X

Fact Check : पं. बंगाल में भाजपा कार्यकर्ता व पुलिस के बीच झड़प की पुरानी तस्‍वीर अब किसान आंदोलन के नाम पर वायरल

  • By Vishvas News
  • Updated: February 8, 2021

नई दिल्‍ली (Vishvas News)। सोशल मीडिया में दो तस्‍वीरों का एक कोलाज वायरल हो रहा है। इसमें भाजपा का झंडा थामे लोगों को पथराव करते हुए देखा जा सकता है। यूजर्स दावा कर रहे हैं कि भाजपा और राष्‍ट्रीय स्‍वयंसेवक से जुड़े लोग किसानों और सामान्‍य लोगों पर पत्‍थरबाजी कर रहे हैं। इसमें कई किसान घायल हो गए।

विश्‍वास न्‍यूज ने वायरल पोस्‍ट की जांच की। पड़ताल में वायरल दावा फर्जी निकला। तस्‍वीर दिसंबर 2020 में पश्चिम बंगाल के सिलीगुड़ी में भाजपा के चलो उत्तर कन्या अभियान के दौरान पुलिस और कार्यकर्ताओं के बीच झड़प की है। इसका किसानों से कोई संबंध नहीं है।

क्‍या हो रहा है वायरल

फेसबुक पेज फिरोजपुर अपडेटसस ने 9 जनवरी को दो तस्‍वीरों के कोलाज को पोस्‍ट करते हुए पंजाबी और अंग्रेजी में लिखा : ‘RSS and #BJP #terrorists pelting #stones against #people And many #farmers were # seriously_injured’

फेसबुक पोस्‍ट का आर्काइव्‍ड वर्जन देखें।

पड़ताल

विश्‍वास न्‍यूज ने सबसे पहले वायरल तस्‍वीर को देखा। तस्‍वीर के दाएं ओर हमें SK Live लिखा हुआ नजर आया। मतलब यह किसी वीडियो का ग्रैब था। इसके बाद हमने यूट्यूब पर इस नाम के चैनल को खोजना शुरू किया। आखिरकार हमें SK Live नाम का चैनल मिल ही गया। चैनल पर सर्च के दौरान हमें 7 दिसंबर 2020 को अपलोड एक वीडियो मिला। इस वीडियो में लिखा था- उत्तरकन्या के पास भाजपा का विरोध प्रदर्शन।

वीडियो में भाजपा के कार्यकर्ताओं को नारे लगाते हुए देखा जा सकता है। पुलिस के द्वारा लगाए गए बैरिकोड को तोड़ने के बाद ये लोग पुलिस के खिलाफ नारेबाजी करते हुए दिखे। वीडियो के 24वें मिनट के बाद हमें वे ही लोग नजर आए, जो अब वायरल तस्‍वीर में दिख रहे हैं। इसमें इन लोगों को पथराव करते हुए देखा जा सकता है।

पड़ताल के अगले चरण में हमने एस के लाइव के फेसबुक पेज को खंगाला। हमें वहां से एक मोबाइल नंबर मिला। इस नंबर पर हमारी बात एस के लाइव के एग्जीक्यूटिव एडिटर राकेश सोमानी से हुई। उन्‍होंने हमें बताया कि वायरल तस्‍वीर वाली घटना को हमारे चैनल ने कवर किया था। हमारे वीडियो से ही फोटो को काटकर कुछ लोग इसे किसानों से जोड़कर वायरल कर रहे हैं, जबकि सच्‍चाई यह है कि चलो उत्तर कन्या अभियान के दौरान भाजपा कार्यकर्ता और पुलिस के जवानों के बीच झड़प हुई थी। घटना दिसंबर 2020 की है।

पड़ताल के अंत में हमने फेसबुक पेज की जांच की। हमें पता चला कि फेसबुक पेज Ferozepur Updates को नवंबर 2020 को बनाया गया। इसे पांच से ज्‍यादा लोगों फॉलो करते हैं।

निष्कर्ष: विश्‍वास न्‍यूज की जांच में वायरल पोस्‍ट फर्जी निकली। सिलीगुड़ी में भाजपा कार्यकर्ता और पुलिस के बीच हुई झड़प की पुरानी तस्‍वीर को कुछ लोग किसानों से जोड़कर वायरल कर रहे हैं। तस्‍वीर में दिख रहे लोगों ने किसानों पर नहीं, बल्कि पुलिस पर पत्‍थरबाजी की थी।

  • Claim Review : किसानों पर भाजपा और संघ के लोगों ने किया पथराव की तस्‍वीर
  • Claimed By : फेसबुक पेज Ferozepur Updates
  • Fact Check : झूठ
झूठ
    फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later