X

Fact Check: केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी के नाम से टोल को लेकर वायरल हो रहा मैसेज फर्जी

  • By Vishvas News
  • Updated: August 26, 2020

नई दिल्ली (विश्वास टीम)। सोशल मीडिया पर एक पोस्ट वायरल हो रही है। इस पोस्ट में टोल चार्ज को लेकर दावा किया जा रहा है कि अगर आप 12 घंटे की पर्ची कटवाकर इतने समय में ही लौट आते हैं तो कोई चार्ज नहीं लगता। यह मैसेज केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी के नाम से वायरल हो रहा है। विश्वास न्यूज़ को यूजर्स ने फैक्ट चेकिंग वॉट्सऐप चैटबॉट (+91 95992 99372) पर भी ये दावा फैक्ट चेकिंग के लिए भेजा है। विश्वास न्यूज़ की पड़ताल में ये दावा गलत साबित हुआ है।

क्या हो रहा है वायरल

अलग-अलग सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर एक ही तरह की तस्वीर और दावा वायरल हो रहा है। ये वॉट्सऐप मैसेज के स्क्रीनशॉट जैसा दिख रहा है। Patauda,Haryana,India नाम के एक फेसबुक मैसेज ने इस दावे को शेयर किया है। पोस्ट में शेयर की गई तस्वीर पर लिखा है, ‘आप टोल प्लाजा पे पर्ची कटवाते हो तो वो पूछता है कि एक साइड की दू या दोनों साइड की तो मित्रों मैं आपको बता दूं की आप उन्हें कहें कि पर्ची 12 घण्टे की दो ना कि डबल या सिंगल साइड अगर आप 12 घंटे में वापस आ सकते हो तो आपको कोई टोल नहीं लगेगा पर्ची पर भी समय लिखा होता है जानकारी के अभाव में हम लोगों से टोल प्लाजा वाले चोर बाजारी करके हर रोज लाखों रुपया हज़म कर रहे है आप सबसे मेरी दरख्वास्त है कि इस संदेश को सब लोगों के पास पहुंचाए और जनता को जागरूक करे।’

यहां वायरल मैसेज को ज्यों का त्यों प्रस्तुत किया गया है। इस पोस्ट के आर्काइव्ड वर्जन को यहां क्लिक कर देखा जा सकता है।

पड़ताल

विश्वास न्यूज़ ने सबसे पहले जरूरी कीवर्ड्स (Toll charges, 12 hour, Nitin Gadkari etc.) की मदद से इस दावे को सर्च किया। हमें पता चला कि ये दावा पहले भी वायरल हो चुका है। हमें 2018 तक की रिपोर्ट मिली, जिनमें इसी दावे का जिक्र किया गया है। उन मीडिया रिपोर्ट्स में भी इस दावे का खंडन किया गया है। पड़ताल के क्रम में हमें पथ परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से 28 दिसंबर 2018 को किया गया एक ट्वीट मिला। इस ट्वीट में इसी वायरल मैसेज का जिक्र है और मंत्रालय ने इस मैसेज को गलत बताया है। मंत्रालय के ट्वीट को यहां देखा जा सकता है:

इस ट्वीट में साफ लिखा है कि केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी के हवाले से गलत दावा किया जा रहा है। मंत्रालय ने टोल चार्ज के तबके नियम को भी इस ट्वीट में स्पष्ट किया है। यानी ये मैसेज दो सालों से इसी क्लेम से वायरल हो रहा है।

विश्वास न्यूज़ ने इस वायरल मैसेज के संदर्भ में नेशनल हाइवेज अथॉरिटी ऑफ इंडिया (NHAI) के गोरखपुर प्रोजेक्ट डायरेक्टर एसपी पाठक से संपर्क किया। उन्होंने बताया कि ये वायरल मैसेज पूरी तरह गलत है। उनके मुताबिक, ‘पहले यात्रा के दौरान 24 घंटे पर रिटर्न जर्नी की स्थिति में टोल चार्ज में छूट मिलती थी, लेकिन अब ये फास्टैग को प्रमोट करने के लिए मिलती है। वायरल मैसेज फर्जी है।’

हमने इस पोस्ट को शेयर करने वाले Patauda,Haryana,India नाम के फेसबुक पेज की सोशल स्कैनिंग की। फैक्ट चेक किए जाने तक इस पेज पर 678 फॉलोअर्स थे। इस पेज को 29 जुलाई 2015 को बनाया गया है। पेज पर दी गई जानकारी के मुताबिक इसका पता, V.P.O. – Patauda Distt. – Jhajjar (HARYANA) Jhajjar, India है।

View this post on Instagram

#factcheck #fakenews #DonaldTrump #NitinGadkari

A post shared by Vishvas News (@vishvasnews) on

निष्कर्ष: निष्कर्ष: केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी के नाम पर टोल चार्ज को लेकर किया जा रहा वायरल दावा फर्जी है। ये मैसेज पहले भी वायरल हो चुका है और परिवहन मंत्रालय की तरफ से भी इसका खंडन हो चुका है।

  • Claim Review : टोल चार्ज को लेकर दावा किया जा रहा है कि अगर आप 12 घंटे की पर्ची कटवाकर इतने समय में ही लौट आते हैं तो कोई चार्ज नहीं लगता।
  • Claimed By : Patauda,Haryana,India
  • Fact Check : झूठ
झूठ
    फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later