X

Fact Check: चीन के खूबसूरत कुदरती नजारों को दिखाता वीडियो यूक्रेन के नाम से गलत दावे के साथ हुआ वायरल

विश्वास न्यूज ने वायरल वीडियो की जांच की और पाया कि वीडियो को लेकर किया जा रहा दावा गलत है। कई छोटे-छोटे वीडियोज को जोड़कर वायरल वीडियो को तैयार किया गया है। वीडियो में नजर आ रही खूबसूरत जगहें यूक्रेन में नहीं, बल्कि चीन में हैं।

  • By Vishvas News
  • Updated: March 23, 2022

नई दिल्ली (विश्वास न्यूज)। कुदरत की सुंदरता दिखाता हुआ 2 मिनट 51 सेकेंड का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। वीडियो में कई खूबसूरत पहाड़ियों, बाग-बगीचों और झरनों को देखा जा सकता है। इस वीडियो को शेयर कर दावा किया जा रहा है कि यह वीडियो यूक्रेन का है। विश्वास न्यूज ने वायरल वीडियो की जांच की और पाया कि वीडियो को लेकर किया जा रहा दावा गलत है। कई छोटे-छोटे वीडियोज को जोड़कर वायरल वीडियो को तैयार किया गया है। वीडियो में नजर आ रही खूबसूरत जगहें यूक्रेन में नहीं, बल्कि चीन में हैं।

क्या है वायरल पोस्ट में ?

फेसबुक यूजर Deepak Chakravarti Prajapati ने वायरल वीडियो को शेयर किया है। वीडियो की शुरुआत से अंत तक कई दर्शनीय स्थलों को देखा जा सकता है। इस वीडियो को शेयर करते हुए यूजर ने लिखा है- “यूक्रेन का कुदरती सौंदर्य देखीये”

पोस्ट के आकाईव्‍ड वर्जन को यहां देखा जा सकता है।

विश्वास न्यूज के टिपलाइन नंबर +91 95992 99372 पर हमें यह वीडियो हमारे पाठक ने चेक करने के लिए भेजा।

पड़ताल –

वायरल दावे की सच्चाई जानने के लिए हमने InVID टूल की मदद से वीडियो के कुछ कीफ्रेम्स निकाले और उन्हें गूगल रिवर्स इमेज के जरिए सर्च किया। इस दौरान हमें पता चला कि वायरल वीडियो को कई छोटे-छोटे वीडियोज को एक-साथ जोड़कर बनाया गया है। असल में वीडियो में नजर आ रही खूबसूरत जगहें यूक्रेन में नहीं, बल्कि चीन में स्थित हैं।

पहला नजारा

वीडियो की शुरुआत में कुछ लड़कियां शीशे के एक ब्रिज पर खड़ी होकर कुछ खूबसूरत रास्तों और पहाड़ियों को देखती हुई नजर आ रही है। इसके बारे में सर्च करने पर हमने पाया कि यह नजारा चीन के Tianmen Mountain का है। Primewonder नामक एक यूट्यूब चैनल पर हमें Tianmen Mountain और इस पर बने शीशे के ब्रिज का एक वीडियो मिला। कैप्शन में दी गई जानकारी के मुताबिक, यह ब्रिज कोइलिंग ड्रैगन पाथ / क्लिफ स्काईवॉक के नाम से जाना जाता है। यह चीन के हुनान प्रांत में झांगजियाजी नेशनल फॉरेस्ट पार्क में तियानमैन पर्वत के किनारे स्थित है।

दूसरा नजारा

वीडियो मे 14 सेकेंड पर एक बेहद ही आकर्षक एक वाटरफॉल दिखाई देता है। विश्वास न्यूज़ ने जब इस वाटरफॉल के बारे में सर्च किया, तो पाया कि यह चीन के लुओजी पहाड़ी पर स्थित गर्म पानी का झरना है। हमें सर्च के दौरान चीनी मीडिया China Daily के फेसबुक पेज पर इसका पूरा वीडियो 10 अप्रैल 2019 को अपलोड हुआ मिला।

तीसरा नजारा

वीडियो में 33 सेकेंड पर फूलो से भरे एक खूबसूरत बगीचे को देखा जा सकता है। जब हमने इस वीडियो के बारे में सर्च किया तो हमें असली वीडियो nurserylive नामक एक वेरिफाइड फेसबुक पेज पर 11 दिसंबर 2019 को अपलोड हुआ प्राप्त हुआ। कैप्शन में दी गई जानकारी के मुताबिक, ये वीडियो तिब्बत के पवित्र पैगोडा गार्डन की है। असली वीडियो में 2 मिनट 50 सेकेंड्स से वायरल वीडियो वाले नजारे को देखा जा सकता है। चीनी मीडिया China Plus Culture के फेसबुक पर भी हमें यही हूबहू वीडियो 17 मार्च 2022 को अपलोड मिला। कैप्शन में दी गई जानकारी के मुताबिक, यह वसंत में खिलने वाले अजीनल के फूल हैं। जो कि चीन के बिजिंग शहर में 120 वर्ग किलोमीटर से अधिक में फैले हुए हैं।

