X

Fact Check: अर्जेंटीना के वीडियो को केरल का बता कर किया जा रहा है वायरल

नई दिल्‍ली (विश्‍वास न्‍यूज)। सोशल मीडिया पर आज कल एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें एक बड़े से पंछी को देखा जा सकता है। वीडियो में पंछी पहले तो कुछ देर अपने पंखों को फड़फड़ाता है और फिर उड़ जाता है। वीडियो के साथ दावा किया गया है कि यह वीडियो केरल का है। हमारी पड़ताल में हमने पाया कि यह वीडियो 2014 का है और अर्जेंटीना का है।

CLAIM

वायरल पोस्ट में एक 2 मिनट 31 सेकंड का वीडियो है जिसमें एक बड़े से पंछी को देखा जा सकता है। वीडियो में पंछी पहले तो कुछ देर अपने पंखों को फड़फड़ाता है और फिर उड़ जाता है। यह पंछी देखने में गिद्ध जैसा लग रहा है। पोस्ट के साथ डिस्क्रिप्शन लिखा है, “केरल में दिखाई दी रामायण के जटायु की दुर्लभ तस्वीरें।” आपको बता दें कि जटायु रामायण का एक प्रसिद्ध पात्र है। जब रावण सीता का हरण करके लंका ले जा रहा था तो जटायु ने सीता को रावण से छुड़ाने का प्रयत्न किया था। इससे क्रोधित होकर रावण ने उसके पंख काट दिये थे।

FACT CHECK

इस दावे की जाँच करने के लिए हमने इस वीडियो को Invid टूल पर डाला और इसके कीफ्रेम्स निकाल कर उन्हें गूगल रिवर्स इमेज पर सर्च किया। इस सर्च में हमारे हाथ Denise vieira pinto नाम के एक चैनल द्वारा Apr 12, 2014 को पब्लिश किया गया 6 मिनट 21 सेकंड का एक यूट्यूब वीडियो लगा। यह वीडियो वायरल वीडियो का विस्तृत संस्करण था। वीडियो के साथ टाइटल लिखा था “Liberation Condor” जिसकी हिंदी होती है गिद्ध की मुक्ति। इस वीडियो के शुरुआत में देखा जा सकता है कि इस गिद्ध को एक पिंजरे में से निकला जा रहा है। इसके बाद ये गिद्ध कुछ देर अपने पंख फड़फड़ाता है फिर उड़ जाता है।

इसके बाद हमें यह खबर द डोडो वेबसाइट पर मिली जिसमें लिखा था, “इस गिद्ध का नाम सयानी है। सयानी को दिसंबर 2012 में कैटामार्का, अर्जेंटीना में गंभीर हालत में पाया गया था। स्थानीय पुलिस और अधिकारियों की मदद से सयानी को एक साल के लिए इलाज के लिए ब्यूनस आयर्स चिड़ियाघर भेजा गया था। और अंत में, पाए जाने के 16 महीने बाद इसे जंगल में छोड़ दिया गया।”

वायरल पोस्ट में दावा किया गया है कि यह वीडियो केरल का है। हमने पुष्टि के लिए केरल फॉरेस्ट डिपार्टमेंट के PRO कृष्णा कुमार से हुई जिन्होंने हमें बताया कि यह वीडियो काफी समय से केरल के नाम से वायरल हो रहा है मगर असल में यह वीडियो केरल का नहीं है।

इस वीडियो को हाल में Spiritual Knowledge Centre नाम के एक फेसबुक पेज ने शेयर किया था। इस पेज के कुल 497 फ़ॉलोअर्स हैं।

निष्कर्ष: हमारी पड़ताल में हमने पाया कि यह वीडियो 2014 का है और अर्जेंटीना का है। इस वीडियो का केरल से कोई लेना-देना नहीं है।

पूरा सच जानें…

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी खबर पर संदेह है जिसका असर आप, समाज और देश पर हो सकता है तो हमें बताएं। हमें यहां जानकारी भेज सकते हैं। हमें contact@vishvasnews।com पर ईमेल कर सकते हैं। इसके साथ ही वॅाट्सऐप (नंबर – 9205270923) के माध्‍यम से भी सूचना दे सकते हैं।

जानिए सच्‍ची और झूठी सबरों का सच क्विज खेलिए और सीखिए स्‍टोरी फैक्‍ट चेक करने के तरीके क्विज खेले

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later