेज की सोशल स्‍कैनिंग की। Stalkscan टूल से हमें पता चला कि प्रीति सिन्‍हा नाम के इस फेसबुक पेज को 27 मार्च 2019 में बनाया गया है। इस पेज को 19 हजार से ज्‍यादा लोग फॉलो करते हैं। इस पेज पर अनजान लड़कियों की तस्‍वीरों को गलत संदर्भ के साथ पोस्‍ट किया जाता है।

निष्‍कर्ष : विश्‍वास टीम की पड़ताल में पता चला कि वायरल पोस्‍ट में दिख रही महिला का भारतीय सेना से कोई संबंध नहीं है। यह एक कुर्दिश फाइटर थी। इसका नाम आसिया रमजान आंतर था। इसकी 2016 में ही मौत हो चुकी है।

पूरा सच जानें…

सब को बताएं सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी खबर पर संदेह है जिसका असर आप, समाज और देश पर हो सकता है तो हमें बताएं। हमें यहां जानकारी भेज सकते हैं। हमें contact@vishvasnews।com पर ईमेल कर सकते हैं। इसके साथ ही वॅाट्सऐप (नंबर – 9205270923) के माध्‍यम से भी सूचना दे सकते हैं।

  • Claim Review : राजस्‍थान के रेगिस्‍तान में भारतीय महिला जवान
  • Claimed By : Preeti Sinha
  • Fact Check : झूठ
झूठ
    फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later