X

Fact Check: यमुना एक्सप्रेस-वे मर्डर ऑनर किलिंग से संबंधित घटना, सांप्रदायिक रंग देकर साझा की जा रही तस्वीरें

सूटकेस में यमुना एक्सप्रेस-वे पर मिली युवती की लाश वाली घटना में कोई भी सांप्रदायिक पहलू नहीं है। हत्या के आरोप में पुलिस ने लड़की के माता-पिता (ब्रजबाला और नितेश यादव) को गिरफ्तार किया है और उन्हें जेल भेजा जा चुका है। पुलिस की अब तक की जांच के मुताबिक, यह मामला ऑनर किलिंग का है।

  • By Vishvas News
  • Updated: November 22, 2022

नई दिल्ली (विश्वास न्यूज)। सोशल मीडिया यूजर्स यमुना एक्सप्रेस-वे पर सूटकेस में मिली लड़की के शव की तस्वीरों को ‘लव जिहाद’ से जुड़ी घटना का बताकर शेयर कर रहे हैं। यूजर्स का दावा है कि श्रद्धा हत्याकांड की तरह इसमें भी आरोपी युवक मुस्लिम समुदाय से संबंधित था, जिसने हिंदू लड़की की हत्या कर उसके शव को सूटकेस में डालकर उसे ठिकाने लगाने की कोशिश की।

विश्वास न्यूज की जांच में यह दावा गलत निकला, जिसे सांप्रदायिक रंग देकर भड़काऊ दावे के साथ शेयर किया जा रहा है। यमुना एक्सप्रेस-वे पर सूटकेस में मिली लड़की की लाश आयुषी यादव की थी। पुलिस ने इस मामले में आयुषी के माता और पिता दोनों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। इस मामले में कोई भी सांप्रदायिक पहलू नहीं है और पुलिस की प्राथमिक जांच के मुताबिक, यह मामला ऑनर किलिंग का है।

क्या है वायरल?

सोशल मीडिया यूजर ‘Ikansh Bhardwaj’ने हत्याकांड की तस्वीरों (आर्काइव लिंक) को शेयर करते हुए लिखा है, ”हमारी बहन-बिटिया कब तक लव-जिहाद का शिकार होती रहेंगी?
ये सूटकेस,फ्रिज कब तक?
बहन-बेटियो को जागरूक करने को सभी लव-जिहाद का शिकार हुए सभी परिवार-जनो के सहयोग से एक बड़ी मुहिम चलानी होगी बहन-बेंटियो को जागरूक करने को
मथुरा यमुना एक्सप्रेस वे पर सूटकेस में मिला एक ओर बिटिया का शव।”

सोशल मीडिया पर गलत और सांप्रदायिक दावे के साथ वायरल पोस्ट

सोशल मीडिया के अलग-अलग प्लेटफॉर्म पर कई अन्य यूजर्स ने इस हत्याकांड की तस्वीरों को समान सांप्रदायिक दावे के साथ शेयर किया है।

https://twitter.com/AnchalTv/status/1593818192375615488?t=6QPThgOLhEJ88Y9c8MijdQ&s=19

पड़ताल

श्रद्धा मर्डर के बाद यमुना एक्सप्रेस-वे पर सूटकेस मिली युवती की लाश मिली थी। न्यूज रिपोर्ट्स के मुताबिक, ‘उत्तर प्रदेश के मथुरा के थाना राया क्षेत्र के अंतर्गत यमुना एक्सप्रेस-वे के पास शुक्रवार सुबह सूटकेस में एक लड़की का शव मिलने से हड़कंप मच गया। लड़की के सीने में गोली मारकर उसकी हत्या की गई है। शरीर पर चोट के कई निशान हैं जिससे लग रहा है कि हत्या से पहले लड़की ने खुद को बचाने की बहुत कोशिश की। इतना तय है कि ये हत्या कहीं और की गई फिर शव को लाल कलर के ट्रॉली बैग में एक पॉलिथीन में बंद कर यहां लाकर फेंक दिया गया।’

न्यूज एजेंसी एएनआई ने भी ट्वीट के जरिए 18 नवंबर को इस घटना के बारे में जानकारी दी है, जिसके मुताबिक मथुरा के एक इलाके में सूटकेस में करीब 25 वर्षीय युवती की लाश मिली। पुलिस के मुताबिक, प्राथमिक तौर पर ऐसा लगता है कि हत्या कहीं और कर लाश को यहां फेंका गया था।

21 नवंबर की जागरण की रिपोर्ट के मुताबिक, लाल सूटकेस में यमुना एक्सप्रेस-वे पर युवती की लाश के मामले का पुलिस ने पर्दाफाश कर दिया है और हत्या के आरोपी पिता और माता (नितेश यादव और ब्रजबाला) ने अपना जुर्म कबूल कर लिया है।

