X

Fact Check: नरेंद्र मोदी नहीं बने हैं WHO के चेयरमैन, कार्यकारी बोर्ड के अध्यक्ष होंगे स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन

  • By Vishvas News
  • Updated: May 20, 2020

नई दिल्ली (विश्वास टीम)। सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक पोस्ट में दावा किया जा रहा है कि नरेंद्र मोदी विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के चेयरमैन चुने गए हैं और 22 मई से इस संस्था की बागडोर भारत के हाथों में होगी।

विश्वास न्यूज की पड़ताल में यह दावा गलत निकला। वास्तव में केंद्रीय मंत्री डॉ. हर्षवर्धन WHO के कार्यकारी बोर्ड के अगले अध्यक्ष होंगे, जो WHO की दो गवर्निंग बॉडी में से एक है।

क्या है वायरल पोस्ट में?

फेसबुक यूजर ‘Kamalkant Bagdare’ ने वायरल पोस्ट (आर्काइव लिंक) को शेयर करते हुए लिखा है, ”💐मोदीजी के नेतृत्व में विश्वगुरु भारत💐”

फेसबुक पर वायरल हो रही पोस्ट

पड़ताल किए जाने तक इस पोस्ट को दो सौ से अधिक लोग शेयर कर चुके हैं। सोशल मीडिया पर कई अन्य यूजर्स ने इस पोस्ट को शेयर किया है।

पड़ताल

जांच की शुरुआत हमने न्यूज सर्च के साथ शुरू की। न्यूज सर्च में हमें ऐसे कई आर्टिकल मिले, जिसमें कहा गया है कि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के कार्यकारी बोर्ड के अगले चेयरमैन होंगे। ‘दैनिक जागरण’ की रिपोर्ट के मुताबिक, हर्षवर्धन 22 मई को पदभार संभाल सकते हैं और वह जापान के डॉ. हिरोकी नकतानी की जगह लेंगे। हर्षवर्धन जापान के डॉ. हिरोकी नकाटानी की जगह लेंगे, जो वर्तमान में 34-सदस्यीय डब्ल्यूएचओ कार्यकारी बोर्ड के अध्यक्ष हैं।

दैनिक जागरण में प्रकाशित खबर

यानी डॉ. हर्षवर्धन WHO के कार्यकारी बोर्ड के चेयरमैन पर नियुक्त होने वाले हैं, जो इस संगठन को चलाने वाली दो सुप्रीम संस्थाओं (गवर्निंग बॉडी) में से एक है। WHO में गवर्नेंस का काम इन दो संस्थाओं के जरिए होता है-
1.वर्ल्ड हेल्थ असेंबली (WHA) और
2.कार्यकारी बोर्ड

संक्षेप में, वर्ल्ड हेल्थ असेंबली, WHO की सर्वोच्च नीति निर्माण इकाई है, जो कार्यकारी बोर्ड के एजेंडे को अनुमोदित करती है। यही संस्था नीतियों का निर्माण करती है, डायरेक्ट जनरल को नियुक्त करती है, वित्तीय नीतियों का निर्धारण करती है और कार्यक्रमों की समीक्षा करती है। हर साल वर्ल्ड हेल्थ असेंबली का आयोजन स्विट्जरलैंड के जेनेवा में किया जाता है।

Source-WHO

WHO की वेबसाइट पर दी गई जानकारी के मुताबिक, इस संगठन का प्रमुख डायरेक्टर जनरल होता है, जिसे हेल्थ असेंबली, कार्यकारी बोर्ड की अनुशंसा पर नियुक्त करती है।


Source-WHO

WHO के मौजूदा डायरेक्टर जनरल डॉ. टेडरॉस एडहेनम हैं, जिन्हें एक जुलाई 2017 को पांच सालों के कार्यकाल के लिए नियुक्त किया गया है।

अगले डायरेक्टर जनरल यानी WHO के प्रमुख का चयन 2022 की वर्ल्ड हेल्थ असेंबली में किया जाएगा।

कार्यकारी बोर्ड (एग्जीक्यूटिव बोर्ड)

कार्यकारी बोर्ड में कुल 34 तकनीकी रूप से विशेषज्ञ सदस्य होते हैं, जिनका चयन तीन सालों के लिए होता है। इस बोर्ड की सालाना बैठक जनवरी में होती है, जिसमें सदस्य वर्ल्ड हेल्थ असेंबली के एजेंडे और असेंबली में विचार किए जाने वाले प्रस्तावों पर अपनी सहमति देते हैं। दूसरी बैठक हेल्थ असेंबली की बैठक के बाद मई महीने में होती है और इसमें फैसलों को लागू किए जाने की रूपरेखा पर चर्चा होती है।

Source-WHO

वेबसाइट पर दी गई जानकारी के मुताबिक, कार्यकारी बोर्ड की बैठक 22 मई को प्रस्तावित है और न्यूज रिपोर्ट के मुताबिक, इसी बैठक में हर्षवर्धन का चयन अध्यक्ष के तौर पर किया जाएगा।

दैनिक जागरण में प्रकाशित रिपोर्ट

WHO की प्रवक्ता ने भी इसकी पुष्टि करते हुए बताया, ‘वास्तव में भारत के केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन WHO के कार्यकारी बोर्ड के चेयरमैन की जगह लेने जा रहे हैं, जो फिलहाल जापान के पास है।’

वायरल पोस्ट शेयर करने वाले यूजर्स ने अपनी प्रोफाइल में खुद को मध्य प्रदेश के खरगोन का रहने वाला बताया है।

निष्कर्ष: WHO का प्रमुख डायरेक्टर जनरल होता है और इस पद के लिए चुनाव 2022 में होना है और भारत के केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन WHO की दो गवर्निंग बॉडी में से एक एग्जीक्यूटिव बोर्ड का चेयरमैन नियुक्त होने वाले हैं।

  • Claim Review : नरेंद्र मोदी बने WHO के चेयरमैन
  • Claimed By : FB User-Kamalkant Bagdare
  • Fact Check : झूठ
झूठ
    फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

कोरोना वायरस से कैसे बचें ? PDF डाउनलोड करें और जानिए कोरोना वायरस से जुड़ी महत्वपूर्ण सूचना

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later