X

Fact Check: देश में एक दिसंबर से लॉकडाउन लगाए जाने का दावा महज अफवाह, ABP न्यूज के नाम से वायरल हो रहा ट्वीट फर्जी

  • By Vishvas News
  • Updated: November 18, 2020

नई दिल्ली (विश्वास न्यूज)। दिल्ली के चुनिंदा इलाकों में सीमित स्तर पर प्रतिबंध लगाए जाने की न्यूज रिपोर्ट्स के बीच सोशल मीडिया पर न्यूज चैनल ABP का एक ट्वीट वायरल हो रहा है, जिसमें देश में एक बार फिर से लॉकडाउन लगाए जाने का दावा किया गया है।

विश्वास न्यूज की पड़ताल में यह दावा गलत निकला। न्यूज चैनल ABP के हवाले से देश में एक बार फिर से लॉकडाउन लगाए जाने के दावे के साथ वायरल हो रहा ट्वीट फर्जी है। न्यूज चैनल की तरफ से ऐसा कोई ट्वीट नहीं किया गया है और न ही देश में दुबारा से लॉकडाउन लगाए जाने की कोई घोषणा की गई है।

क्या है वायरल पोस्ट में?

कई यूजर्स ने विश्वास न्यूज के फैक्ट चेकिंग वॉट्सएप चैटबॉट (+91 95992 99372) पर इस वायरल ट्वीट को भेजकर इसकी सच्चाई बताए जाने का अनुरोध किया है।

विश्वास न्यूज के वाट्सएप चैटबॉट पर देश में फिर से लॉकडाउन लगाए जाने का दावा करते हुए वायरल मैसेज की सच्चाई बताए जाने का अनुरोध किया गया है

पड़ताल

वायरल हो रहे ट्वीट में दावा किया गया है कि देश में एक दिसंबर से फिर से लॉकडाउन लागू होने जा रहा है और इसकी वजह से कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या में होने वाली वृद्धि है। गौर से देखने पर वायरल हो रही ट्वीट में वर्तनी की कई गलतियां नजर आती हैं, जो इसकी विश्वसनीयता को लेकर संदेह पैदा करती हैं।

वायरल हो रहे ट्वीट में वर्तनी और लेखनी की कई गलतियां हैं

ABP न्यूज के वेरिफाइड ट्विटर हैंडल पर हमें देश भर में लॉकडाउन लगाए जाने संबंधी कोई ट्वीट नहीं मिला। ABP न्यूज के ट्विटर हैंडल पर हमें वह खबर जरूर मिली, जिसके मुताबिक दिल्ली में शादी समारोह में 200 की जगह 50 लोगों के शामिल होने के केजरीवाल प्रस्ताव को उप-राज्यपाल की मंजूरी मिल गई है।

वायरल हो रहे ट्वीट को लेकर हमने ABP न्यूज से संपर्क किया। एबीपी न्यूज के प्रवक्ता ने ईमेल के जरिए हमें बताया, ‘देश में फिर से लॉकडाउन लगाए जाने का दावा करता ट्वीट का स्क्रीनशॉट बनावटी और फर्जी है, जिसका इस्तेमाल सोशल मीडिया पर हमारे ब्रांड के नाम की मदद से फर्जी दावा फैलाने में किया जा रहा है। हमारे ट्विटर हैंडल से ऐसी कोई सूचना नहीं दी गई है।’

देश में एक बार फिर से लॉकडाउन लगाए जाने की सूचना अपने आप में बड़ी खबर होती, लेकिन न्यूज सर्च में ऐसी कोई खबर नहीं मिली। हालांकि, हमें ऐसी कई खबरें जरूर मिली, जिसमें दिल्ली में लॉकडाउन की बजाए हॉटस्पॉट इलाकों में स्थानीय स्तर पर पाबंदी लगाए जाने का जिक्र था। दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने स्पष्ट किया है कि दिल्ली में फिर से लॉकडाउन नहीं लगेगा। यहां इसकी कोई आवश्यकता नहीं है।

सर्च में हमें दिल्ली के उप-मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया का बयान भी मिला। इसमें उन्होंने कहा है, ‘दिल्ली सरकार का लॉकडाउन लगाने का कोई इरादा नहीं है। लॉकडाउन कोरोना से लड़ने का उपाय नहीं है। इससे लड़ने का एकमात्र उपाय मेडिकल मैनेजमेंट है। अभी दिल्ली में 26000 लोग होम आइसोलेशन में हैं। हमारे पास 16000 बेड हैं, जिनमें से 50% बेड खाली हैं।’

न्यूज रिपोर्ट के मुताबिक, ‘दिल्ली में कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते मामलों के बीच मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार को केन्द्र सरकार से उन बाजार क्षेत्रों में लॉकडाउन लगाने का अधिकार मांगा जो कि कोविड-19 के ‘हॉटस्पॉट’ बन सकते हैं। उन्होंने कहा कि दीपावली उत्सव के दौरान देखा गया कि अनेक लोगों ने मास्क नहीं पहन रखा था और वे उचित दूरी के नियम का पालन नहीं कर रहे थे, जिसकी वजह से कोरोना वायरस बहुत अधिक फैल गया। इससे पहले दिन में दिल्ली सरकार ने अपनी प्रेस विज्ञप्ति में ‘लोकल लॉकडाउन’ शब्द का इस्तेमाल किया था, लेकिन बाद में इसे संशोधित कर ‘बंद’ कर दिया गया।’

गौरतलब है कि अनलॉक-6 के तहत केंद्र सरकार ने राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को कहा था कि बिना उसकी मंजूरी के कंटेनमेंट जोन के बाहर लॉकडाउन नहीं लगाया जाएगा। ऐसे में देशव्यापी लॉकडाउन लगाए जाने का प्रस्ताव अपने आप में बड़ी खबर होती लेकिन हमें न्यूज सर्च में भी हमें ऐसी कोई खबर नहीं मिली, जिसमें एक बार फिर से देशव्यापी लॉकडाउन लगाए जाने का जिक्र हो।

निष्कर्ष: देश में एक बार फिर से लॉकडाउन लगाए जाने के दावे के साथ वायरल हो रहा ट्वीट फर्जी है। इस दावे के साथ न्यूज चैनल ABP के नाम से वायरल हो रहा ट्वीट एडिटिंग की मदद से तैयार किया गया है, जिसमें कोई सच्चाई नहीं है।

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later