चौथा नजारा

वायरल वीडियो में 43 सेकेंड्स पर बिल्डिंग्स में लगे खूबसूरत पेड़-पौधों को देखा जा सकता है। पड़ताल के दौरान हमें यही हूबहू वीडियो चीनी मीडिया China Plus Culture के फेसबुक पेज पर 24 नवंबर 2021 को अपलोड हुआ प्राप्त हुआ। कैप्शन में दी गई जानकारी के मुताबिक, यह वीडियो चीन के दक्षिण पश्चिम में स्थित सिचुआन प्रांत के चेंगदू शहर का है। Global Times मीडिया ने 24 नवंबर 2018 को इससे जुड़ी कई अन्य तस्वीरों को शेयर किया था।

पांचवां नजारा

वायरल वीडियो में 47 सेकेंड पर एक लिफ्ट को नीचे जाते हुए देखा जा सकता है। जब हमने इस एलिवेटर के बारे में सर्च किया, तो पाया कि यह लिफ्ट यूक्रेन में नहीं, बल्कि चीन के Zhangjiajie शहर के Wulingyuan एरिया में हैं। हमें Bailong Elevator से जुड़ा एक वीडियो Wonder World के यूट्यूब चैनल पर 17 मई 2019 को अपलोड मिली। कैप्शन में दी गई जानकारी के मुताबिक, ये दुनिया की सबसे ऊंची आउटडोर लिफ्ट है। दैनिक जागरण की वेबसाइट पर एक अगस्त 2017 को प्रकाशित एक रिपोर्ट के मुताबिक, Bailong Elevator नीचे से ऊपर जाने में महज 92 सेकेंड का ही समय लेता है।

छठा नजारा

वीडियो में एक मिनट 19 सेकेंड पर कुछ लोगों को खेतों में चावल बोते हुए देखा जा सकता है। जब हमने इस वीडियो की पड़ताल की तो पाया कि यह वीडियो चीन के Guangxi शहर के Longji Rice Terraces का है। पड़ताल के दौरान हमें Votocek Art Company नामक एक यूट्यूब चैनल पर 25 अगस्त 2017 को अपलोड हुआ मिला। वीडियो में वायरल वीडियो जैसे चावल के खेतों को साफ-साफ देखा जा सकता है।

सातवां नजारा

वायरल वीडियो में एक मिनट 59 सेकेंड पर बहुत बड़े-बड़े पहाड़ नजर आते हैं। विश्वास न्यूज़ ने अपनी पड़ताल में पाया कि यह चीन के हुनान प्रांत के वुलिंग्युयान में स्थित वुलिंग माउंटेन है। सर्च के दौरान हमें वुलिंग माउंटेन से जुड़ा एक वीडियो Amazing Places on Our Planet नामक एक यूट्यूब चैनल पर 22 जून 2018 को अपलोड मिला। वीडियो में हूबहू पहाड़ों को देखा जा सकता है।

आठवां नजारा

वायरल वीडियो में 2 मिनट 30 सेकेंड पर ऊंचे पहाड़ों के बीच एक छोटा-सा टनल दिखाई देता है। जब हमने इस वीडियो की जांच की तो पाया कि यह टनल यूक्रेन में नहीं, चीन में है। तैहांग पहाड़ियों को बीच से तोड़कर बनाई गई इस टनल का नाम Guoliang Tunnel  है। यह टनल हुइक्सियान, झिनझियांग, हेनान प्रांतों को आपस में जोड़ता है। पड़ताल के दौरान हमे Guoliang Tunnel से जुड़ा एक वीडियो Shock wave नामक एक यूट्यूब चैनल पर 22 दिसंबर 2017 को अपलोड हुआ मिला। 24 सेकंड पर वायरल वीडियो जैसे नजारे को देखा जा सकता है।

यह बात साफ़ है, ये वायरल वीडियो का यूक्रेन से कोई लेना-देना नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमने चीन के पत्रकार Jack Lu से ट्विटर के जरिए संपर्क किया। उन्होंने हमें बताया कि वायरल दावा गलत है। यह वीडियो चीन की जगहों का है।

डिस्क्लेमर: इस आर्टिकल को चीन के पत्रकार Jack Lu से संपर्क करने और कोट मिलने के बाद अपडेट किया गया है।

विश्वास न्यूज ने जांच के आखिरी चरण में उस प्रोफाइल की पृष्ठभूमि की जांच की, जिसने वायरल पोस्ट को साझा किया था। फेसबुक पर यूजर को कुल 45 लोग फॉलो करते मौजूद हैं। Deepak Chakravarti Prajapati फेसबुक पर जनवरी 2018 से सक्रिय है।

निष्कर्ष: विश्वास न्यूज ने वायरल वीडियो की जांच की और पाया कि वीडियो को लेकर किया जा रहा दावा गलत है। कई छोटे-छोटे वीडियोज को जोड़कर वायरल वीडियो को तैयार किया गया है। वीडियो में नजर आ रही खूबसूरत जगहें यूक्रेन में नहीं, बल्कि चीन में हैं।

  • Claim Review : युक्रेन का कुदरती सौंदर्य #yukrain
  • Claimed By : Deepak Chakravarti Prajapati
  • Fact Check : भ्रामक
भ्रामक
फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

अपनी प्रतिक्रिया दें

No more pages to load

संबंधित लेख

Next pageNext pageNext page

Post saved! You can read it later