X

Fact Check: बीबीसी की ब्रेकिंग प्लेट का यह वायरल स्क्रीनशॉट एडिटेड है

विश्वास न्यूज़ ने अपनी पड़ताल में पाया कि यह दावा गलत है। वायरल पोस्ट में शेयर किया जा रहा स्क्रीनशॉट एडिटेड है।

  • By Vishvas News
  • Updated: June 9, 2021

नई दिल्ली (विश्वास न्यूज): सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक पोस्ट में एक बीबीसी टीवी चैनल का स्क्रीनशॉट शेयर करके दावा किया जा रहा है कि बीबीसी ने दर्शकों को उन लोगों की संख्या के बारे में गुमराह किया, जिन्होंने 29 मई, 2021 को लंदन में वैक्सीन-विरोधी और लॉकडाउन-विरोधी प्रदर्शन में हिस्सा लिया था। विश्वास न्यूज़ ने अपनी पड़ताल में पाया कि यह दावा गलत है, वायरल पोस्ट में शेयर किया जा रहा स्क्रीनशॉट एडिटेड है।

क्या है वायरल पोस्ट में

Becci Greene नाम के एक यूजर द्वारा फेसबुक पर साझा की गई एक पोस्ट में दावा किया गया है: “This is how your media lie to you.

The picture on the left is what actually happened. Hundreds of thousands of protesters that brought central London to a standstill.

The picture on the right is how the BBC would report it.  But as usual they are silent? No reports on any of the MSM.

What don’t they want you to know? Feel free to see through the lies at any time. What else are they lying about??

#DefundTheBBC।”

पोस्ट का आर्काइव्ड वर्जन यहां देखा जा सकता है।

पड़ताल

हमने इस पोस्ट में दी गई बीबीसी की तस्वीर को गूगल रिवर्स इमेज पर ढूंढा। हमें बीबीसी के यूट्यूब चैनल पर अपलोडेड एक वीडियो मिला, जिसमें इस तस्वीर की झलकियां देखी जा सकती हैं। इस वीडियो को बीबीसी के आधिकारिक यूट्यूब चैनल पर 29 अप्रैल, 2020 को अपलोड किया गया था। पर इस वीडियो में ब्रेकिंग प्लेट पर प्रदर्शनकारियों की खबर नहीं थी, बल्कि लिखा था- “Boris Johnson Baby Boy”. वीडियो बोरिस जॉनसन के बेटे के जन्म के बारे में थी। वीडियो के साथ डिस्क्रिप्शन में लिखा था, “Prime Minister Boris Johnson and his fiancee Carrie Symonds have announced the birth of son.” जिसका हिंदी अनुवाद होता है “प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन और उनकी मंगेतर कैरी साइमंड्स ने बेटे के जन्म की घोषणा की है।”

वायरल स्क्रीनशॉट और 2020 के इस वीडियो की झलकी में समानता नीचे देखी जा सकती है।

ढूंढ़ने पर हमें पता चला कि वायरल पोस्ट में बीबीसी के स्क्रीनशॉट में दिख रही एंकर का नाम विक्टोरिया डर्बीशायर है। हमने ट्विटर के जरिये विक्टोरिया से संपर्क साधा और इस स्क्रीनशॉट के बारे में पूछा। जवाब देते हुए उन्होंने हमारे साथ अपने ही एक ट्वीट का लिंक शेयर किया और बताया कि ये स्क्रीनशॉट एडिटेड है और ज़्यादा जानकारी के लिए उनके ट्वीट को देखा जा सकता है।

विक्टोरिया डर्बीशायर ने 1 जून को ट्वीट कर इस तस्वीर को एडिटेड बताते हुए लिखा था “This photoshopped, fake image is doing the rounds

1. I wasn’t working on Saturday

2. That’s not the BBC News Channel’s font

3. I haven’t worn that dress since last summer

(wld love to meet/int whoever took time/trouble to put this image together – plse do DM in confidence) https://twitter.com/bel_b30/status/1399663026027040769

उनके ट्वीट का हिंदी अनुवाद होता है “यह फोटोशॉप्ड, फेक इमेज वायरल हो रही है

1. मैं शनिवार को काम नहीं कर रही थी।

2. यह बीबीसी न्यूज़ चैनल का फ़ॉन्ट नहीं है।

3. मैंने पिछली गर्मियों से यह पोशाक नहीं पहनी है।

(इस छवि को एक साथ जिसने भी लगाया, मैं उससे मिलना पसंद करुँगी – कृपया डीएम करें) https://twitter.com/bel_b30/status/1399663026027040769

विक्टोरिया डर्बीशायर के ट्वीट के साथ दिए गए लिंक को जब हमने खोला तो पता चला कि जिस ट्वीट पर विक्टोरिया डर्बीशायर ने सफाई दी थी, वो ट्वीट डिलीट किया जा चुका था। हमने इस ट्वीट के लिंक को वे बैक मशीन में ढूंढा तो हमें यह डिलीटेड ट्वीट मिला। इस ट्वीट में भी वायरल पोस्ट वाला ही कोलाज था।

साफ़ था कि वायरल पोस्ट में बीबीसी वाला स्क्रीनशॉट एडिटेड है।

अब हमने इंटरनेट पर ढूंढा कि क्या लंदन में हाल में कोई एंटी वैक्सीनेशन और एंटी लॉकडाउन रैली हुई भी है या नहीं।

theguardian.com पर 29 मई 2021 को छपी खबर के अनुसार, “सैकड़ों एंटी-वैक्सीन पासपोर्ट प्रदर्शनकारियों ने शनिवार शाम को शेफर्ड बुश के वेस्टफील्ड शॉपिंग सेंटर पर एक सामूहिक मार्च पर हमला किया, जिसमें मध्य और पश्चिम लंदन से कई हजार लोग पहुंचे थे।”

वायरल पोस्ट को Becci Greene नाम के एक फेसबुक यूज़र ने शेयर किया था। यूजर लंदन के रहने वाले हैं। 

निष्कर्ष: विश्वास न्यूज़ ने अपनी पड़ताल में पाया कि यह दावा गलत है। वायरल पोस्ट में शेयर किया जा रहा स्क्रीनशॉट एडिटेड है।

  • Claim Review : This is how your media lie to you. The picture on the left is what actually happened. Hundreds of thousands of protesters that brought central London to a standstill. The picture on the right is how the BBC would report it. But as usual they are silent? No reports on any of the MSM. What don’t they want you to know? Feel free to see through the lies at any time. What else are they lying about??
  • Claimed By : Becci Greene
  • Fact Check : झूठ
झूठ
फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

अपना सुझाव पोस्ट करें
और पढ़े

No more pages to load

संबंधित लेख

Next pageNext pageNext page

Post saved! You can read it later