X

Fact Check : बच्‍ची को पीटने वाला वीडियो गुजरात का नहीं, बल्कि छत्‍तीसगढ़ का है

  • By Vishvas News
  • Updated: July 23, 2019

नई दिल्‍ली (विश्‍वास न्‍यूज)। सोशल मीडिया में एक वीडियो वायरल हो रहा है। इसमें एक शख्‍स को एक बच्‍ची के बालों को पकड़कर बुरी तरह पीटते हुए देखा जा सकता है। दावा किया जा रहा है कि वायरल वीडियो वलसाड के आरएम वीएम स्‍कूल का है। बच्‍ची को पीटने वाला स्‍कूल का टीचर है। विश्‍वास टीम की पड़ताल में यह दावा फर्जी साबित हुआ। वायरल वीडियो गुजरात के वलसाड का नहीं, बल्कि छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर का है। बच्‍ची का उत्‍पीड़न करने वाले किसी स्‍कूल का टीचर नहीं है।

क्‍या है वायरल पोस्‍ट में

फेसबुक यूजर शकूर शेख ने एक वीडियो को अपने अकाउंट पर अपलोड करते हुए दावा किया, ” ये वीडियो सबको भेजिए ये वलसाड के RM VM SCHOOL का टीचर है इसको इतना शेयर करो की ये टीचर और स्कूल दोनों बंद हो जाए । वीडियो वायरल होने से काफी फ़र्क पड़ता है ओर कार्यवाही होती है जिसे दया न आये वो अपना मुंह (टाइपिंग) बंद रखे ”

इस वीडियो को दूसरे सोशल मीडिया प्‍लेटफॉर्म पर भी काफी वायरल किया जा रहा है।

पड़ताल

विश्‍वास टीम ने सबसे पहले वायरल वीडियो को InVID में अपलोड करके कई स्‍क्रीनशॉट निकाले। इसके बाद इन्‍हें गूगल रिवर्स इमेज में सर्च करना शुरू किया। कई पेजों को स्‍कैन करने के बाद हमें छत्तीसगढ़ की स्‍थानीय अखबारों की वेबसाइट पर एक खबर मिली। एक ऐसी ही खबर हमें हरिभूमि अखबार की वेबसाइट पर भी मिली।

10 फरवरी 2018 को हरिभूमि की वेबसाइट पर अपलोड एक खबर में बताया गया, “भूत भगाने के नाम पर एक पास्टर द्वारा नाबालिग की बेरहमी से पिटाई करने का वीडियो वायरल होने से सनसनी फैल गई है। जनआक्रोश को देखते हुए पुलिस ने आरोपी को ग्राम छिपली/नगरी से गिरफ्तार कर लिया।”

क्‍या था पूरा मामला

हमारी जांच में पता चला कि छत्तीसगढ़ के धमतरी जिले के नगरी थाना क्षेत्र के पास्‍टर दिनेश साहू से गांववाले परेशान थे। जिसके बाद वह रायपुर चला आया। वहीं, पर उसने अपनी बेटी की सहेली को प्रताड़ित किया। वीडियो में जो लड़की दिख रही है, उसके परिवारवालों को शक था कि उस पर किसी का साया है। इसलिए वे उसे इलाज के लिए दिनेश के पास ले गए, लेकिन वीडियो वायरल होने के बाद मामला बहुत बढ़ गया।

विश्‍वास टीम ने और ज्‍यादा जानकारी के लिए छत्‍तीसगढ़ में मौजूद नईदुनिया अखबार के संवाददाता कुमार नायर से संपर्क किया। उन्‍होंने बताया कि वायरल वीडियो छत्तीसगढ़ का है। वीडियो पिछले साल का है। इस संबंध में आरोपी के खिलाफ स्थानीय प्रशासन ने तब कार्रवाई भी की थी। तत्कालीन एसडीओपी रितेश चौधरी ने आरोपी के खिलाफ प्रतिबंधात्मक धाराओं 151, 107, 116 के तहत कार्रवाई करते हुए हिरासत में भी लिया था, लेकिन पीड़ित बच्ची के पालकों ने मामला दर्ज करवाने से इनकार कर दिया था और समझौता कर लिया था।

अंत में विश्‍वास टीम ने छत्तीसगढ़ के वीडियो को गुजरात का बताकर वायरल करने वाले फेसबुक यूजर शकूर शेख के फेसबुक अकाउंट की सोशल स्‍कैनिंग की। हमें पता चला कि शकूर दुबई में रहते हैं। उनकी न्‍यूजफीड पर अधिकांश पोस्‍ट हमें एक राजनीतिक पार्टी के खिलाफ ही मिली।

निष्‍कर्ष : विश्‍वास टीम की पड़ताल में पता चला कि वायरल वीडियो गुजरात के वलसाड़ जिले के किसी स्‍कूल का नहीं, बल्कि छत्तीसगढ़ के रायपुर का है। बच्‍ची की पिटाई करने वाला कोई टीचर नहीं, बल्कि एक पास्‍टर था। घटना का वीडियो पुराना है।

पूरा सच जानें…

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी खबर पर संदेह है जिसका असर आप, समाज और देश पर हो सकता है तो हमें बताएं। हमें यहां जानकारी भेज सकते हैं। हमें contact@vishvasnews।com पर ईमेल कर सकते हैं। इसके साथ ही वॅाट्सऐप (नंबर – 9205270923) के माध्‍यम से भी सूचना दे सकते हैं।

  • Claim Review : गुजरात के स्‍कूल में बच्‍ची की पिटाई
  • Claimed By : शकूर शेख फेसबुक यूजर
  • Fact Check : झूठ
झूठ
    फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later