X

Fact Check : इस वीडियो में BJP विधायक नहीं, सोशल वर्कर है

  • By Vishvas News
  • Updated: January 23, 2020

नई दिल्‍ली (विश्‍वास न्‍यूज)। सोशल मीडिया की वर्चुअल दुनिया में एक वीडियो को वायरल करते हुए कुछ लोग दावा कर रहे हैं कि भाजपा के कथित विधायक अनिल उपाध्‍याय सरकार की आलोचना कर रहे हैं। वीडियो में दिख रहे शख्‍स को केंद्र सरकार और भाजपा की आलोचना करते हुए देखा जा सकता है।

विश्‍वास न्‍यूज ने जब वायरल पोस्‍ट की पड़ताल की तो हमें पता चला कि वीडियो में दिख रहा शख्‍स कोई भाजपा विधायक नहीं, बल्कि एक सोशल वर्कर है। इनका नाम भूपेंद्र रावत है। इससे पहले भी ‘विधायक अनिल उपाध्‍याय’ के नाम पर कई वीडियो वायरल हो चुके हैं। जिसकी पड़ताल विश्‍वास न्‍यूज ने समय-समय पर की है।

क्‍या है वायरल पोस्‍ट में

फेसबुक यूजर Shobi Abbas Naqvi ने 19 जनवरी 2020 को एक वीडियो को अपलोड करते हुए दावा किया : “B.j.p. विधायक अनिल उपाध्याय की इस हरकत पर क्या कहेगे मोदी जी, इन video को इतना वायरल करो की ये पूरा हिन्दुस्तान देख सके.”

इस वीडियो को अब तक 58 हजार से ज्‍यादा बार देखा जा चुका है। जबकि इसे शेयर करने वालों की तादाद छह हजार पार कर चुकी है।

(वायरल फेसबुक पोस्ट और उसका आर्काइव लिंक)

पड़ताल

विश्‍वास न्‍यूज ने अपनी पड़ताल की शुरूआत के लिए वायरल वीडियो में से कुछ ग्रैब क्रॉप करके Yandex में सर्च करना शुरू किया। सर्च के दौरान हमें संबंधित शख्‍स का वीडियो कई Youtube चैनल पर देखने को मिला।

कई वीडियोज को देखने के बाद यह कन्‍फर्म हो चुका था कि भाजपा के कथित विधायक के नाम पर वायरल हो रहे वीडियो में दिख रहे शख्‍स का नाम भूपेंद्र रावत है।

इसके बाद हमने फेसबुक पर भूपेंद्र रावत के अकाउंट को सर्च करना शुरू किया। हमें वहां रावत का फेसबुक अकाउंट मिला। इस अकाउंट की पड़ताल से यह बात तय हो गई कि वीडियो में दिख रहे शख्‍स भूपेंद्र रावत ही हैं।

भूपेंद्र रावत ने अपनी फोटो के अलावा कई वीडियो भी फेसबुक पर अपलोड किए हुए हैं। वे एक सामाजिक कार्यकर्ता हैं, जो अक्‍सर धरने-प्रदर्शन में नजर आते हैं।

पड़ताल के अगले चरण में हमें ओरिजनल वीडियो को सर्च करना था, जिसे अब फर्जी दावे के साथ वायरल किया जा रहा है। वायरल वीडियो को ध्‍यान से देखने पर हमें माइक पर Online India जैसा कुछ नजर आया।

इसके बाद हमने Youtube पर Online India सर्च करना शुरू किया। हमें online news india नाम का एक Youtube चैनल मिला।

इसमें हमें भूपेंद्र रावत के कई वीडियो मिले। जब हमने ओरिजनल वीडियो को सर्च किया तो हमें 9 दिसंबर 2019 का एक वीडियो मिला, जिसमें भूपेंद्र रावत का इंटरव्‍यू था। इस वीडियो में रावत वही कपड़े पहने हुए दिखे, जो वायरल पोस्‍ट के वीडियो में पहने हुए दिख रहे हैं। जब हमने इस वीडियो को देखना शुरू किया तो हमें 7:50वें मिनट के बाद से वही फुटेज मिला, जिसे अब कुछ लोग भाजपा के कथित विधायक के बयान के नाम पर वायरल कर रहे हैं।

इसके बाद हमने भूपेंद्र रावत से संपर्क किया। उन्‍होंने विश्‍वास न्‍यूज को बताया, “वायरल वीडियो मेरा है। इस वीडियो को कुछ लोग भाजपा विधायक के नाम से वायरल कर रहे हैं। वायरल पोस्‍ट के दावे में रत्‍तीभर भी सच्‍चाई नहीं है। यह इंटरव्‍यू ‘ऑनलाइन न्‍यूज इंडिया’ नाम के एक चैनल ने लिया था। मेरी राय को किसी दूसरे के नाम से वायरल करना गलत है।”

पड़ताल के दौरान हम Myneta.info वेबसाइट पर गए। इस वेबसाइट पर देशभर के विधायक और सांसदों का रिकॉर्ड मौजूद है। यहां हमने अनिल उपाध्याय नाम के विधायक और सांसद को खोजना शुरू किया तो हमें इस नाम का कोई विधायक नहीं मिला, जो फिलहाल भाजपा से जुड़ा हुआ हो।

पड़ताल के अंतिम चरण में हमने फेसबुक यूजर Shobi Abbas Naqvi की सोशल स्‍कैनिंग की। इसी यूजर ने भूपेंद्र रावत के वीडियो को भाजपा विधायक के नाम पर वायरल किया था। हमें पता चला कि यूजर यूपी के लखनऊ का रहने वाला है। इसके अकाउंट को छह सौ लोग फॉलो करते हैं। इसने यह अकाउंट अगस्‍त 2011 को बनाया था।

ये भी पढ़ें

निष्कर्ष: विश्‍वास न्‍यूज की पड़ताल में पता चला कि भाजपा के कथित विधायक अनिल उपाध्‍याय के नाम वायरल वीडियो वाली पोस्‍ट फर्जी है। वीडियो में दिख रहे शख्‍स एक सोशल वर्कर हैं। इनका नाम भूपेंद्र रावत है।

  • Claim Review : दावा किया गया कि वायरल वीडियो में दिख रहा शख्‍स भाजपा उपाध्‍याय अनिल उपाध्‍याय है।
  • Claimed By : फेसबक यूजर अब्‍बास नकवी
  • Fact Check : झूठ
झूठ
    फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later