X

Fact Check: रिलायंस और वॉट्सऐप से जुड़ी यह वायरल पोस्ट फेक है

  • By Vishvas News
  • Updated: October 13, 2020

नई दिल्‍ली (Vishvas News)। वॉट्सऐप पर एक मैसेज वायरल हो रहा है। इसमें दावा किया जा रहा है कि वॉट्सऐप को रिलायंस ने खरीद लिया है। यह मैसेज हमें हमारे एक यूजर ने विश्वास न्यूज के चैटबॉट (+91 95992 99372) पर वेरिफाई करने के लिए भेजा। यह मैसेज सोशल मीडिया के बाकी प्लेटफॉर्म्स पर भी वायरल है।

विश्‍वास न्‍यूज की जांच में पता चला कि मुकेश अंबानी के नाम पर वायरल मैसेज पूरी तरह फर्जी है। रिलायंस ने वॉट्सऐप नहीं खरीदा है। कंपनी के प्रवक्‍ता ने भी इस मैसेज को फेक बताया।

क्‍या हो रहा है वायरल

वायरल मैसेज में लिखा है:

“Good news FINAL NOTICE

“Dont ignore please read it carefully” Hello, I. Am VARUN PULYANI director of whatsapp, this message is to inform all of our users that we have sold whatsapp to Mukesh Ambani . Reliance for 19 billion $. WhatsApp is now controlled by mukesh Ambani . If you have at least 10 contacts send this sms and logo of your whatsapp will change to a new icon with facebook’s “f” within 24 hours.Forward this message to more than 10 people to activate your new whatsapp with facebook services or else your account will be deleted from new servers.

इस पोस्ट के आर्काइव्ड वर्जन को यहां देखा जा सकता है।

पड़ताल

इस पोस्ट में मोटे तौर पर निम्नलिखित 2 दावे किये गए हैं:

1) वरुण पुलानी नाम का कोई व्यक्ति है जो वॉट्सऐप का निदेशक है।

2) वॉट्सऐप को मुकेश अंबानी को बेच दिया गया है।

हमने एक-एक करके इन्हें फैक्ट चेक किया।

क्लेम 1

हमने ढूंढा तो पाया कि वॉट्सऐप के संस्थापक ब्रायन एक्टन हैं और सह-संस्थापक जान कौम हैं। उन्होंने 2014 में $19bn (£ 11.4bn) में फेसबुक को वॉट्सऐप बेच दिया था।

क्लेम 2

इसके बाद हमने गूगल पर ढूंढा कि वॉट्सऐप का फिलहाल मालिकाना हक़ किसके पास है। वॉट्सऐप के संस्थापक ब्रायन एक्टन और सह-संस्थापक जान कौम ने 2014 में $19bn में फेसबुक को वॉट्सऐप बेच दिया था। ढूंढ़ने पर हमने पाया कि वॉट्सऐप का मालिकाना हक़ फेसबुक के पास है।

वॉट्सऐप की वेबसाइट के अनुसार, वॉट्सऐप के संस्थापक ब्रायन एक्टन और सह-संस्थापक जान कौम ने 2014 में $19 bn में फेसबुक को वॉट्सऐप बेच दिया था। साइट के अनुसार, वॉट्सऐप फ्री है और दुनिया भर में फोन पर उपलब्ध सरल, सुरक्षित, विश्वसनीय मैसेजिंग और कॉलिंग प्रदान करता है।

पड़ताल के अगले चरण में Vishvas News ने रिलायंस कंपनी के प्रवक्‍ता से संपर्क किया। उन्होंने हमें बताया “यह मैसेज सही नहीं है। रिलायंस ने वॉट्सऐप नहीं खरीदा है।”

ढूंढ़ने पर हमने पाया कि यह फर्जी क्लेम 2014 से ही सोशल मीडिया पर शेयर किया जा रहा है और समय-समय पर वायरल होता रहता है।


निष्कर्ष: विश्‍वास न्‍यूज की जांच में पता चला कि मुकेश अंबानी के नाम पर वायरल मैसेज पूरी तरह फर्जी है। रिलायंस ने व्हाट्सऐप नहीं खरीदा है।

  • Claim Review : Hello, I. Am VARUN PULYANI director of whatsapp, this message is to inform all of our users that we have sold whatsapp to Mukesh Ambani . Reliance for 19 billion
  • Claimed By : Anil Gowda
  • Fact Check : झूठ
झूठ
    फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later