X

Fact Check: गांधी की तस्वीर को गोली मारने वाली महिला विधायक नहीं है

  • By Vishvas News
  • Updated: February 4, 2020

नई दिल्ली (विश्वास टीम)। सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो में भगवा साड़ी पहनी हुई एक महिला महात्मा गांधी की प्रतिमा को गोली मारती हुई नजर आ रही हैं। दावा किया जा रहा है कि यह काम भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) विधायक अनिल उपाध्याय का है।

विश्वास न्यूज की पड़ताल में यह दावा गलत निकला। जिस वीडियो को बीजेपी के कथित विधायक अनिल उपाध्याय के नाम से वायरल किया जा रहा है, वह वास्तव में हिंदू महासभा की राष्ट्रीय सचिव पूजा शकुन पांडेय हैं, जिनके खिलाफ इस मामले में आईपीसी की कई धाराओं के खिलाफ मुकदमा दर्ज हो चुका है।

क्या है वायरल पोस्ट में?

फेसबुक यूजर ‘राजेंद्र सैनी’ ने वीडियो को शेयर करते हुए लिखा है, ‘’B.j.p. विधायक अनिल उपाध्याय की इस हरकत पर क्या कहेगे मोदी जी, इन video को इतना वायरल करो की ये पूरा हिन्दुस्तान देख सके।’’

सोशल मीडिया पर अन्य यूजर्स ने भी इस वीडियो को समान और मिलते-जुलते दावे के साथ शेयर किया है।

पड़ताल

Invid टूल की मदद से मिले की-फ्रेम्स को गूगल रिवर्स इमेज किए जाने पर हमें कई न्यूज वेबसाइट पर यह वीडियो मिला। दैनिक जागरण के यूट्यूब चैनल पर हमें 31 जनवरी को अपलोड किया गया एक वीडियो बुलेटिन मिला, जिसमें इस वीडियो का इस्तेमाल किया गया है।

खबर के मुताबिक, ‘राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की पुण्यतिथि पर बापू के पुतले को गोली मारने के मामले में यूपी पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है। पुलिस ने इस मामले में दो नामजद और बारह अज्ञात लोगों के खिलाफ थाना गांधी पार्क में धारा 147, 148, 149, 295 A और 153 A के तहत मामला दर्ज किया है।

बता दें कि अलीगढ़ में अखिल भारतीय हिंदू महासभा ने महात्मा गांधी की पुण्यतिथि को शौर्य दिवस के रूप में मनाया। गांधी की पुण्यतिथि को शौर्य दिवस मनाते हुए महासभा के लोगों ने नाथूराम गोडसे के चित्र पर माल्यार्पण किया और बापू को गोली मारे जाने की घटना का पुनरावलोकन किया।’

30 जनवरी 2019 को अंग्रेजी न्यूज वेबसाइट ‘इंडिया टुडे’ की वेबसाइट पर लगी खबर में इस वीडियो का इस्तेमाल किया गया है। खबर के मुताबिक, ‘महात्मा गांधी की पुण्यतिथि के मौके पर हिंदू महासभा ने नाथूराम गोडसे की शहादत का जश्न मनाया। गोडसे ने 30 जनवरी 1948 को गोली मारकर महात्मा गांधी की हत्या कर दी थी।’

न्यूज रिपोर्ट के मुताबिक, ‘हिंदू महासभा की राष्ट्रीय सचिव शकुन पांडेय ने उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में महात्मा गांधी की प्रतिमा को गोली मारते हुए गोडसे की शहादत दिवस का जश्न मनाया।’

30 जनवरी 2019 को अंग्रेजी अखबार ‘टाइम्स ऑफ इंडिया’ में छपी खबर के मुताबिक, इस वीडियो के सामने आने के बाद पूजा शकुन पांडेय समेत 10-12 लोगों के खिलाफ आईपीसी के सेक्शन 147 (दंगा भड़काने), 148,149, 295 ए और 153 ए के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है।

हिंदू महासभा के प्रवक्ता अशोक कुमार पांडेय ने संबंधित वीडियो की पुष्टि करते हुए बताया, ‘पूजा शकुन पांडेय अभी भी संगठन में राष्ट्रीय सचिव ही हैं और फिलहाल जमानत पर बाहर हैं।’ पांडेय ने बताया कि वह भी इस कार्यक्रम का हिस्सा थे और उनके खिलाफ भी विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है और वह भी फिलहाल जमानत पर हैं।

यानी वायरल वीडियो में जो महिला महात्मा गांधी की प्रतिमा को गोली मारते हुए नजर आ रही हैं, वह हिंदू महासभा की राष्ट्रीय सचिव पूजा शकुन पांडेय हैं, न कि बीजेपी के कथित विधायक अनिल उपाध्याय।

विश्वास न्यूज इससे पहले भी अनिल उपाध्याय के नाम से वायरल हो चुके कई वीडियो की पड़ताल कर चुका है। वास्तव में अनिल उपाध्याय सोशल मीडिया पर एक काल्पनिक कैरेक्टर है, जो समय-समय पर अलग-अलग दलों के विधायक के दावे के साथ वायरल होते रहता है।

सोशल स्कैनिंग में हमने पाया कि वायरल पोस्ट शेयर करने वाला फेसबुक यूजर ‘राजेंद्र सैनी’ विचारधारा विशेष से प्रेरित हैं।

निष्कर्ष: बीजेपी के काल्पनिक विधायक अनिल उपाध्याय के नाम से वायरल हो रहा वीडियो फर्जी है। वास्तव में वीडियो में नजर आ रही महिला हिंदू महासभा की राष्ट्रीय सचिव पूजा शकुन पांडेय है। गांधी की प्रतिमा को गोली मारने के मामले में उनके खिलाफ आईपीसी की कई गंभीर धाराओं में मामला दर्ज है।

  • Claim Review : B.j.p. विधायक अनिल उपाध्याय की इस हरकत पर क्या कहेगे मोदी जी
  • Claimed By : FB User-राजेन्द्र सैनी
  • Fact Check : झूठ
झूठ
    फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later