X

Fact Check: यह तस्वीर भारतीय एयरफोर्स विमान द्वारा बनाये गए त्रिशूल की नहीं है

  • By Vishvas News
  • Updated: February 10, 2020

नई दिल्ली (विश्वास टीम)।सोशल मीडिया पर आजकल एक तस्वीर वायरल हो रही है जिसमें 3 एयरक्राफ्टों के धुएं से बनता एक त्रिशूल देखा जा सकता है। तस्वीर में साफ़ तौर पर धुएं से एक त्रिशूल बना देखा जा सकता है। पोस्ट में दावा किया जा रहा है कि भारतीय एयरफोर्स के 3 सुखोई 30 विमानों ने 26 जनवरी 2020 को गणतंत्र दिवस पर हुई परेड के दौरान हवा में धुएं से ये त्रिशूल बनाया। विश्वास न्यूज़ ने अपनी पड़ताल में पाया कि यह तस्वीर भारतीय एयरफोर्स द्वारा बनाये हुए त्रिशूल की नहीं है। 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस पर आयोजित परेड में भारतीय एयरफोर्स के सुखोई 30 – एमकेआई विमानों ने हवा में धुएं से त्रिशूल बनाया था मगर वो वायरल तस्वीर जैसा नहीं था। उसमें लाइन सीधी थीं न कि वायरल तस्वीर की तरह मुड़ी हुई।

क्या हो रहा है वायरल?

वायरल पोस्ट में 3 एयरक्राफ्टों के धुएं से बनता एक त्रिशूल देखा जा सकता है। वायरल तस्वीर में लिखा है “The breathtaking #TRISHUL formation by 3 Sukhoi 30 MKI aircraft which is the symbol of women empowerment in the form of shakti.Trishul is used as a weapon by shakti to killed devil’s (Traitors). Salute to #IndianAirforce 🙏🇮🇳 #RepublicDay2020 #RepublicDay #womenempowerment।” जिसका हिंदी अनुवाद होता है “3 सुखोई 30 एमकेआई विमानों द्वारा लुभावना #TRISHUL गठन जो शाक्ति के रूप में महिला सशक्तीकरण का प्रतीक है। त्रिशूल को शक्ति द्वारा शैतान को मारने वाले हथियार के रूप में जाना जाता है। #IndianAirforce को सलाम nd #रिपब्लिकडे 2020 # रिपेब्लडडे #महिला सशक्तिकरण।”

इस पोस्ट के आर्काइव्ड वर्जन को यहाँ देखा जा सकता है।

पड़ताल

पोस्ट के अनुसार, भारतीय एयरफोर्स के 3 सुखोई 30 विमानों ने 2020 रिपब्लिक डे परेड में ये त्रिशूल बनाया था। सबसे पहले हमने इंटरनेट पर ढूंढा कि 2020 परेड में एयरफोर्स ने त्रिशूल बनाया भी था। हमें जागरण के सहियोगी मीडिया प्लेटफार्म नईदुनिया की एक खबर मिली जिसके अनुसार भारतीय एयरफोर्स के 3 सुखोई 30 MKI विमानों ने आसमान में धुएं से त्रिशूल बनाया था। अब हमें जानना था कि क्या वायरल तस्वीर उसी त्रिशूल की है?

गणतंत्र दिवस की परेड का सीधा प्रसारण दूरदर्शन करता है। इस पोस्ट में पड़ताल करने के लिए हमने दूरदर्शन के ऑफिशियल यूट्यूब चैनल पर परेड का पूरा वीडियो ढूंढा। हमें पता चला कि सुखोई 30 – एमकेआई विमानों ने हवा में धुएं से त्रिशूल बनाया था मगर वो वायरल तस्वीर जैसा नहीं था। उसमें लाइन सीधी थीं न कि वायरल तस्वीर की तरह मुड़ी हुई। परेड का पूरा वीडियो आप यहाँ देख सकते हैं। 2 घंटे के इस वीडियो में 1 घंटा 40 मिनट पर ये त्रिशूल देखा जा सकता है।

इस विषय में ज़्यादा पुष्टि के लिए हमने भारतीय एयरफोर्स के पीआरओ अनुपम बनर्जी से बात की। उन्होंने कन्फर्म किया कि वायरल तस्वीर भारतीय एयरफोर्स के विमानों द्वारा बनाये गए त्रिशूल की नहीं है।

इस पोस्ट को कई लोगों ने सोशल मीडिया पर अपलोड किया है, जिनमें से एक है फेसबुक पेज Hindusthan First। इस प्रोफाइल के कुल 2,840 फ़ॉलोअर्स हैं।

निष्कर्ष: विश्वास न्यूज़ ने अपनी पड़ताल में पाया कि यह तस्वीर भारतीय एयरफोर्स द्वारा बनाये हुए त्रिशूल की नहीं है। 26 जनवरी 2020 को गणतंत्र दिवस पर हुई परेड में सुखोई 30 – एमकेआई विमानों ने हवा में धुएं से त्रिशूल बनाया था मगर वो वायरल तस्वीर जैसा नहीं था। उसमें लाइन सीधी थीं न कि वायरल तस्वीर की तरह मुड़ी हुई।

  • Claim Review : TRISHUL formation by 3 Sukhoi 30 MKI aircraft at R Day 2020
  • Claimed By : Hindusthan First
  • Fact Check : झूठ
झूठ
    फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

  • वॅाट्सऐप नंबर 9205270923
  • टेलीग्राम नंबर 9205270923
  • ईमेल contact@vishvasnews.com
जानिए वायरल खबरों का सच क्विज खेलिए और सीखिए स्‍टोरी फैक्‍ट चेक करने के तरीके

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later