X

Fact Check: कोरोना के दौरान कुंभ पर सवाल उठाने वाली पत्रकार प्रज्ञा मिश्रा की हत्या की खबर अफवाह, दूसरी वारदात का वीडियो गलत दावे से वायरल

  • By Vishvas News
  • Updated: April 19, 2021

विश्वास न्यूज (नई दिल्ली)। सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है। इस वीडियो में एक शख्स किसी महिला पर हमले करता दिखाई दे रहा है। सोशल मीडिया यूजर्स दावा कर रहे हैं कि वीडियो में दिख रही महिला पत्रकार प्रज्ञा मिश्रा हैं, जिन्हें  कोरोना वायरस के समय हुए कुंभ मेले पर सवाल उठाने पर मार दिया गया है। विश्वास न्यूज की पड़ताल में ये दावा गलत निकला है। यह वीडियो पहले भी दूसरे सांप्रदायिक दावे से वायरल हो चुका है। पिछले दिनों दिल्ली में हुई एक आपराधिक वारदात का वीडियो एक बार फिर गलत दावे से शेयर किया जा रहा है।

विश्वास न्यूज की पड़ताल में सामने आया है कि दिल्ली के रोहिणी में एक शख्स ने सरेआम अपनी पत्नी को चाकुओं से गोद कर मार डाला। उसी घटना का सीसीटीवी फुटेज सोशल मीडिया पर गलत दावे संग वायरल हो गया।

क्या हो रहा है वायरल

ट्विटर यूजर Sharif Afridi ने 18 अप्रैल 2021 को वायरल सीसीटीवी फुटेज ट्वीट करते हुए लिखा है, ‘भारत में दिन के उजाले में प्रज्ञा मिश्रा की हत्या कर दी गई क्योंकि वह खबरों में कोरोना वायरस के दौर में कुंभ मेला के बारे में बात कर रही थीं।’

इस ट्वीट के आर्काइव्ड वर्जन को यहां क्लिक कर देखा जा सकता है।

पड़ताल

विश्वास न्यूज ने अपनी पड़ताल शुरू करते हुए सबसे पहले वायरल वीडियो पर InVID टूल का इस्तेमाल किया। हमने InVID टूल में डाल वायरल वीडियो के कीफ्रेम्स निकाले और उनपर गूगल रिवर्स इमेज सर्च टूल का इस्तेमाल किया। इंटरनेट पर इससे मिलते-जुलते ढेरों परिणाम से होते हुए हम Life is Beautiful Yours Sharmila नाम के यूट्यूब चैनल पर पहुंचे, जहां 12 अप्रैल 2021 को इस वायरल वीडियो को अपलोड किया गया है। इसके डिस्क्रिप्शन के मुताबिक, यह मामला दिल्ली के रोहिणी का है। इसमें बताया गया है कि किसी हरीश मेहता नाम के आरोपी ने अपनी पत्नी नीलू को चाकू घोंपकर मार डाला।

इस जानकारी के आधार पर हमने आगे सर्च किया तो हमें इंडिया टुडे की वेबसाइट पर 10 अप्रैल 2021 को प्रकाशित एक रिपोर्ट मिली। इसमें भी वायरल वीडियो के स्क्रीनग्रैब का इस्तेमाल किया गया है। इस रिपोर्ट में भी आरोपी का नाम हरीश मेहता बताया गया है, जिसने अपनी पत्नी नीलू मेहता को चाकू से मार डाला। इसी तरह हमें हमारे सहयोगी दैनिक जागरण की वेबसाइट पर भी 10 अप्रैल को प्रकाशित रिपोर्ट में इस घटना का जिक्र मिला। वहीं, हिन्दुस्तान टाइम्स की वेबसाइट पर 11 अप्रैल 2021 को प्रकाशित रिपोर्ट में इस घटना का जिक्र करते हुए बताया गया था कि पति ने अफेयर के शक में पत्नी को मार डाला, जिसके बाद विजय विहार पुलिस (जिस थाने में वारदात स्थल आता है) के दो बीट कॉन्स्टेबलों ने आरोपी को पकड़ लिया।

विश्वास न्यूज पहले भी इस वायरल वीडियो से जुड़े एक अलग दावे की पड़ताल कर चुका है। तब दावा किया जा रहा था कि कथित तौर पर लव जिहाद का विरोध करने पर महिला को मारा गया। हमने उस फैक्ट चेक स्टोरी के दौरान इस वीडियो को दिल्ली के विजय विहार पुलिस संग साझा भी किया था। उन्होंने भी कहा था कि इस मामले का कोई सांप्रदायिक एंगल नहीं है। तब की गई फैक्ट चेक स्टोरी को यहां नीचे पढ़ा जा सकता है।

विश्वास न्यूज ने अपनी पड़ताल को आगे बढ़ाते हुए पत्रकार प्रज्ञा मिश्रा के बारे में जानकारी जुटानी शुरू की। हमें उनकी फेसबुक प्रोफाइल पर 18 अप्रैल 2021 को शेयर एक लाइव वीडियो मिला। प्रज्ञा मिश्रा ने लाइव आकर उनके खिलाफ चल रहे वायरल अफवाह का खंडन किया है। उनके इस लाइव वीडियो को यहां क्लिक कर देखा जा सकता है।

विश्वास न्यूज ने वायरल वीडियो के संबंध में सीधे प्रज्ञा मिश्रा से संपर्क किया। उन्होंने बताया कि वायरल वीडियो की वजह से उनसे हजारों लोगों ने संपर्क करने की कोशिश की। उन्होंने लाइव आकर खुद के ठीक होने की बात बताई। प्रज्ञा मिश्रा ने विश्वास न्यूज को बताया कि ऐसी घटनाएं लोगों के सामने घट रही हैं और लोग सड़कों पर मूकदर्शक हैं, ये बड़ी गंभीर बात है। उन्होंने एक बार फिर विश्वास न्यूज को पुष्टि करते हुए बताया कि वह ठीक हैं।

विश्वास न्यूज ने इस वीडियो को गलत दावे संग ट्वीट करने वाले ट्विटर यूजर Sharif Afridi की प्रोफाइल को स्कैन किया। यूजर पेशावर, पाकिस्तान के रहने वाले हैं।

निष्कर्ष: विश्वास न्यूज की पड़ताल में वायरल वीडियो और पत्रकार प्रज्ञा मिश्रा को लेकर किया जा रहा दावा गलत निकला है। यह वीडियो पहले भी दूसरे सांप्रदायिक दावे से वायरल हो चुका है। पिछले दिनों दिल्ली में हुई एक आपराधिक वारदात का वीडियो एक बार फिर गलत दावे से शेयर किया जा रहा है।

  • Claim Review : वीडियो में दिख रही महिला पत्रकार प्रज्ञा मिश्रा हैं, जिन्हें  कोरोना वायरस के समय हुए कुंभ मेले पर सवाल उठाने पर मार दिया गया है।
  • Claimed By : ट्विटर यूजर Sharif Afridi
  • Fact Check : झूठ
झूठ
    फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later