X

Fact Check: श्रीलंका हमले पर संबित पात्रा के नाम से फर्जी ट्वीट हो रहा वायरल

नई दिल्ली (विश्वास टीम)। सोशल मीडिया पर भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के प्रवक्ता और ओडिशा की पुरी लोकसभा सीट से चुनाव लड़ रहे संबित पात्रा का कथित ट्वीट वायरल हो रहा है। ट्वीट में श्रीलंका के संदिग्धों को पकड़े जाने का हवाला देते हुए उन्हें फांसी पर लटकाए जाने की तैयारी का जिक्र है। विश्वास न्यूज की पड़ताल में यह दावा गलत साबित होता है।

क्या है वायरल पोस्ट में?

फेसबुक पर संबित पात्रा के ट्विटर का स्क्रीन शॉट वायरल हो रहा है। तस्वीर के मुताबिक यह ट्वीट 24 अप्रैल 2019 की है, जिसे रात 12.15 मिनट पर पोस्ट किया गया है। इसमें कहा गया है, ‘श्रीलंका ने 25 संदिग्धों को पकड़ लिया है और उन्हें फांसी देने की तैयारी में है, फांसी होना तय है, क्यूंकि श्रीलंका में यहां की तरह आतंकियों को भटका नौजवान कहने वाले देशद्रोही पत्रकार नहीं है और ना ही ऐसे गिरे हुए वकील हैं जो रात के 12 बेज आतंकियों के लिए कोर्ट खुलवाए।’

फेसबुक पर यह पोस्ट प्रधानसेवक के पेज से 24 अप्रैल 2019 को शेयर किया गया है। पड़ताल किए जाने तक इस पोस्ट को 266 बार शेयर किया जा चुका है।

पड़ताल:

दावे की पड़ताल के लिए हमने संबित पात्रा के ट्विटर हैंडल को सर्च किया है। संबित पात्रा का ट्विटर हैंडल वेरिफाइड है, जिसमें ब्लू टिक के निशान को साफ देखा जा सकता है। ट्विटर पर उनका आधिकारिक हैंडल ”@sambitswaraj”के नाम से हैं।

जिस हैंडल से कथित ट्वीट को वायरल किया गया है, वह संबित पात्रा का पैरोडी हैंडल है। @Sambit_Swaraj1 और  @sambit_swaraj11 हैंडल संबित पात्रा का पैरोडी हैंडल हैं, जिसे एक ही व्यक्ति ”अनुज कुमार बाजपेई” चलाने का दावा करते हैं। अपने प्रोफाइल में उन्होंने खुद को संबित पात्रा का बड़ा ”प्रशंसक” बताया है।

दोनों ही हैंडल के परिचय में यह साफ लिखा हुआ है कि वह संबित पात्रा के ”बड़े प्रशंसक” है। @sambit_swaraj1 के परिचय में लिखा हुआ है, ”#Anuj_Kumar_Bajpai’s official account is I am a big fan of Patra sir. I’m proud of my country’s prime minister.”

वहीं ”@sambit_swaraj11” वाले हैंडल में ”🐦🐦#मेरी_पोस्ट_ही_मेरी_पहचान_है🐦🐦 मैं लेखन की सच्चाई का छोटा सा परवाना हूं भाजपा का भक्त नहीं मोदी का दीवाना हूं मेरा नाम अनुज कुमार बाजपेई है🐦🐦” लिखा हुआ है।

श्रीलंका में 21 अप्रैल को ईस्टर के मौके पर सिलसिलेवार धमाका हुआ था। धमाके के दिन से लेकर अब तक संबित पात्रा के ट्विटर हैंडल पर इससे जुड़ा कोई ट्वीट नहीं किया गया है।

संबित पात्रा के आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर पुरी लोकसभा क्षेत्र में किए जा रहे उनके प्रचार और रोड शो की तस्वीरों को देखा जा सकता है।

इसके बाद हमने Stalkscan की मदद से संबंधित पेज को स्कैन किया। स्कैनिंग में हमें यह पेज विचारधारा विशेष के प्रति समर्पित दिखा।

पोस्ट में कहा गया है कि श्रीलंका में 25 संदिग्धों को पकड़ लिया गया है और उन्हें फांसी देने की तैयारी की जा रही है। श्रीलंका में हुए धमाके के बाद पुलिस और वहां की सुरक्षा एजेंसियां फिलहाल जांच में जुटी हुई है।

न्यूज एजेंसी रॉयटर्स की रिपोर्ट के मुताबिक अमेरिकी एजेंसी एफबीआई  इस हमले की जांच में श्रीलंकाई पुलिस की सहयोग कर रही है। अमेरिकी अखबार ”द वाशिंगटन पोस्ट” के मुताबिक एफबीआई ने श्रीलंका पुलिस को हमले के साक्ष्य जुटाने और सूचनाओं की प्रोसेसिंग के लिए सहयोग देने का वादा किया है।

न्यूज एजेंसी पीटीआई के मुताबिक गुरुवार को हुई 16 लोगों की गिरफ्तारी के बाद अब तक हिरासत में लिए गए लोगों की संख्या बढ़कर 76 हो चुकी है।

एजेंसी के मुताबिक अधिकांश संदिग्धों का संबंध एनटीजे से है, जिसे बम विस्फोट के लिए जिम्मेदार ठहराया गया है। हालांकि, एनटीजे ने इस हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है, बल्कि आईएस ने इस हमले की जिम्मेदारी ली है। न्यूज रिपोर्ट्स के मुताबिक श्रीलंका हमले में अभी जांच जारी है, और ट्रायल की शुरुआत भी नहीं हुई है। न्यूज सर्च में भी हमें ऐसी कोई खबर नहीं मिली, जिसमें यह बताया गया हो कि विस्फोट के बाद पकड़े गए लोगों को फांसी देने की तैयारी चल रही है।

निष्कर्ष: हमारी जांच में बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा के कथित नाम से वायरल हो रहा पोस्ट फर्जी साबित होता है।

पूरा सच जानें…

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी खबर पर संदेह है जिसका असर आप, समाज और देश पर हो सकता है तो हमें बताएं। हमें यहां जानकारी भेज सकते हैं। हमें contact@vishvasnews.com पर ईमेल कर सकते हैं। इसके साथ ही वॅाट्सऐप (नंबर – 9205270923) के माध्‍यम से भी सूचना दे सकते हैं।

  • Claim Review : श्रीलंका में 25 संदिग्धों को पकड़ने के बाद फांसी देने की तैयारी
  • Claimed By : FB User-प्रधानसेवक
  • Fact Check : False
False
    Symbols that define nature of fake news
  • True
  • Misleading
  • False
जानिए सच्‍ची और झूठी सबरों का सच क्विज खेलिए और सीखिए स्‍टोरी फैक्‍ट चेक करने के तरीके क्विज खेले

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later