X

Fact Check: जीभ की एक्सरसाइज से अल्जाइमर समेत अन्य बीमारियों के ठीक होने का दावा भ्रामक है

  • By Vishvas News
  • Updated: December 24, 2019

विश्वास न्यूज (नई दिल्ली)। सोशल मीडिया पर एक पोस्ट वायरल हो रही है। इसमें दावा किया जा रहा है कि जीभ की एक एक्सरसाइज आपको अल्जामइर बीमारी से बचाती है। इसमें आगे यह भी दावा किया गया है कि जीभ की इस एक्सरसाइज से शरीर का वजन, हाइपरटेंशन, मस्तिष्क में रक्त के थक्के बनना, अस्थमा, दूर-दृष्टिदोष, कान की आवाज, गले का संक्रमण, कंधे / गर्दन का संक्रमण, अनिद्रा को भी ठीक किया जा सकता है। विश्वास न्यूज की पड़ताल में वायरल पोस्ट भ्रामक निकला है। 

क्या है वायरल पोस्ट में

फेसबुक पर वायरल पोस्ट में दावा किया गया है कि जीभ की एक्सरसाइज (जीभ बाहर निकालना और इसे 10 मिनट तक दाएं से बाएं घुमाना) आपको अल्जाइमर से बचा सकती है। साथ ही यह भी दावा है कि इससे शरीर के वजन, हाइपरटेंशन, मस्तिष्क में रक्त के थक्के बनना, अस्थमा, दूर-दृष्टि दोष, कान का वजन, गले का इन्फेक्शन, कंधे/गर्दन का इन्फेक्शन, अनिद्रा को भी कम करने में मदद मिलती है। 

पड़ताल

विश्वास न्यूज को अपनी पड़ताल में पता चला कि ये पोस्ट सोशल मीडिया पर वायरल है। 

इस दावे की पड़ताल के लिए हमने मैक्स हॉस्पिटल के न्यूरो सर्जन डॉक्टर वीके जैन से बात की। उन्होंने कहा है कि यह दावा सही नहीं लगता, इसके पक्ष में कोई सबूत नहीं है। 

हमने अल्जाइमर्स रिसर्च यूके की आधिकारिक वेबसाइट पर भी हमने जीभ की एक्सरसाइज से जुड़ी स्टडी खोजने की कोशिश की। हालांकि, हमें वेबसाइट पर ऐसी कोई स्टडी नहीं मिली। 


हमने जनरल फिजिशियन डॉक्टर संजीव कुमार से भी बात की। उन्होंने कहा, ‘इस तरह की एक्सरसाइज का कोई नुकसान नहीं है, लेकिन ऐसा नहीं कहा जा सकता कि यह गंभीर बीमारियों से बचा सकती है।

हमें फोर्ब्स की वेबसाइट पर एक रिपोर्ट मिली। Is Your Tongue The Key To A Neuroscience Breakthrough?  (क्या आपकी जीभ न्यूरोसाइंस की अहम खोज की कुंजी है?)। रिपोर्ट के मुताबिक, कुछ मेडिकल वेबसाइटें मानती हैं कि चोट या बीमारी के बाद मस्तिष्क को न्यूरो रीट्रेनिंग और रिहैबिलिटेशन में जीभ से मदद दी सकती है। हालांकि, इस रिपोर्ट में यह भी लिखा है कि ऐसी वेबसाइट अभी मस्तिष्क की बीमारियों को ठीक करने के लिए जीभ के इस्तेमाल को लेकर खोज में जुटी हैं। 

इस रिपोर्ट में कहीं भी इस बात का जिक्र नहीं है कि जीभ की एक्सरसाइज अल्जाइमर के असर को कम कर सकती है। 


क्या है अल्जाइमर?

यूएस डिपार्टमेंट ऑफ हेल्थ एंड ह्यमन साइंस के मुताबिक अल्जाइमर एक लाइलाज बीमारी है। यह दिमाग की एक गड़बड़ी है जो धीरे-धीरे स्मरणशक्ति और सोचन की क्षमता को खत्म कर देती है। आगे चलकर इससे पीड़ित शख्स छोटे-छोटे रोजमर्रा के काम भी नहीं कर पाता। 


अल्जाइमर बीमारी के लक्षण

अल्जाइमर एसोसिएशन के मुताबिक, इसका सबसे आम लक्षण किसी हालिया सूचना को याद करने में आने वाली समस्या है। अल्जाइमर से सबसे पहले मस्तिष्क के उस हिस्से पर असर पड़ता है जिसका संबंध याद रखने (सीखने) से होता है। जैसे-जैसे अल्जाइमर का असर बढ़ता है इसके गंभीर लक्षण दिखने लगते हैं। इनमें भटकाव, मनोदशा-व्यवहार में बदलाव; घटनाओं, समय, स्थान के बारे में भ्रम; परिवार, दोस्तों और देखभाल करने वालों पर निराधार संदेह; गंभीर स्मृति लोप और व्यवहार में बदलाव; और बोलने, निगलने और चलने में कठिनाई।


इसमें कहीं भी ये नहीं बताया गया है कि वायरल पोस्ट में जिस जीभ की एक्सरसाइज का जिक्र किया गया है वो अल्जाइमर की रोकथाम में मदद कर सकती है। 

विश्वास न्यूज ने इससे पहले तस्वीर में ऊंट ढूंढने से अल्जाइमर की पहचानकरने वाले फर्जी दावा का भी खुलासा किया था। 


निष्कर्ष

जीभ की एक्सरसाइज से अल्जाइमर और दूसरी बीमारियों के ठीक होने का वायरल दावा भ्रामक है।

  • Claim Review : जीभ की एक्सरसाइज से अल्जाइमर समेत अन्य बीमारियों के ठीक होने का दावा
  • Claimed By : FB User: BK Punjab
  • Fact Check : भ्रामक
भ्रामक
    फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

  • वॅाट्सऐप नंबर 9205270923
  • टेलीग्राम नंबर 9205270923
  • ईमेल contact@vishvasnews.com
जानिए वायरल खबरों का सच क्विज खेलिए और सीखिए स्‍टोरी फैक्‍ट चेक करने के तरीके

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later