दैनिक जागरण की 21 नवंबर की रिपोर्ट, जिसमें हत्या के आरोपियों के गिरफ्तार होने की जानकारी दी गई है

रिपोर्ट के मुताबिक, ”एसपी सिटी एमपी सिंह ने बताया कि स्वजन ने पूछताछ में बताया है कि आयुषी अक्सर घर से बिना बताए चली जाती थी, बदनामी होती थी, ऐसे में स्वजन उससे परेशान रहते थे। 17 नवंबर की अपराह्न करीब दो बजे आयुषी की मां ब्रजबाला ने उसे छत्रपाल से दूर रहने के लिए समझाया, इस पर वह मां से लड़ गई। ब्रजबाला ने नितेश को फोन कर घर बुला लिया। नितेश यादव घर पर आए और गुस्से में बेटी के सीने में गोली मार दी। छीनाझपटी के दौरान आयुषी के सिर और हाथ-पैर में भी चोट आई। इसके बाद नितेश बाजार गए और सफेद पालीथिन खरीदकर लाए। ब्रजबाला ने पति के साथ मिलकर पालीथिन के अंदर आयुषी के शव को पैक कर दिया। इसके बाद घर में रखे ट्राली बैग में शव बंदकर छिपा दिया।”

इसके बाद, ”18 नवंबर की सुबह तीन बजे दंपती अपनी फोर्ड फिस्टा कार से ट्राली बैग लेकर मथुरा के लिए चले। कार नितेश चला रहे थे और पत्नी पीछे ट्राली बैग के साथ बैठी थीं। दोनों आगरा-दिल्ली हाईवे से मथुरा पहुंचे। इसके बाद यमुना एक्सप्रेस-वे के सर्विस रोड पर सुबह करीब 6.50 बजे ट्राली बैग सर्विस रोड पर रख दिया और यमुना एक्सप्रेस-वे से होकर घर चले गए।”

ट्विटर पर मथुरा पुलिस के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से शव के शिनाख्त होने की बात कही गई है। मथुरा के अपर पुलिस अधीक्षक के मुताबिक, मृतक लड़की बदरपुर थाना क्षेत्र दिल्ली की रहने वाली थी। उसकी मां और भाई ने लड़की के शव की पहचान की।

अन्य रिपोर्ट्स से भी इसकी पुष्टि होती है। आउटलुक की रिपोर्ट के मुताबिक, यमुना एक्सप्रेसवे पर सूटकेस में मिली युवती की लाश की शिनाख्त कर ली गई है। मृतका का नाम आयुषी यादव है, जो दिल्ली की रहने वाली है और पिता नितेश यादव ने झूठी शान की खातिर अपनी ही बेटी की गोली मारकर हत्या कर दी।

वायरल दावे को लेकर हमने मथुरा के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अभिषेक यादव से संपर्क किया। उनके छुट्टी पर होने की वजह से प्रभार सिटी पुलिस अधीक्षक मार्तंड प्रकाश सिंह को दिया गया है। विश्वास न्यूज ने सिंह से बात की और उन्होंने बताया, ”इस घटना में कोई भी सांप्रदायिक पहलू नहीं है और पुलिस ने इस मामले में लड़की के माता-पिता को हत्या के आरोप में गिरफ्तार किया है। इन दोनों को कानूनी प्रक्रिया पूरी करने के बाद जेल भेजा जा चुका है।”

सिंह ने बताया कि पुलिस की अब तक की जांच में ऑनर किलिंग की बात सामने आई है।

वायरल पोस्ट को सांप्रदायिक दावे के साथ शेयर करने वाले यूजर की प्रोफाइल फेसबुक पर अक्टूबर 2014 से सक्रिय है और यह प्रोफाइल विचारधारा विशेष से प्रेरित है। इससे पहले श्रद्धा हत्याकांड में भी आरोपी युवक की धार्मिक पहचान को लेकर गलत और भड़काऊ दावा किया गया था, जिसकी फैक्ट चेक रिपोर्ट को यहां पढ़ा जा सकता है।

निष्कर्ष: सूटकेस में यमुना एक्सप्रेस-वे पर मिली युवती की लाश वाली घटना में कोई भी सांप्रदायिक पहलू नहीं है। हत्या के आरोप में पुलिस ने लड़की के माता-पिता (ब्रजबाला और नितेश यादव) को गिरफ्तार किया है और उन्हें जेल भेजा जा चुका है। पुलिस की अब तक की जांच के मुताबिक, यह मामला ऑनर किलिंग का है।

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

अपनी प्रतिक्रिया दें

No more pages to load

संबंधित लेख

Next pageNext pageNext page

Post saved! You can read it later