X

Fact Check : घास खाते बच्चे के वीडियो का पाकिस्तान में बाढ़ के कारण आए हालिया खाद्य संकट से कोई लेना- देना नहीं है

विश्वास न्यूज़ ने अपनी पड़ताल में पाया कि यह दावा भ्रामक है। वायरल वीडियो का पाकिस्तान में बाढ़ के कारण आए हालिया खाद्य संकट से कोई लेना-देना नहीं है। वीडियो फरवरी 2022 से इंटरनेट पर मौजूद है।

  • By Vishvas News
  • Updated: September 19, 2022

नई दिल्ली (विश्‍वास न्‍यूज)। पाकिस्‍तान में भारी बारिश और बाढ़ के बाद पैदा हुआ गंभीर खाद्य संकट के बीच एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है। इसमें एक बच्‍चे को घास खाते हुए देखा जा सकता है। सोशल मीडिया पर इस वीडियो को पाकिस्‍तान का बताते हुए वायरल किया जा रहा है। दावा किया जा रहा है कि यह वीडियो पाकिस्तान का है, जहाँ भारी बारिश और बाढ़ के कारण गंभीर खाद्य संकट पैदा हो गया है।

विश्वास न्यूज़ ने वायरल पोस्‍ट की जांच की। दावा भ्रामक साबित हुआ। वायरल वीडियो का पाकिस्तान में बाढ़ के कारण आए हालिया खाद्य संकट से कोई लेना-देना नहीं है। वीडियो फरवरी 2022 से इंटरनेट पर मौजूद है।

क्या है वायरल पोस्ट में?

फेसबुक यूजर इकबाल अफरीदी नाम के यूजर इस वीडियो को #FloodsInPakistan2022 हैशटैग इस्तेमाल करते हुए पोस्ट किया।

फेसबुक पोस्‍ट के कंटेंट को यहां ज्‍यों का त्‍यों लिखा गया है। पोस्‍ट को सच समझकर दूसरे यूजर्स भी वायरल कर रहे हैं। पोस्ट के आर्काइव वर्जन को यहां देखा जा सकता है।

पड़ताल

पाकिस्‍तान के नाम पर वायरल वीडियो वाली पोस्ट की पड़ताल शुरू करने के लिए हमने सबसे पहले वायरल वीडियो के स्क्रीनग्रैब्स को यांडेक्स रिवर्स इमेज पर सर्च किया। हमें यह वीडियो DELHI XpRess नाम के एक ट्विटर हैंडल पर मार्च 2022 में सीरिया का बताते हुए अपलोडेड मिला। साथ में लिखा था, “Syrian boy is eating grass against the bread #allah rahm on all people in the world”

हमें यह वीडियो Tariq Rafi नाम के ट्विटर हैंडल पर भी मार्च 2022 में इसी डिस्क्रिप्शन के साथ मिला कि यह सीरिया का है।

यहाँ से सुराग लेते हुए हमने इस वीडियो को फिर से यांडेक्स रिवर्स इमेज पर ‘सीरिया’ कीवर्ड के साथ सर्च किया। हमें यह वीडियो Atif Maqbool नाम के एक यूट्यूब चैनल पर 25 फरवरी 2022 को अपलोडेड मिला। साथ में लिखा था, “Child eating grass due to lack of food in Syria: where is humanity? – Atif Maqbool”

हमें यह वीडियो सीरिया के होने के दावे के साथ Nayab نایاب और Bibi-Hawa नाम के यूट्यूब चैनल पर भी फरवरी 2022 में ही अपलोडेड मिला।

https://www.youtube.com/watch?v=otHxoYohxhw

हालांकि, हमें कुछ जगहों पर यह वीडियो यूक्रेन का बताते हुए भी अपलोड मिला।

हमने इस विषय में पाकिस्तान के न्यूज़ चैनल 24 News HD के पत्रकार मोहम्मद कामरान से संपर्क साधा। उन्होंने बताया, “यह बात सही है कि पाकिस्तान इस समय बाढ़ के कारण आए खाद्य संकट से जूझ रहा है। मगर वायरल वीडियो पाकिस्तान का नहीं है। यह लम्बे समय से इंटरनेट पर मौजूद है। इसका हालिया पाकिस्तान में आई बाढ़ से कोई संबंध नहीं है।”

विश्वास न्यूज़ स्वतंत्र रूप से इस बात की पुष्टि तो नहीं करता कि घास खाते बच्चे का वीडियो कहाँ का है और कब का है, मगर यह बात साफ़ है कि वीडियो का हाल में पाकिस्तान में आई बाढ़ और खाद्य संकट से कोई लेना-देना नहीं है। वीडियो फरवरी 2022 से इंटरनेट पर मौजूद है।

आपको बता दें कि पकिस्तान बीते कुछ समय से भरी बारिश और बाढ़ के संकट से जूझ रहा है। ऐसे में कई न्यूज़ रिपोर्ट्स में बताया गया है कि देश में खाद्य संकट मंडरा रहा है। thehindu.com की 12 सितम्बर की खबर के अनुसार, “पाकिस्तानी प्रधानमंत्री ने तुर्की के राष्ट्रपति को फोन पर बताया, घातक बाढ़ के बाद पाकिस्तान भोजन की कमी से जूझ रहा है। ऐसे में अधिकारियों ने सोमवार को भोजन, तंबू और अन्य वस्तुओं को वितरित करने के प्रयासों को बढ़ाया है।”

theprint.in/ की खबर के अनुसार, “पाकिस्तान में बड़े पैमाने पर आई बाढ़ से फसलों और पशुओं के नुकसान ने देश की खाद्य सुरक्षा पर सवाल खड़े कर दिए हैं। खासकर जैसे-जैसे सर्दी आ रही है……. पाकिस्तान के विदेश मंत्री बिलावल भुट्टो-जरदारी ने सीजीटीएन को दिए एक इंटरव्यू में कहा कि बाढ़ से देश की लगभग 80 से 90 प्रतिशत फसल बर्बाद हो गई है।”

वायरल वीडियो को भ्रामक दावे के साथ Iqbal Afridi नाम के यूजर ने शेयर किया। प्रोफाइल के अनुसार, यूजर पाकिस्तान के पेशावर के रहने वाले हैं।

निष्कर्ष: विश्वास न्यूज़ ने अपनी पड़ताल में पाया कि यह दावा भ्रामक है। वायरल वीडियो का पाकिस्तान में बाढ़ के कारण आए हालिया खाद्य संकट से कोई लेना-देना नहीं है। वीडियो फरवरी 2022 से इंटरनेट पर मौजूद है।

  • Claim Review : खाद्य संकट के कारण घास खा रहा पाकिस्तानी बच्चा
  • Claimed By : Facebook user Iqbal Afridi
  • Fact Check : भ्रामक
भ्रामक
फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

अपनी प्रतिक्रिया दें

No more pages to load

संबंधित लेख

Next pageNext pageNext page

Post saved! You can read it later