X

Fact Check: कर्नाटक के रामनवमी के पुराना वीडियो को उज्जैन का बताकर वायरल

  • By Vishvas News
  • Updated: December 28, 2020

नई दिल्ली (विश्वास टीम)। मध्य प्रदेश के उज्जैन में 25 दिसंबर को बाइक रैली पर पथराव की घटना के बाद से ही सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है। इस वीडियो में भारी भीड़ दिखाई दे रही है और लोगों के हाथ में भगवा रंग के झंडे भी देखे जा सकते हैं। वीडियो के साथ दावा किया जा रहा है कि 25 दिसंबर की पथराव वाली घटना के जवाब में 26 दिसंबर को उज्जैन में यह रैली निकाली गई, ताकि हिंदुओं की ताकत दिखाई जा सके।

विश्वास न्यूज ने पड़ताल में पाया कि वायरल वीडियो करीब एक साल पुराना है और यह कर्नाटक के गुलबर्गा में रामनवमी की शोभा यात्रा का है।

क्या है वायरल पोस्ट में?

फेसबुक पर यह पोस्ट सुनिता मुकेश प्रसाद नामक यूजर ने साझा की है। वीडियो शेयर करते हुए कैप्शन में लिखा गया है — कल जहां #पथराव किया गया था’ #उज्जैन में” ये आज की #दृश्य है! ये है’ हम #हिन्दुओ की ताकत

पोस्ट का आर्काइव्ड वर्जन यहां देखा जा सकता है।

पड़ताल

विश्वास न्यूज ने वायरल वीडियो की जांच करने के लिए सबसे पहले इनविड टूल की मदद से वीडियो के कीफ्रेम्स काटे और फिर इनमें से एक कीफ्रेम को गूगल रिवर्स इमेज सर्च की मदद से ढूंढा। हमें इस वीडियो का लंबा वर्जन यूट्यूब पर मिला, जहां Hiremath Varun नामक यूजर ने इसे 13 अप्रेल 2019 को अपलोड किया था।

इस वीडियो के साथ टाइटल में लिखा गया है — रामनवमी बिगेस्ट सेलिब्रेशन गुलबर्गा शोभा यात्रा 2019

वायरल वीडियो में 16 सेकंड पर एक मस्जिद नजर आती है। यूट्यूब पर जो वीडियो हमें मिला, उस वीडियो में भी 28 सेकंड पर वही मस्जिद देखी जा सकती है।

पड़ताल को आगे बढ़ाते हुए विश्वास न्यूज ने उज्जैन के पुलिस अधीक्षक सत्येंद्र कुमार शुक्ला से संपर्क किया। उन्होंने हमें बताया कि 26 तारीख को सड़क पर कुछ लोग कार्रवाई का विरोध करने के लिए जरूर एकत्रित हुए थे, लेकिन उन्हें तुरंत ही वहां से हटा दिया गया था। 26 दिसंबर को उज्जैन के बेगमबाग में कोई रैली नहीं निकाली गई। वायरल वीडियो उज्जैन का नहीं है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, 25 दिसंबर को अयोध्या में राम मंदिर बनाने के लिए चंदा एकत्रित करने के लिए बाइक रैली निकाली गई थी। इस रैली पर समुदाय विशेष के लोगों ने पथराव कर दिया था, जिसके बाद वहां तनाव की स्थिति बन गई थी।

फेसबुक पर वायरल पोस्ट सुनिता मुकेश प्रसाद नामक यूजर ने शेयर की है। यूजर की प्रोफाइल को स्कैन करने पर हमने पाया कि यूजर झारखंड के धनबाद की रहने वाली है। यूजर को 1600 लोग फॉलो करते हैं।

निष्कर्ष: वायरल हो रहा वीडियो उज्जैन का नहीं है। यह वीडियो कर्नाटक के गुलबर्गा इलाके में रामनवमी के अवसर पर साल 2019 में निकाली गई शोभा यात्रा का है।

  • Claim Review : 25 दिसंबर को पथराव की घटना के बाद उज्जैन में 26 दिसंबर को हिंदुओं ने निकाली रैली।
  • Claimed By : FB User : सुनिता मुकेश प्रसाद
  • Fact Check : झूठ
झूठ
    फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later